“खराबी बाल regrowth प्रणाली +बालों के झड़ने खालित्य areata”

अजवायन अपच अम्लता आँवला कमर में दर्द गंजापन गैस की समस्या घरेलू उपचार डकारे आना तेजी से वज़न घटाने पेट के संक्रमण पेट को कम करने पेट में जलन पेट में समस्या प्राकृतिक और हर्बल सामग्री बालो का झड़ना भूख न लगना व्यर्थ चर्बी को नष्ट करने सीने में जलन स्वस्थ वज़न

दही का सेवन हमारे बालों तथा शरीर दोनों के लिए ही अच्छा माना जाता है। दही से बालों को पोषण मिलता है। जब भी आप बाल धोते है तो बाल धोने से करीब 30 मिंट पहले बालों में लगा ले। 30 मिनट पुरे होने के बाद बालों को साफ पानी से धो ले। ऐसा करने से बालों का गिरना धीरे-धीरे कम होने लगेगा।

ठीक है जब तक दलिया के एक कप और कुछ सूखे लैवेंडर फूल की प्रक्रिया. मिश्रण का एक मुट्ठी ले लो और एक मिश्रण के रूप में पानी की कुछ चम्मच जोड़ें. इसका उपयोग करने के लिए अपने चेहरे साफ़ और एक स्वच्छ और चिकनी त्वचा के नीचे.

बालों की जड़ो मे रोज तेल से मालिश करना चाहिए जो की रक्त संचार को बढ़ाता है और आपके बालो की जड़ो को मजबूत भी करता है। बालो की जड़ो मे गर्म तेल से और गोलाई मे मालिश करे। जोजोबा का तेल और नारियल का तेल बालो के लिए सबसे अच्छा तेल होता है। रूसी दूर करने के लिए मेहंदी का तेल लगाए | तेल लगाने के बाद और बालो को धोने से पहले बालों को गर्म पानी के तोलिये से 15 मिनिट तक ढक कर रखे, फिर बालो को धोए। ये आपके बालो को चमक देगा | रूसी से बचने के लिए हफ्ते मे 4 बार बालो को धोए और सिर मे सफाई बनाए रखे।

चूंकि डेंगू मच्छरों द्वारा संक्रमित होता है इसलिए सबसे अधिक जरूरी है कि मच्छरों को घर में बिल्कुल न होने दें। सर्वप्रथम यह प्रयास करें कि अपने घर के आसपास पानी न जमा होने दें। यदि आसपास कोई गड्ढा हो, तो उसे मिट्टी से भर दें जिससे उनमें पानी न रूके और मच्छरों को पनपने का अवसर न मिले। यदि यह सम्भव न हो, तो उसमें उसमें मिट्टी का तेल अथवा पेट्रोल डाल दें।

हमारे हेयर बहुत ही नाजुक होते है और थोड़ी सी भी लापरवाही करने पर या बालों की केयर न करने पर बाल बेजान या टूटने लग जाते है. इसलिए अपने बालों को किसी भी प्रकार की समस्या से बचाने के लिए बालों की देखभाल बहुत जरुरी है.

नेचुरल हेयर मास्‍क से बालों का झड़ना बंद हो जाता है और इसके परिणाम भी बेहतर होते है। हेयर मास्‍क को सप्‍ताह में कम से कम एक बार बालों पर लगाएं। आप घर पर कई सामग्रियों को मिलाकर अच्‍छा सा हेयर मास्‍क तैयार कर सकते है जैसे – मेंहदी, एलोवेरा जैल, दही, नीम की पत्तियों का पाउडर आदि को मिलाकर एक पेस्‍ट तैयार करके बालों पर लगाएं। इससे बालों को बहुत लाभ मिलता है। इस प्रकार के पेस्‍ट को लगाने से बालों को पर्याप्‍त मात्रा में पोषण मिलता है।

कई गंभीर बीमारियों जैसे कि मधुमेह संबंधी विकार, एक प्रकार का वृक्ष और थायराइड बालों के झड़ने के कारण कर सकते हैं. अंतर्निहित हालत के उपचार बालों के झड़ने को रोकने कर सकते हैं या बनाने के नए बाल, regrow करने के लिए.

Finasteride दोनों सौम्य प्रोस्टेट अतिवृद्धि और पुरुष पैटर्न गंजापन के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जा सकता। minoxidil के विपरीत, finasteride महिलाओं द्वारा इस्तेमाल नहीं किया जा सकता। जो लोग बालों के झड़ने के लिए एक इलाज के रूप में उपयोग करना चाहते हैं, finasteride कम से कम तीन महीने लगेंगे दिखाई परिणाम दिखाने के लिए कर सकते हैं। साथ ही, finasteride केवल जबकि यह उपयोग बंद करके किसी के गंजेपन राज्य के लिए एक वापसी का परिणाम देगा taken- किया जा रहा है काम करता है।

अंडे में विटामिन ई आप चिकनाई मिल इतना है कि बाल `t डॉन खुरदरापन और भंगुरता के कारण तोड़ने में मदद मिलेगी। इसके अलावा, विटामिन बी 7 जो बायोटिन के रूप में जाना जाता है भी मजबूत बाल जड़ों और बाल regrowth के लिए आवश्यक है। तो, अगर आप स्वस्थ और मजबूत बाल तो करना चाहते हैं अपने आहार में अंडे शामिल है। यह भी रूप में अच्छी तरह आपकी त्वचा में अच्छे परिणाम दिखाई देंगे।

—बालों पर कलर करने से भी बाल खराब हो जाते हैं और जल्दी टूटने भी लगते हैं। इसीलिए बालों को कलर करने से पहले ध्यान रखें कि डाई में अमोनिया की मात्रा कम से कम हो यानी आप प्राकृतिक कलर मेहदी आदि को ही बाल कलर करने के लिए चुनें। इससे आपके बाल प्रभाव ढंग से हेल्दी् और स्वस्थ रहेंगे।

अगर आपको कोई मेडिकल प्रॉब्लम यानि कोई बीमारी है तो आप बालों की लंबाई बढ़ाने के कितने भी प्रयास कर लें, बालों में ग्रोथ नहीं होगी। जिसे थाइरॉयड की शिकायत है, हार्मोनल असंतुलन हो, पुरानी कोई लाइलाज बीमारी हो या फिर कोई संक्रमण हो तो उसके बालों में ग्रोथ नहीं होता है। अगर आप गर्भ निरोधक या स्टेरॉइड की गोली ले रहे हैं तो आपको बाल के झड़ने और गिरने की शिकायत हो सकती है।

एक वक्त था जब सजना-संवरना केवल महिलाओं का ही काम माना जाता था लेकिन आज इस मामले में पुरुष भी कम नहीं हैं। इस बात का अंदाजा आज बाजार में बिकने वाले पुरुष प्रोडक्ट से लागया जा सकता है। एक तरफ जहां पुरुष अपने मसल्स को बढ़ाने के लिए जिम में कई घंटे बिता रहा है तो दूसरी तरफ अपनी को त्वचा को खूबसूरत बनाने के लिए नए-नए तकनीक भी अपना रहे हैं।

एफ़यूई का प्रयोग करके, सर्जन अब छाती, पीठ, भुजाओं एवं टांगों से प्राप्त शरीर के बालों का प्रयोग करने में भी सक्षम हो गए हैं। शरीर के बाल स्थायी होते हैं लेकिन लंबाई में छोटे बने रहते हैं। ऐसे बालों का प्रयोग करके, 10000 बालों तक का ट्रांसप्लांट किया जा चुका है। किन्तु यह केवल वैसे चिंतित मरीज़ के लिए है जो बहुत अधिक घनत्व चाहता है; औसत रोगियों के लिए 1000 से 2000 बालों का ट्रांसप्लांट प्रायः संतोषजनक होता है। यह वर्ष के दौरान कई सत्रों में भी किया जा सकता है।

एलोवेरा एक बहुत ही स्वास्थ्यवर्धक पौधा होता है और आयुर्वेद में इसका स्थान काफी ऊँचा माना जाता है. बालों के लिए भी यह एलोवेरा काफी फायदेमंद होता है. actualy एलोवेरा के पत्तो में जो जैल होता है वह बालों को काफी फायदा पहुंचाता है. इसके अलावा भी आप एलोवेरा के पाउडर का इस्तेमाल कर सकते है. इस पाउडर का पेस्ट बनाकर बालों में लगाने से बाल बहुत ही मजबूत हो जाते है.

प्‍याज आपके सफेद बालों को काला करने में मदद करता है। कुछ दिनों तक रोजाना नहाने से कुछ देर पहले अपने बालों में प्‍याज का पेस्‍ट लगायें। इससे आपके सफेद बाल तो काले होने शुरू हो ही जाएंगे, लेकिन साथ ही बालों का गिरना भी रुक जाएगा।

Hair Loss ka ilaj in hindi – यानी बालों का झड़ना / गिरना, इस समस्या से पुरे विश्व के लोग परेशान है। मर्द हो या औरत सभी चाहते है की उनके बाल मजबूत और घने हो। जब आपके बाल घने और खुबसूरत होते है, तो आपके व्यक्तित्व में चार चाँद लग जाती है। हर व्यक्ति की इच्छा होती है, की उसके बाल लम्बे और घने हो। आज के युग में बालों का झाड़ना / Hair loss का होना आम बात है। हर घर में बाल झड़ने की समस्या है। हर उम्र के लोग इस Hair Fall की समस्या से जूझ रहे है।

आमला, शिकाकाई, रीठा और दूसरों सीधे प्रकृति से उपलब्ध आयुर्वेदिक जड़ी बूटियां बाल विकास के लिए आयुर्वेदिक घरेलू उपचार में प्रयोग की जाती हैं। तो आप बेहतर परिणाम के लिए इन ताजा जड़ी बूटी जमा कर सकते हैं।  आमला, शिकाकाई, रीठा और अन्य बाल उत्पादों जो ठोस रूप में उपलब्ध हैं, उन्हे 3-4 बार के लिए उपयोग किया जा सकता है।  रात में इन बालों की देखभाल की जड़ी बूटियों को पानी में भिगों दे और सुबह इस जड़ी बूटियों के पानी का उपयोग करें। अगले उपयोग के लिए जड़ी बूटियों के ठोस भाग को निकाल ले और फिर पानी के मिश्रण को उपयोग करें।  और जड़ी बूटियों के ठोस भाग को दुबारा पानी में भिगों दे। जब इन जड़ी बूटियों का प्रभाव पूरी तरह से समाप्त हो जाये तो आप इन्हे निकालकर फेंक दे और नई जड़ी बूटियों को प्रयोग करे।

बालो का झड़ना रोकने के उपाय, बालों के झड़ने की स्थिति में मेथी काफी लाभदायक होती है। मेथी के बीज में काफी शक्तिशाली हॉर्मोन के गुण होते हैं जो बाल बढ़ाने में तथा बालों की जड़ों को स्वस्थ बनाने में काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इनमें निकोटिनिक एसिड और प्रोटीन के गुण होते हैं जो बालों को शक्ति देते हैं। मेथी के बीजों को रात भर पानी में भिगोकर रखें और सुबह उसका एक महीन पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को बालों में लगाएं और 30 मिनट तक छोड़ दें। अब बालों को धो लें और अच्छे परिणामों के लिए 1 महीने तक इस प्रक्रिया का प्रयोग करें।

यह ज्यादातर एक प्राकृतिक बालों का रंग या कंडीशनर के रूप में प्रयोग किया जाता है लेकिन मेंहदी अपने बाल जड़ से मजबूत कर सकते हैं गुण है। यदि आप यह अन्य अवयवों के साथ संयुक्त यह एक बेहतर हेयर पैक के लिए बनाता है।

—-कुछ लोग बालों में बार-बार कंधी करते हैं,ये सोचकर कि इससे बाल लंबे होंगे या फिर बाल सुलझें रहेंगे लेकिन आपको बता दें इससे भी कई बार बाल झड़ते है। आपको बालों को दिन में कम से कम 2-3 बार कंधी करें, इससे आपके बाल कम से कम उलझेंगे और बाल कम टूटेंगे। यानी बाल सुलझे भी रहेंगे और बालों के टूटने का डर भी खत्म।

अंडे के मास्‍क को आप वैक्‍स की तरह इस्‍तेमाल कर सकते हैं। इसे बनाने के लिए एक अंडे के सफेद भाग को फेंटकर अपने चेहरे पर लगाये और सूखने पर गुनगुने पानी से धो लें। इससे अनचाहे बाल निकलने के साथ झुर्रियों की समस्‍या से भी निजात मिल जाता है। image courtesy : gettyimages.in

यह साबित होता है कि, चारों ओर 10 एक व्यक्ति की खोपड़ी पर बालों की प्रतिशत एक आराम चरण में है. इस चरण, टेलोजन effluvium भी कहा जाता है, के आसपास की अवधि है 2 करने के लिए 3 महीनों, उसके बाद आराम बाल गिर जाता है और नए बालों में अपनी जगह बढ़ने लगती है. इस बढ़ते चरण के लिए रहता है 2 करने के लिए 6 साल. और उसके बाद फिर आराम चरण शुरू होता है. लगभग प्रत्येक बाल बढ़ता है 1 सेंटीमीटर प्रति माह इस चरण के दौरान. लोगों के बहुमत के आम तौर पर खो 50 करने के लिए 150 बाल दिवस. जब कुछ लोग अत्यधिक बालों के झड़ने का अनुभव समस्याओं शुरू, सामान्य trateda के रूप में हो सकता है कि नहीं.

बाल झड़ना कैसे रोके, सही समय पर बालों की मसाज करके आप बालों का झड़ना रोक सकते हैं। बालों की मसाज करने के लिए सही तेल चुनें। एक बार सही मसाज हो जाने पर सिर में रक्त संचार अच्छे से होता है और इससे बालों के तंतु (follicles) जागृत हो जाते हैं तथा नए बाल उगने में आसानी होती है। तेल की मालिश से बालों की जड़ें काफी मज़बूत हो जाती है। इस तरह आपके तनाव के स्तर में गिरावट आती है। आप सिर में मसाज करने के लिए विभिन्न तेल जैसे बादाम का तेल, नारियल का तेल, अरंडी (castor) का तेल, जैतून का तेल (olive oil), आंवला का तेल आदि चुन सकते हैं। मुख्य तेल में रोजमेरी तेल की कुछ बूँदें डालें। इससे आपके बालों की बढ़त की प्रक्रिया में तेज़ी आएगी। इसके लिए आप ऑर्गन तेल, एमु तेल तथा वीट जर्म के तेल का भी उपयोग कर सकते हैं। अपनी उँगलियों की सहायता से सिर में अच्छे से तेल लगाएं। हफ्ते में एक बार इस प्रक्रिया को दोहराएं।

एक बार जब डिजाइन पूरा हो जाता है तो दो और अहम चीजों पर गौर किया जाता है । पहला है Membrane । बाजार में फिलहाल कई तरह के Membrane available है । हालांकि इनमें से सबसे बेहतरीन है Monofilament, Paulurethen और लेस । अगर आप नॉन-सर्जिकल हेयर रिप्लेसमेंट थैरेपी का इस्तेमाल करने की सोच रहे हैं तो अपने Practitioner से इन्हीं में से एक मेंब्रेन का यूज करने को कहें । आमतौर पर प्रैक्टीशनर यूजर की जरूरत के हिसाब से ही Membrane के selection की सलाह देते हैं । Monofilament पोरस होता है तो यह ऐसे लोगों के लिए परफेक्ट है, जिनके स्कैल्प को हवा की जरूरत होती है । Paulurethen invisible और अलग होता है । लेस से लोगों को सबसे अधिक natural look मिलता है । इसका इस्तेमाल गंजेपन के शिकार लोगों की हेयरलाइन बनाने में भी किया जाता है । इस procedure में दूसरा सबसे अहम पहलू होता है मेंब्रेन को स्कैल्प से जोड़ना । ऐसा करने के लिए latest technique यह है कि एक Translucent गोंद से इसे स्कैल्प पर चिपका दिया जाता है । यह ऐसा चिपकाने वाला पदार्थ होता है जो न ही पसीने और न ही पानी से छूटता है | Membrane स्कैल्प पर सीधे चिपक जाए इसके लिए हो सकता हैं कि अपने बालों को शेव करना पड़े ।

आरोग्यम हेयर ट्रांसप्लांट क्लीनिक में, लागतों को न्यूनतम रखा जाता है। यह एफ़यूई के माध्यम की गई प्रक्रिया के बावजूद तथा हॉस्पिटल ओटी की पूर्ण सुरक्षा एवं स्टरिलिटी तथा इसके स्टाफ के साथ पूर्णतया मॉडर्न ओटी थिएटर का प्रयोग करके किया जा रहा है। यह उत्तर-पूर्व क्षेत्र में इस प्रक्रिया के पूर्ण लाभों की पेशकश करने की अनुमति देता है। उच्च स्तरीय गंजेपन वाले व्यक्तियों को प्रायः 1000 से 2000 बालों की आवश्यकता होती है जबकि कनपटी के क्षेत्र में हेयरलाइन की कमी वाले कमतर स्तर के गंजेपन वाले व्यक्तियों में प्रायः केवल 500 बालों से एक बहुत अच्छा प्रभाव देखने को मिल सकता है।

Minoxidil भी कम रक्तचाप के रूप में कुछ अप्रिय दुष्प्रभावों, प्रदान करता है, हृदय की दर, और तरल पदार्थ प्रतिधारण वृद्धि हुई. यदि आप निम्न रक्तचाप, हृदय रोग या आप Minoxidil इस्तेमाल नहीं करना चाहिए से ग्रस्त हैं.

असंतुलित खान पान और असंतुलित दिनचर्या आदि बाल गिरने के कारन है। अपने बालों का खास ख्याल रखे। घरेलु उपाय अपनाकर आप अपने बालों का गिरने / Hair Loss को रोक सकते है। बालों को सही पोषण दे ताकि आपके बालों का गिरना या Hair Fall बंद हो जाये। Hair Loss control tips in Hindi

जब थायराइड ग्रंथि hyperthyroidism या हाइपोथायरायडिज्म पीड़ित, बाल आसानी से गिर सकता है और यह एक दुर्लभ शर्त नहीं है. बालों के झड़ने के इस प्रकार से थायराइड रोग के उपचार आमतौर पर मदद की जा सकती. बालों की हानि होती है जब पुरुष या महिला हार्मोन, एण्ड्रोजन और एस्ट्रोजेन के रूप में जाना जाता, वे संतुलन से बाहर हैं. सही हार्मोन असंतुलन बालों के झड़ने रोकें कर सकते हैं.

अनिद्रा (Insomnia) – अगर आप भरपूर नींद नहीं लेते, तो इसका असर आपकी सेहत के साथ साथ आपके बालो पर भी पड़ता है| अगर आपको नींद नहीं आती या नींद से जुडी कोई बीमारी है, तो आपके बाल झड़ने लगते है| अनिद्रा की समस्या बढ़ने पर यह गंजेपन का कारण भी बन सकती है|

शोध आगे, वैज्ञानिकों को पता चला कि जो मनुष्य अपने बालों को खो दिया है अपने सिस्टम में DHT के उच्च स्तर पर था. वे भी अपने बाल follicles में DHT रिसेप्टर्स की संख्या में वृद्धि हुई थी. इन दो बातों के लिए अंततः “जीवन निचोड़ बाहर” बाल follicles के DHT अनुमति देते हैं.

• एक कटोरी में 250 एम.एल. सरसों का तेल लें और उसमें 60 ग्राम सूखा और साफ किया हुआ मेंहदी का पत्ते डालकर पत्तियों के पूरा जलने तक उबालें और फिर सूती कपड़े में इस मिश्रण को छान लें। ठंडा होने के बाद हवाबंद जार में इस तेल को डालकर रख दें। नियमित रूप से इस तेल को बालों में लगायें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *