“बालों के झड़ने और जड़ी बूटियों +बाल विकास चक्र पोस्टर”

होम्योपैथिक गोलियां जो शरीर में संयोजी ऊतकों के कामकाज में सुधार करती हैं और इस तरह बाल विकास की समस्याओं का समाधान करती हैं। हेयर फॉलिकल्स को मजबूत करने के लिए सिलिसिया, अच्छी तरह से ज्ञात बायोकेमिक नमक है

साधारणतः त्वचा विशेषज्ञ यह कहते हैं कि 50 से 100 बालों का झड़ना आम बात है। लेकिन जब यह संख्या बढ़ जाती है और आपके बाल पतले होने लगते हैं और गंजा हो जाने की नौबत आ जाती हैं तब उस अवस्था को एलोपीशीआ (alopecia) कहते हैं।

बाल प्रत्यारोपण सर्जरी: बाल प्रत्यारोपण शल्य चिकित्सा भी काफी प्रसिद्ध है, लेकिन केवल एक अंतिम उपाय के रूप में व्यवहार किया जाना चाहिए क्योंकि इसकी दरें हद से अधिक कर रहे हैं और कि यह थोड़ा जोखिम भरा हो सकते हैं।

वर्णकों के कारण बाल काला, भूरा, या लाल हो सकता है। यह वर्णक वल्कुट की कोशिकाओं में निक्षिप्त होता है। बाल क्यों सफेद हो जाता है, इसका सही कारण ज्ञात नहीं है। यह संभव है कि उम्र के बढ़ने, रुग्णता, चिंता, शोक, आघात, और कुछ विटामिनों की कमी से ऐसा होता हो। डाक्टरों का मत है बाल का सफेद होना वंशागत होता है।

के बाद से बालों के झड़ने का सबसे महत्वपूर्ण कारण है कुपोषण, इलाज के लिए बहुत मदद की हो सकता है एक उचित आहार. लोग हैं, जो बालों के झड़ने से पीड़ित हैं और अधिक खाद्य बीज के साथ खाना चाहिए, सूखे फल, अनाज, फल और सब्जियां, तब से वे सभी पोषक तत्वों की एक पर्याप्त राशि होते. यह भी डेयरी उत्पाद खाने के लिए महत्वपूर्ण है, शहद, वनस्पति तेल, जिगर और खमीर और उन्हें उपेक्षा नहीं करने के लिए, के बाद से वे भी उतना ही पौष्टिक भी होते हैं.

एक बार जब डिजाइन पूरा हो जाता है तो दो और अहम चीजों पर गौर किया जाता है । पहला है Membrane । बाजार में फिलहाल कई तरह के Membrane available है । हालांकि इनमें से सबसे बेहतरीन है Monofilament, Paulurethen और लेस । अगर आप नॉन-सर्जिकल हेयर रिप्लेसमेंट थैरेपी का इस्तेमाल करने की सोच रहे हैं तो अपने Practitioner से इन्हीं में से एक मेंब्रेन का यूज करने को कहें । आमतौर पर प्रैक्टीशनर यूजर की जरूरत के हिसाब से ही Membrane के selection की सलाह देते हैं । Monofilament पोरस होता है तो यह ऐसे लोगों के लिए परफेक्ट है, जिनके स्कैल्प को हवा की जरूरत होती है । Paulurethen invisible और अलग होता है । लेस से लोगों को सबसे अधिक natural look मिलता है । इसका इस्तेमाल गंजेपन के शिकार लोगों की हेयरलाइन बनाने में भी किया जाता है । इस procedure में दूसरा सबसे अहम पहलू होता है मेंब्रेन को स्कैल्प से जोड़ना । ऐसा करने के लिए latest technique यह है कि एक Translucent गोंद से इसे स्कैल्प पर चिपका दिया जाता है । यह ऐसा चिपकाने वाला पदार्थ होता है जो न ही पसीने और न ही पानी से छूटता है | Membrane स्कैल्प पर सीधे चिपक जाए इसके लिए हो सकता हैं कि अपने बालों को शेव करना पड़े ।

एलो वेरा का लंबे समय से बालों के झड़ने के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जाता है। यह खोपड़ी की शांत करता है और बालों को कंडीशन करता है। यह रूसी को कम कर सकता है और बालों के रोम को अनलॉक कर सकता है जो अतिरिक्त तेल से अवरुद्ध हो सकता है। आप अपनी खोपड़ी और बाल पर प्रति सप्ताह कई बार शुद्ध एलो वेरा जेल लगा सकते हैं। आप शैम्पू और कंडीशनर का उपयोग भी कर सकते हैं जिसमें एलो वेरा होता है।

अगर आपको अभी भी ऐसा लगता है कि Non-Surgical Hair Replacement का मतलब विग पहनना होता है तो एक बार फिर से सोचिए । आज की तकनीकें बेहद आरामदायक, प्राकृतिक परिणाम देती हैं जिससे आप जीवनभर संतुष्ट रहते हैं । Non Surgical Hair Replacement में Scalp पर एक पारदर्शी, पतली और हल्की membrane लगाई जाती है जिसमें इंसानी बाल होते हैं । Membrane को मौजूदा बालों के साथ सिल कर स्कैल्प से जोड़ दिया जाता है । इससे आपको बेहद Natural Look मिलता है । इस तकनीक के जरिए membrane में मौजूद बाल सिर के बालों से Color, Density और Direction में Perfectly match हो जाते हैं । दरअसल membrane को Scalp से Latest Bonding Material से जोड़ा जाता है । इसलिए आप इसे Confidence और आराम के साथ पहन सकते हैं ।

फिर गर्म मोम के क्षेत्र में फैला हुआ है जिसमें से बालों को हटाया जा रहा है. मोम को कड़ा करने के लिए अनुमति दी है, संक्षेप में, तो मोम पट्टी के एक किनारे खींच लिया है और एक ‘टैब’ के रूप में इस्तेमाल करने के लिए आमतौर पर बाल विकास की विपरीत दिशा में मोम के बाकी खींच. वाक्सर तो शरीर व्यवस्थित जननांग क्षेत्र, नितंबों और गुदा से बालों को हटाने के आसपास अपने या अपने तरीके से काम करता है.

कभी कभी लोगों को फ़ोन पर या वेबसाइट पर पूछताछ करने के बाद बहुत कम मूल्य दिया जाता है। यह याद रखा जाना चाहिए कि इस तरह का मूल्य हमेशा संदेहास्पद होता है। यह सुनिश्चित करना पूर्णतया मरीज़ पर निर्भर है कि वह किसी आने-जाने वाले क्लीनिक के चंगुल में तो नहीं आ रहा है। ऐसे क्लीनिक ग्राहक को अपनी पकड़ में लाने के लिए कुछ भी पेशकश करेंगें और इसका पता केवल तब चलता है जब वे अपना असली चेहरा दिखाते हैं।

ल्यूपस एक प्रकार की ऑटोइम्‍यून बीमारी है इस स्थिति में शरीर अपने और बाहरी तत्वों में अंतर नहीं कर पाता और अपने शरीर के तत्वों को ही नष्ट कर देता है। जिसके कारण भी बाल झड़ने की समस्या होती है। इस बीमारी में हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली स्वस्थ ऊतकों पर हमला करती है और सूजन की समस्या पैदा करती है। इस रोग में त्वचा और खोपड़ी पर सूजन हो जाती है जिसके परिणामस्वरूप बाल झड़ने लगते हैं। ल्यूपस के मरीजों के बाल शैम्पू और ब्रश करने पर अधिक झड़ने लगते हैं। इसके अलावा उनके बाल शुष्क और खुरदरे हो जाते हैं। इसके अलावा ल्यूपस के कारण ऑटोइम्म्यून थायराइड रोग भी हो सकता है जो बालों के झड़ने का एक और सामान्य कारण है। द नार्थ अमेरिकन जर्नल ऑफ़ मेडिकल साइंसेज में प्रकाशित 2009 के एक अध्ययन में बताया गया है कि सिस्टमिक ल्यूपस एरीदीमॅटोसस (lupus erythematosus) के कारण बाल झड़ने की समस्या होती है। (और पढ़ें – चमेली बालों में लगाने के साथ-साथ त्वचा के लिए भी है फायदेमंद)

छूटना नहीं केवल कि मृत कोशिकाओं, गंदगी और शरीर स्राव होता है त्वचा की ऊपरी परत को समाप्त, लेकिन यह भी एक नया है कि त्वचा नरम और कोमल है पता चलता है. त्वचा से अशुद्धियों को दूर करके, विभाजन संक्रमित अंतर्वर्धित बाल pimples, त्वचा में संक्रमण और इतने पर जैसे समस्याओं से छुटकारा प्राप्त करने में सहायता करता है.

वैसे तो किसी भी हार्मोन्स के परिवर्तन होने से व्यक्ति के Body और व्यवहार में काफी change आ जाता है. किन्तु कुछ harmons ऐसे होते है जो व्यक्ति के शरीर में बहुत तेजी से बदलाव करते है. अगर कभी शरीर के हार्मोन्स में एकदम से बहुत अधिक परिवर्तन आ जाये तो उसका असर हमारे बालों पर पड़ता है.

Minoxidil (Rogaine). इस दवा के उपचार खालित्य के दोनों प्रकार के लिए इस्तेमाल किया जा सकता. एक दिन में दो बार सिर की मालिश, और इस प्रकार बाल regrowth को बढ़ावा देने के लिए और आगे के नुकसान को रोकने के लिए तरल के रूप में प्रस्तुत किया गया है. इस दवा के केवल नकारात्मक पक्ष यह है कि आने वाले नए बाल, यह पतले और पिछले बालों से छोटा हो सकता है.

महिलाओं के मामले में यह पैटन अलग है। आमतौर पर महिलाओं के सिर के बिल्कुल मध्य भाग से बाल झड़ने शुरू होते हैं, खासतौर पर बालों की मांग के आसपास का भाग और धीरे-धीरे सिर के सभी हिस्से से बाल झड़ने शुरू हो जाते हैं।

It was not without surprise to discover Men’s Rogaine foam is the same formula as Women’s So again Foam – Although the formulas state “not for women” on the label and the woman’s formula are ten more. The only difference is the directions. In wich, women are instructed to apply once a day instead of twice.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *