“बालों के झड़ने की त्वचा विशेषज्ञ या चिकित्सक _गर्भावस्था के स्तनपान के बाद बालों के झड़ने”

बालों को झड़ने से बचाने के लिए बनी हुई चाय का प्रयोग करें। चाय लें और उसमें 1 नींबू निचोड़कर डालें। इसे अच्छे से मिलाएं तथा शैम्पू के बाद इस मिश्रण को अपने बालों में लगाएं। अब बालों को ताज़े पानी से धो लें। शैम्पू को चाय से धोने के बाद प्रयोग ना करें।

वहाँ कोई एकल कारक है कि खालित्यके लिए जिम्मेदार ठहराया जा सकता है। बालों के झड़ने के कुछ कारण बनता है में नीचे टूट सकता है। बाल गिरने का पहला रोके कारण अपने बाल शैली है। Cornrows, pigtails, और रासायनिक फेरबदल बालों का रंग बालों के झड़ने के लिए नेतृत्व कर सकते हैं। इन कारणों के कुछ है यह कैसे आप अपने बाल पहनने या क्या तुम यह करने के लिए ताकि इसे कमजोर करने के लिए क्या साथ क्या करना है के रूप में आप के खिलाफ रोक सकते हैं कर रहे हैं।

—-बालों को झड़ने से बचाने के लिए आपको अपने बालों को धूप से बचाना चाहिए। जब भी आप बाहर धूप में जाएं तो अपने साथ छाता लेकर जाएं या फिर अपने बालों को कपड़े से पूरी तरह ढक लें। बहुत गर्म पानी से बाल ना धोएं,वरना आपके बाल अधिक खराब हो जाएंगे और जल्दी टूटने लगेंगे।

Ajay Sharma (Ex.Sr. Sub Editor, Hindustan) I am a New Delhi-based journalist,creative writer and blogger in India. Journalism is my passion and I can never think of doing anything else in my life. I am the first generation journalist in my family and have practically devoted the best years of my life to this passion. I am born at Agra and brought up in Moradabad and Delhi-NCR. I live with my family in Ghaziabad which includes my parents. I am the eldest one who actually comes across as the youngest one due to my funny streak. Love reading fiction and autobiographies and write religiously everyday. Some of my writings can even be google searched. I only compete with myself, no one else.

थोड़े  से जैतून के तेल (olive oil) को गर्म करके उसमे एक चमच दालचीनी चूर्ण तथा एक चमच शहद मिलकर पेस्ट बना ले. इस लेप को बालो की जड़ो में लगाकर 15 मिनट बाद सर धो ले. यह प्रोयग करने से बालो का झड़ना कम होता है.

बालों का यूँ कम उम्र में झड़ना उन युवको के लिए बहुत ही गंभीर समस्या बन जाती है जिस कारण वे बहुत तनाव (tension) में आ जाते है और यह Problem आजकल युवाओ में बहुत तेजी से बढ़ रही है. अक्सर बाल धीरे – धीरे गिरते है फिर भी कई बार लोग इस समस्या से बाहर निकलने का प्रयास ही नहीं करते और फलस्वरूप उनके बाल धीरे – धीरे कम होते रहते है.

जपाकुसुम के फूल तथा पौधों में प्राकृतिक गुण होते हैं बालों का झड़ना रोकते हैं तथा बाल बढ़ाते भी हैं। जपाकुसुम के फूल दोमुंहे बालों तथा डैंड्रफ को भी ठीक करता है और बालों को घना करता है। नारियल के तेल में जपाकुसुम के फूल को गर्म करें और इसे निचोड़कर तेल को निकालें। जपाकुसुम की पत्तियों को प्रयोग करने के लिए पानी में इन पत्तियों को उबालें। अब पत्तियों को पानी से निकालें तथा इनका एक महीन पेस्ट बनाएं। इस पेस्ट को अपने सिर पर लगाएं तथा ३० मिनट तक छोड़ दें। अब बालों को ठन्डे पानी से धो लें। इससे बाल रेशमी होते हैं तथा डैंड्रफ से मुक्ति मिलती है। ,

शिकाकाई बालों को स्वस्थ रखने के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसमें विटामिन ए, सी, के और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं, जो बालों को पोषण देने के साथ उनका विकास भी करते हैं। आप चाहें तो अपने नारियल तेल में शिकाकाई भी मिक्‍स कर सकती हैं।आमला, रीठा और शिकाकाई से बनाएं शैंपू

इन अग्रिमों प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में यह देखते हुए, बालों के झड़ने से ग्रस्त अब मौखिक दवा के लिए शल्य चिकित्सा प्रक्रियाओं से लेकर उपचार के विभिन्न रूपों के साथ प्रदान की जाती हैं; जो सभी के गंजापन की समस्या को समाप्त करने के लिए प्रभावी माना जाता है.

सर की खाल पर किसी भी तरह का संक्रमण बालों के झड़ने का प्रमुख कारण है। लहसुन में एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं जो किसी भी तरह के कीटाणु, फफूंदी या खमीर से हुए संक्रमण से निजात दिलाता है। लहसुन परजीवी के असर को भी हटाता है।

टोपी: नियमित रूप से टोपी पहनना वास्तव में गंजेपन को ढँकने का सबसे साधारण तरीका है। यह प्रभावी है, किन्तु यह एक ऐसा स्टाइल नहीं है जिसे ज्यादा लोग अपनाना चाहेंगें। एक व्यक्ति के लिए हमेशा ऑफिस, मीटिंग, सामाजिक सभाओं, आदि में टोपी पहनना उसके कैरियर में बहुत मददगार नहीं होता है।

बालों को बढ़ाने के लिए शाना के बीज का प्रयोग करें। यह एक बेहतरीन आयुर्वेदिक नुस्खा है जो बालों का झड़ना रोकता है। शाना के बीज का पाउडर लें तथा इसे नारियल के तेल के साथ मिलाएं जिससे कि इनका पेस्ट बन जाए। इस पेस्ट को अपने सिर पर लगाकर अपने सिर की मालिश करें। 15 मिनट के बाद शैम्पू कर लें।

वास्तव में, वहाँ कई दवाओं और यहां तक कि मौखिक निरोधकों एण्ड्रोजन बालों के झड़ने पैदा करने के लिए जुड़ा हुआ ब्लॉकिंग के साथ जुड़े रहे हैं। स्टेरॉयड corticosteroids की तरह आम तौर पर एक अल्पावधि के पर्चे बालों के झड़ने के इलाज के लिए पेशकश कर रहे हैं। तथापि, प्राकृतिक बालों के झड़ने के इलाज के लिए गोलियां बाल नुकसान को कम करने के लिए सबसे प्रभावी तरीका माना जाता है और आगे के नुकसान को रोकने।

दोस्तों गंजेपन व बाल झड़ने के कारण और उपचार, Hair fall ke karan (reason) in hindi का ये लेख कैसा लगा हमें बताये और अगर आपके पास महिलाओं और पुरुषों में गंजापन व बालों के झड़ने का कारण क्या है, किस विटामिन की कमी से हेयर फॉल होता है से जुड़े सुझाव है तो हमारे साथ साँझा करे।

एक और बात कि महंगे उपचारों को अपनाने से पहले यदि आप घरेलू नुस्खों को आजमा लें तो यह ज्यादा फायदेमंद हो सकता है। क्योंकि देखा जाता है, कि कई बार बहुत से लोगों पर यह घरेलू नुस्खे बहुत अच्छे से काम करते हैं। साथ ही आप एक बार डॉक्टर से चेक अप करा कर बाल झड़ने के कारणों का भी पता कर लें।  

4. रोज़ाना कुछ मिनट के लिए अपनी खोपड़ी को गुनगुने तेल से मालिश करें। मालिश के लिए आप किसी भी तेल का प्रयोगकर सकते हैं जैसे नारियल, लैवेंडर, बादाम, सरसों या जोजोबा का तेल। अगर आपके बाल डैंड्रफ की वजह से झड़ रहे हैं तो जोजोबा का तेल इसका काफी अच्छा इलाज है। जोजोबा के तेल में मौजूद सीबम सिर को पोषण देता है। तेल से मालिश करें और १ घंटे बाद शैम्पू कर लें।

मेथी: मेथी में विटामिन और मिनरल प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं जो हेयर फॉलिकल्स को उत्तेजित करता है। इसमें पाए गए पोषक तत्व बालों के विकास के लिए अच्छा होता है साथ ही बालों को घना और मुलायम करने में भी मदद करता है। [ये भी पढ़ें: वेरिकोस वेंस के उपचार के लिए उपयोगी घरेलू उपाय]

➤ अगर बाल कही एक जगह से झड़ रहे है तो एक प्याज को दो टुकड़ो में काटकर उस कटे हुए प्याज को जिस जगह से बाल झड़ रहे है उस जगह पर 5 से 10 मिनट तक रगड़े। इस विधि को लगातार कुछ दिनों तक करे, नये नये बाल फिर से आने लगेंगे।

हाल में हुए एक शोध में यह पाया गया है कि पल्मेट्टो नामक एक दवा के सेवन से लोगों में बालो का बढ़ना ज़्यादा होता है। जिन लोगों ने ४०० मिलीग्राम पल्मेट्टो तथा १०० मिलीग्राम बीटा साइटोस्टेरॉल रोज़ाना लिया उनके बालों में वृद्धि हुई। प्राचीन काल से पल्मेट्टो का प्रयोग बाल उगाने के लिए किया जाता है।

लंबे और घने बालों के लिए डाईट में प्रोटीन, विटामिन्स और मिनरल्स जरुरी है। अपनी डाईट में वैसे फूड को शामिल करें जिसमें विटामिन ए, बी, सी, ई के साथ-साथ आयरन, जिंक, मैग्नेशियम और सेलेनियम जैसे तत्वों की अच्छी मात्रा मौजूद हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *