“बालों के झड़ने की छुपाने वाली बालियां -बालों के झड़ने त्वचा विशेषज्ञ पश्चिम ताड़ समुद्र तट”

बाल झड़ने (Hair Loss) और असमय बालो के सफ़ेद होने की समस्या आजकल हर किसी के साथ है| पहल उम्रदाज लोगो के बाल झड़ते, टूटते और सफ़ेद होते थे, लेकिन आजकल छोटे छोटे बच्चो के बाल भी झड़ने लगते है| बालो को झड़ने से रोकने के लिए बाल झड़ने के कारण जानना बहुत जरुरी है|

अवरोधित धमनियां (Clogged arteries) पुरुषों के बालों के झड़ने का कारण बन सकती हैं। वास्तव में इसके कारण पुरुषों में पैर के बालों के झड़ने की भी समस्या होती है। द आर्काइव्ज ऑफ़ इंटरनल मेडिसिन में प्रकाशित 2000 के अध्ययन में पाया गया की पुरुषों में गंजेपन और कोरोनरी हृदय रोग दोनों एक दूसरे से जुड़े हुए हैं। अपने बहुमूल्य बालों की रक्षा करने के लिए अपने दिल की देखभाल करना भी महत्वपूर्ण है। अपने हृदय की समय समय पर जांच कराते रहिये। साथ ही धूम्रपान और मदिरा के सेवन से बचें। रोजाना व्यायाम करें और अपने दिल की हालत में सुधार करने के लिए अपने शरीर से वसा कम करें। (और पढ़ें – क्षतिग्रस्त बालों (Damaged Hair) के लिए आसान सा घरेलू उपचार)

यह बालों का झड़ना रोकने और बालों को घना बनाने में भी यह बेहद उपयोगी होता है। इसके इसी गुण के कारण हर हेयरकेयर उत्‍पाद में जरुर इस्‍तेमाल किया जाता है। इस तेल का प्रभाव आपको काफी जल्‍दी देखने को मिल सकता है।

बालों के झड़ने के उपचार में नवीनतम शोध बाल सेल क्लोनिंग का अध्ययन कर रहा है इस तकनीक में एक व्यक्ति के शेष बाल कोशिकाओं की छोटी मात्रा लेने, उन्हें गुणा करना, और गंजे क्षेत्रों में इंजेक्शन लगाने शामिल है।

आप तनाव से दूर रहें: एंड्रोजेनिक एलोपिशिया (androgenic alopecia) का तनाव से कोई सम्बंध नहीं है परंतु, तनाव के कारण बाल झड़ते हैं। अपने बालों को स्वस्थ्य रखने के लिए उन चीजों से बचे जिनकी वजह से आप की ज़िंदगी में तनाव सक्रिय होता है। तीन तरह के तनाव से बाल झड़ने की अवस्थाओं को मान्यता प्राप्त है।[२२]

पुरुषों और महिलाओं में गंजेपन के लक्षण अलग-अलग हो सकते हैं। आमतौर पर पुरुषों में गंजेपन की शुरुआत में बाल इस तरह से झड़ते हैं कि सिर पर बालों का हिस्सा ‘रू’ आकार में नजर आता है। धीरे-धीरे बालों का झड़ना अधिक हो जाता है और यह आकार बदलकर ‘’ हो जाता है।

हेयर ट्रांसप्लांट इक कॉस्मेटिक प्रक्रिया है। इसके कोई स्थाई दुष्प्रभाव (परमानेंट साइड इफेक्ट्स) नहीं है। हेयर ट्रांसप्लांट के बाद कुछ अस्थाई परेशानी जैसे खुजली, सूजन, सर पर लालिमा आ सकती है, पर आपको इसके लिए पहले से दवाई दी जाती है और ये कुछ दिन में ही ठीक हो जाती है। आपका डॉक्टर आपको हेयर ट्रांसप्लांट के बाद की देखभाल के बारे में सारी जानकारी दे देता है। 10-15 दिन के बाद आपके बाल सामान्य हो जाते है।

माइनोक्सिडिल नामक दवा का इस्तेमाल कम बाल वाले हिस्सों पर रोज करने से बाल गिरना रुक जाता है तथा नये बाल उगने लगते हैं। यह दवा रक्त वाहिनियों को सशक्त बनाती है जिससे प्रभावित हिस्सों में रक्तसंचार और हारमोन की आपूति बढ़ जाती है और बाल गिरना बंद हो जाता है। एक और फाइनस्टराइड नामक दवा की एक टेबलेट रोज लेने से बालों का गिरना रुक जाता है तथा कई मामलों में नये बाल भी उगने लगते हैं।

उत्पाद जैसे प्रसवोत्तर खालित्य, खालित्य seborrheica, गरीब पोषण चयापचय, पुरुष हार्मोन (बहा) असंतुलन और बिना बाल से उत्पन्न होने वाले बाल खोने के रूप में बाल नुकसान के सभी प्रकार के लिए उपयुक्त है। यह तेल नियंत्रण का प्रभाव पड़ता है; रोक आकार: 3 * 50 एमएल (Sunburst) + 1 * 25 मिलीलीटर (मुक्त Sunburst) 1 (मापने कप) 1 (कंघी)

दही भी बालों के झड़ने का अच्छा उपचार है। इससे बाल रेशमी और मुलायम बनते हैं। दही ना सिर्फ बालों का झड़ना रोकता है बल्कि चमकदार बाल भी प्रदान करता है। दही को सरसों के साथ या काली मिर्च के साथ मिलाकर पेस्ट बनाएं। आप बालों को नमी देने के लिए दही और शहद का पेस्ट भी बना सकते हैं। बालों में लगाएं और 30 मिनट बाद शैम्पू कर लें। यह बालों के मास्क की तरह प्रतीत होता है।

Dirígete a un buen peluquero, y decirle que realmente quieres minimizar la aparición de adelgazamiento del cabello. A medida que su calvicie progresa, es posible que ya no esté satisfecho, y en ese momento usted puede tener gusto de tratar de conseguir un pedazo de cabello o incluso una peluca. Las pelucas y postizos modernos pueden parecer muy natural, siempre y cuando ellos están equipados por un estilista en peluca adecuado.

महिला बाल झड़ने का भी संयुक्त राज्य अमेरिका के रूप में जाना स्त्री पैटर्न गंजापन, महिलाओं में से 4 के हर 1 या FPB प्रभाव. हाल के निष्कर्षों ने पाया है कि महिला बालों के झड़ने के लिए पुरुषों के लिए के रूप में महिलाओं के लिए के रूप में आम हो गया लगता है. ज्यादातर अक्सर, रजोनिवृत्ति स्पष्ट समय के लिए महिला बाल अक्सर होता है सबसे अधिक नुकसान हो गया है.

गंजेपन की समस्‍या लगातार बढ़ रही है। इसके लिए सबसे अधिक जिम्‍मेदार हमारी अनियमित जीवनशैली, खानपान में पौष्टिक तत्‍वों की कमी, प्रदूषण, आनुवांशिक, आदि हैं। बालों को दोबारा उगाने के लिए सर्जरी के अलावा घरेलू नुस्‍खे बहुत कारगर हैं। लेकिन अगर घरेलू नुस्‍खों और कुछ औषधियों को प्रयोग करके घर पर ही पेस्‍ट बनाकर गंजे हो चुके सिर पर लगायें तो दोबारा बाल उग सकते हैं। इसके लिए बराबर मात्रा में अरंडी और नारियल का तेल लें, इसे मिलाकर अपने सर में मसाज करें। मसाज के बाद गरम पानी में तौलिये को गीलाकर सर में बांध दें, इसे 3 से 5 मिनट तक बंधा रहने दें। तौलिया हटाने के बाद अपने सर को एक मिनट तक ऊपर नीचें करें, यानी झटका दें। इससे ब्लड सर्कुलेशन बढ़ेगा और गंजेपन वाली जगहों में बाल दोबारा उगने में मदद मिलेगी। कैस्‍टर ऑयल बालों को मजबूती प्रदान करता है। ये बालों के झड़ने की समस्या का बेहतर समाधान है। तीन दिनों में एक बार ये तरीका जरूर आजमाएं। इसे सही तरीके से बनाने के लिए इस वीडियो को देखें।

ब्रेट के अनुसार, ‘’इस उपचार की खासित है इस दवा का को साइड इफेक्ट नहीं है। इसी कारण हम इसे दूसरे मरीजों पर भी आजमाने का प्रयास करेंगे।’’ उन्होंने इस दवा की मदद से गंजेपन के उपचार के लिए क्रीम बनाने की भी सिफारिश की है।

यह महंगा है। Rogaine खरीदना महिलाओं को दो औंस के लिए बारे में $ 30 खर्च कर सकते हैं के लिए, लेकिन minoxidil 2% की लागत लगभग आधी कीमत का एक सामान्य रूप। यह भी कुछ अनिश्चित काल के लिए आप का उपयोग जारी रखने के लिए है क्योंकि परिणाम चले जाओ अगर आप दवा को रोकने के लिए किया है, यांग कहते हैं।

भारत में हेयर ट्रांसप्लांट की लागत ₹40 से ₹100 प्रति बाल के बीच है। जैसा कि अभी तक चर्चा की गई, लागतें इस बात पर भी भिन्न हो सकती हैं कि यह एफ़यूई है या नहीं, सेंटर के आकार क्या है। कोलकाता और नई दिल्ली में, एक मानक क्लीनिक में एफ़यूई ट्रांसप्लांट की लागत एफ़यूई के लिए ₹50 से ₹70 रूपये प्रति ग्राफ्ट के बीच होती है। कुछ लक्जरी क्लीनिकों में लागत ₹100 प्रति ग्राफ्ट तक पहुँच सकती है। महानगरों में चिकित्सा लागतें अधिक होती हैं, जो उत्तर पूर्व जैसे क्षेत्र में वहनीय नहीं है।

Refollium एक प्राकृतिक सूत्र है और इस प्रकार, इसकी एक पूरी तरह से प्राकृतिक कार्य प्रणाली है जो आपको संतोषजनक परिणाम प्रदान कर सकती है। यदि आप इस समाधान को अपने दैनिक दिनचर्या में जोड़ने के लिए जा रहे हैं तो हाँ, आपके लिए यह सबसे पहले अपने कार्य प्रणाली को समझना महत्वपूर्ण है। यह उत्पाद सभी प्राकृतिक अवयवों के साथ तैयार किया गया है और निर्माताओं ने अपने उपयोगकर्ताओं को सिर्फ 60 दिनों के भीतर मोटा बाल पाने का आश्वासन दिया है।

Nourkrin®’s market leader status is the result of several scientific studies published in independent clinical journals over 28 years. Nourkrin®’s safety and side-effect-free tolerability have been repeated in multiple clinical trials featured in leading international medical journals. Nourkrin® is completely drug free and based on natural ingredients.

थोड़े  से जैतून के तेल (olive oil) को गर्म करके उसमे एक चमच दालचीनी चूर्ण तथा एक चमच शहद मिलकर पेस्ट बना ले. इस लेप को बालो की जड़ो में लगाकर 15 मिनट बाद सर धो ले. यह प्रोयग करने से बालो का झड़ना कम होता है.

तिल- तिल के तेल से बालों की मालिश करना बेहतर माना जाता है। आदिवासी हर्बल जानकारों की मानी जाए तो तिल के तेल में थोड़ी-सी मात्रा गाय के घी और अमरबेल के चूर्ण में मिला ली जाए और सिर पर रात में सोने से पहले लगा लिया जाए तो बाल चमकदार, खूबसूरत होने के साथ घने हो जाते हैं और यही फार्मूला गंजेपन को रोकने में मदद भी करता है।

लोग बाल घने करने के उपाय में इसीलिए भी दिलचस्पी लेते हैं क्योंकि अब लम्बे बालों का चलन कम हो गया और मध्यम आकार के बालों का चलन शुरू हो गया। अब बालों का घना होना और भी ज़्यादा आवश्यक हो गया है। कुछ आसान नुस्खों से आप बालों का घनत्व बढ़ा सकते हैं।

धूम्रपान वाले पदार्थों में उपस्थित जीनोटॉक्सिकेंट्स (genotoxicants) बालों के रोम के डी एन ए को नष्ट कर देता है। आपके बाल इन्हीं बालों के रोमों से बने होते हैं। यही बालों के बढ़ने का कारण होते हैं। अगर ये एक बार नष्ट हो जाते हैं तो आपके बालों का बढ़ना धीमा हो जाता है या बंद हो जाता है। (और पढ़ें – धूम्रपान छोड़ने के सरल तरीके)

आजकल लोग सबसे ज्‍यादा बालों के झड़ने की समस्‍या से ग्रसित है। इससे निजात पाने के लिए लोग कई प्रकार के शैम्‍पू और ऑयल बदलते है लेकिन उन्‍हे आराम नहीं मिलता है। वैसे भी बालों की केयर करने वाले कैमिकल ट्रीटमेंट ज्‍यादा समय तक बालों को फायदा नहीं पहुंचाते है और इनके साइड इफेक्‍ट भी होते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *