“बालों के झड़ने त्वचा विशेषज्ञ मरियम |बाल regrowth के लिए अच्छा हरी चाय”

जुओं का उपचार : जुएँ काफी छोटे कीड़े जैसे जीव होते हैं, जो आपके सिर की त्वचा पर पैदा होकर आपका खून पीते हैं। इनके सिर की त्वचा पर अतिरिक्त रूप से काटने पर घाव हो जाता है, जिससे एक व्यक्ति को काफी दर्द होता है। अतः अपने बालों और सिर को जुओं के प्रभाव से मुक्त रखना ही बेहतर विकल्प होता है। आप नीम के तेल का अपने बालों की जड़ों में प्रयोग करके जुओं को दूर रख सकते हैं। क्योंकि इस तेल की कोई एलर्जिक (allergic) प्रतिक्रिया नहीं होती, अतः आपकी सिर की त्वचा का प्रकार चाहे जो भी हो, आप इसे अपने सिर में लगा सकते हैं।

इंसान की खूबसूरती में चार चांद लगाने में बाल अहम किरदार निभाते हैं. लोग बालों को बचाने के लिए और उगाने के लिए तरह-तरह के नुस्खे भी अपनाते हैं. ऐसा नहीं है कि ये नुस्खे आज के ज़माने में ही अपनाए जा रहे हैं बल्कि पुराने वक़्त में भी लोग अपने बालों को बचाने के लिए तरह-तरह की तरक़ीबें आज़माते थे.

किसी भी प्रभाव को देखा जाने से पहले इसे आमतौर पर फाइनस्टेराइड का उपयोग करने में लगातार तीन से छह महीने लगते हैं। अगर उपचार रोक दिया जाता है तो बाल्डिंग प्रक्रिया आमतौर पर छह से 12 महीनों के भीतर शुरू होती है।

दूध न सिफ कंप्लीट फूड है बल्कि इससे बनी चीजें भी बालों के लिए काफी फायदेमंद है। ये विटामिन ए का अच्छा ोित हैं। इनके सेवन से स्काल्प में सीबम का निमाण बढ़ता है जिससे बाल उगने आसानी होती है और बाल झड़ते नहीं हैं।

हालांकि, यह सिद्ध नहीं हुआ है कि दीथ्रानोल क्रीम दीर्घ अवधि में काफी प्रभावी है। यह त्वचा की खुजली और स्केलिंग भी पैदा कर सकता है और खोपड़ी और बालों को दाग सकता है इन कारणों के लिए, डायथ्रानोल व्यापक रूप से उपयोग नहीं किया जाता है।

साथ ही ये भी कहा जाता है कि गंजा सिर ज़िंदगी भी बचाता है. बच्चों में प्रोस्टेट ग्लैंड पैदा करने के लिए डीहाइड्रोटेस्टोस्टेरॉन (DHT) जिम्मेदार होता है. जिससे बच्चों के घने बाल उगते हैं. लेकिन व्यस्क लोगों में यही DHT ट्यूमर भी पैदा करता है. जिससे प्रोस्टेट कैंसर होता है और हर साल करीब तीन लाख लोग इस बीमारी से मर जाते हैं.

उनके बारे में एक और अच्छी बात यह है कि, इन प्रत्यारोपण नहीं रह रहे हैं के बाद से, वे किसी विशेष देखभाल या विशेष उत्पादों के लिए बालों की देखभाल की आवश्यकता नहीं है. इन प्रत्यारोपण का नुकसान यह है कि आम तौर पर चार से छह बार एक साल बदला जा करने की आवश्यकता.

जंक फूड (Junk Food) – आजकल लोग ताजे फल और हरी सब्जियां छोड़कर Junk Food खाना अधिक पसंद करते है| जंक फूड (Junk Food) को अगर आप कभी कभी खाते है, तो इससे कोई नुकसान नहीं होता, लेकिन अधिकतर जंक फूड खाने या जंक फूड पर निर्भर होने से शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो जाती है| पोषक तत्व की कमी बाल झड़ने और गंजेपन का बड़ा कारण है| खाने पिने की गलत आदते और पोषक तत्वों से युक्त भोजन ना करने से भी बाल झड़ने लगते है|

बाल विकास लेजर: बाल विकास लेजर उपचार हैं बाल विकास गोलियों के रूप में, संभवतः के रूप में प्रभावी है जो क्यों वे बालों के झड़ने के लिए दूसरा सबसे लोकप्रिय समाधान कर रहे हैं। हालांकि, वे भी जो उन्हें आम आदमी पहुँच से बाहर डालता अत्यंत महंगा होना होगा।

नहाते वक्त या बाल धोते समय बालो पर कभी भी बहुत अधिक गरम पानी का उपयोग न करे. अधिक गरम पानी से बाल कमजोर और नाजुक बन जाते है. नहाते वक्त सिर्फ ठन्डे या हल्के गुनगुने पानी का प्रयोग करे. ऐसा करने से आपके बालों पर ज्यादा जोर नहीं पड़ेगा जिस कारण वे मजबूत बने रहेंगे और गिरेंगे नहीं.

भारत में नी रिप्लेसमेंट सर्जरी की प्रक्रिया काफी प्रचलित हो गई है, लेकिन आप कैसे जानेंगे कि आपको वाकई नी रिप्लेसमेंट सर्जरी की जरूरत है? क्योंकि नी रिप्लेसमेंट से कई जोखिम भी जुड़े होते हैं, जानें इसके बारे में कुछ जरूरी बातें।..

—-बालों के लिए प्रयोग होने वाले उत्पाद जैसे शैंपू, कंडीशनर इत्यादि प्रॉडक्ट्स अच्छी क्वालिटी के ही प्रयोग करने चाहिए। इससे बाल अच्छे होंगे और टूटने से बचेंगे। अच्हा हे की खुद के द्वारा बनया हुआ प्राकतिक प्रोडक्ट प्रयोग करे |

tips-health.com पर जो भी जानकारी दी गई है वो सिर्फ आपके ज्ञानवर्धन के लिए दिया गया है। किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने डॉक्टर या चिकित्सक से अवश्य संपर्क कर ले। आपके डॉक्टर या चिकित्सक आपको हमसे कहीं बेहतर सलाह और जानकारी दे सकते है।

बालों के झड़ने से रोकने और घने बाल पाने का सबसे आच्छा तरीका है संतुलित आहार लेना। ऐसे आहार का सेवन करना चाहिए जिसमे की विटामिन और पौष्टिक तत्व जैसे विटामिन ए, सी, तांबा(कॉपर), लोहा(आयरन), ज़िंक मौजूद हो।हमेशा हाइड्रेटेड रहना चाहिये जो की बालो को घना बनाए रखता है इसलिए शरीर मे पानी कमी नही होने देना चाहिये और भरपूर मात्रा मे पानी का सेवन करना चाहिये।

Baal jhadne ke gharelu nuskhe in hindi mein sabse ahem baat hai ki hair dye, bleaching, straightening iron aur curling jaise prayog na kare. Ager kerte rahenge to en nuskhon ka koi aser nahi hoga yeh balo ko kanjor bhi banate hai.

निर्देश: नारियल का एक टुकड़ा घिस और दूध बाहर निचोड़। एक छोटे से पानी के साथ मिक्स और फिर खोपड़ी जहाँ आपके बाल thinning किया जा रहा है के किसी भी क्षेत्र के लिए लागू होते हैं। रात भर पर इस समाधान छोड़ दें और फिर धीरे अगली सुबह गर्म पानी के साथ कुल्ला। अधिकतम लाभ के लिए इस प्रक्रिया एक सप्ताह में कई बार दोहराएँ।

सुरक्षित रखने के अलावा नींबू में एसिड भी होता है इसलिए जब भी आप इस मिश्रण को बालों में लगाएं तो आँखें बंद कर लें। इसके अलावा याद रखें की नींबू के जूस को जल्दी या लम्बी अवधि के लिए इस्तेमाल न करें। इससे आपके बाल रूखे हो सकते हैं।

रात में 2 कप गरम पानी में रीठा को भिगो कर रख दें। सुबह इसी पानी को रीठा सहित 15 मिनट के लिये उबाल लें और फिर ठंडा करने के लिये रख दें। पानी को छान लें और अपने बालों को गीला कर के आधा रीठा का जल लें और उससे अपने सिर को 5 मिनट के लिये मसाज करें। उसके बाद दुबारा फिर इससे अपने बालों को अच्‍छी तरह से धोएं।

Refollium एक प्राकृतिक सूत्र है और इस प्रकार, इसकी एक पूरी तरह से प्राकृतिक कार्य प्रणाली है जो आपको संतोषजनक परिणाम प्रदान कर सकती है। यदि आप इस समाधान को अपने दैनिक दिनचर्या में जोड़ने के लिए जा रहे हैं तो हाँ, आपके लिए यह सबसे पहले अपने कार्य प्रणाली को समझना महत्वपूर्ण है। यह उत्पाद सभी प्राकृतिक अवयवों के साथ तैयार किया गया है और निर्माताओं ने अपने उपयोगकर्ताओं को सिर्फ 60 दिनों के भीतर मोटा बाल पाने का आश्वासन दिया है।

मसाज करने से बालों की जड़ स्कैल्प तक रक्त संचार तेज होता है और इससे बालों के बढ़ने की गति में तेजी आती है। इसके अलावा हफ्ते में एक दिन गुनगुने तेल और हेयर मास्क से बालों की डीप कंडीशनिंग करने से भी काफी असर होता है। बालों में गुनगना तेल या कंडीशनर लगाएं। ऊंगलियों से पांच मिनट तक स्कैल्प की मसाज करें।

शल्य चिकित्सा के लिए अच्छा उम्मीदवार अपने बालों में एक नाटकीय सुधार देखने के लिए सक्षम हो जाएगा, और आत्म सम्मान की अपनी भावना, लेकिन सर्जरी के लिए एक उम्मीदवार होने के लिए, आप पुरुष बालों के झड़ने का शिकार हो सकता है (जब तक एक महिला पुरुष गंजापन या घाव के निशान है). पुरुष पैटर्न गंजापन या पतले होने सिर के शीर्ष पर बाल कम कर देता है. पक्षों और पीठ पर बाल के बाकी आमतौर पर अभी भी मोटी है और हो सकता है “काटा” गंजापन के क्षेत्र में आरोपित. एक औरत आमतौर पर सभी सिर पर thinning बाल हो जाता है. इसलिये, यह बालों के रूप में पतली है के साथ पतले होने पैच में भरने के लिए भी मुश्किल होगा और वैसे भी समय से पहले ही छोड़ सकते.

गंजेपन की समस्‍या लगातार बढ़ रही है। इसके लिए सबसे अधिक जिम्‍मेदार हमारी अनियमित जीवनशैली, खानपान में पौष्टिक तत्‍वों की कमी, प्रदूषण, आनुवांशिक, आदि हैं। बालों को दोबारा उगाने के लिए सर्जरी के अलावा घरेलू नुस्‍खे बहुत कारगर हैं। लेकिन अगर घरेलू नुस्‍खों और कुछ औषधियों को प्रयोग करके घर पर ही पेस्‍ट बनाकर गंजे हो चुके सिर पर लगायें तो दोबारा बाल उग सकते हैं। इसके लिए बराबर मात्रा में अरंडी और नारियल का तेल लें, इसे मिलाकर अपने सर में मसाज करें। मसाज के बाद गरम पानी में तौलिये को गीलाकर सर में बांध दें, इसे 3 से 5 मिनट तक बंधा रहने दें। तौलिया हटाने के बाद अपने सर को एक मिनट तक ऊपर नीचें करें, यानी झटका दें। इससे ब्लड सर्कुलेशन बढ़ेगा और गंजेपन वाली जगहों में बाल दोबारा उगने में मदद मिलेगी। कैस्‍टर ऑयल बालों को मजबूती प्रदान करता है। ये बालों के झड़ने की समस्या का बेहतर समाधान है। तीन दिनों में एक बार ये तरीका जरूर आजमाएं। इसे सही तरीके से बनाने के लिए इस वीडियो को देखें।

बार-बार बालों को धोने से बालों को नुकसान पहुंचता है। अधिकांश लोग अपने बालों को सुंदर व सेहतमंद दिखाने के लिए बार-बार और ज्यादा केमिकल वाले शैम्पू का उपयोगकरते हैं बल्कि बालों को धोने के लिए आंवला व अरीठा पाउडर का यूज सबसे अच्छा रहता है। इसके अलावा अगर बालों को धोने के लिए कम केमिकलस वाले शेम्पू का यूज करें। समय-समय पर अपने शैम्पू और कंडीशनर को बदलते रहना चाहिए। आपके बाल तैलीय हैं तो कंडीशनर का इस्तेमाल न करें।

ल्यूपस एक प्रकार की ऑटोइम्‍यून बीमारी है इस स्थिति में शरीर अपने और बाहरी तत्वों में अंतर नहीं कर पाता और अपने शरीर के तत्वों को ही नष्ट कर देता है। जिसके कारण भी बाल झड़ने की समस्या होती है। इस बीमारी में हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली स्वस्थ ऊतकों पर हमला करती है और सूजन की समस्या पैदा करती है। इस रोग में त्वचा और खोपड़ी पर सूजन हो जाती है जिसके परिणामस्वरूप बाल झड़ने लगते हैं। ल्यूपस के मरीजों के बाल शैम्पू और ब्रश करने पर अधिक झड़ने लगते हैं। इसके अलावा उनके बाल शुष्क और खुरदरे हो जाते हैं। इसके अलावा ल्यूपस के कारण ऑटोइम्म्यून थायराइड रोग भी हो सकता है जो बालों के झड़ने का एक और सामान्य कारण है। द नार्थ अमेरिकन जर्नल ऑफ़ मेडिकल साइंसेज में प्रकाशित 2009 के एक अध्ययन में बताया गया है कि सिस्टमिक ल्यूपस एरीदीमॅटोसस (lupus erythematosus) के कारण बाल झड़ने की समस्या होती है। (और पढ़ें – चमेली बालों में लगाने के साथ-साथ त्वचा के लिए भी है फायदेमंद)

बालों का सीधा संबंध पेट से होता है। यदि पाचन तंत्र और हाजमा ठीक नहीं है तो बालों की जड़ें कमजोर होंगी लगातार कब्ज रहने से hair follicles कमजोर हो जाते है बाल टूटने व झडऩे लगते हैं। इसलिए अपने खान-पान और हाजमे को हमेशा ठीक रखें। 

अधिकतर Non Surgical Hair Replacement डिजाइन और कसंल्टेशन से शुरू होते हैं । डिजाइन और कंसल्टेशन से यह सुनिश्चित किया जाता है कि प्रोडक्ट आपके मौजूदा बालों के कलर और स्टाइल के अनुसार ही तैयार किया जाए । डिजाइन से लेकर मनमाफिक प्रोडक्ट तैयार करने में कई महीनों का वक्त लगता है । आप बाजार से ऐसे प्रोडक्ट भी ले सकते हैं जो पहले से तैयार हैं और सस्ते भी । हालांकि इससे समय तो बच जाएगा लेकिन आप क्वालिटी के साथ समझौता करेंगे ।

यदि हर बार जब आप अपने बालों को ब्रश करते हैं, तो आप बालों के टूटने से चिल्ला पड़ते हैं, आयुर्वेद बालों को झड़ने से रोकने और उन्हें  स्वस्थ रखने में बहुत ही उपयोगी है। आयुर्वेदिक में इसका उपचार जड़ी बूटियों के द्वारा किया जाता है जो आपके बालों को प्राकृतिक तरीके से बढ़ावा देती है.

निर्देश: एक अंडे का सफेद के साथ एक चम्मच अतिरिक्त कुंवारी जैतून का तेल मिला लें। एक पेस्ट की तरह स्थिरता के लिए में मारो और साथ ही सम्पूर्ण खोपड़ी और कोट बालों के लिए लागू होते हैं। कुल्ला और 20 मिनट के बाद एक हल्के शैम्पू से धोएं।

बालो के असमय झड़ने / Hair Loss के कारण जो युवा परेशान है वह Hair Transplant भी करा सकते है। Hair Transplant एक सरल और गंजेपन से छुटकारा पाने का permanent इलाज है। Hair Transplant पर एक विशेष लेख कुछ दिनों में इस Health blog पर प्रकाशित होने वाला है। 

अब तो बाजार में ऐसे क्रीम भी आने लगे हैं जिसके जरिए बाल को आसानी से हटाया जा सकता है। क्रीम, शरीर से बाल हटाने का एक ऐसा तरीका है जिससे दर्द भी नहीं होता और आपको आराम भी मिलता है। एक्सपर्ट द्वारा जांचे हुए प्रोडक्ट को इस्तेमाल करके आप उस प्रोडक्ट को वांछित जगह पर लगाएं। बाल जड़ से गायब हो जाएंगे। हेयर रेमूविंग क्रीम बाल साफ करने का एक अच्छा और बेहतर विकल्प साबित हो रहा है। बाजार में गीली व सूखी दोनों ही तरह के क्रीम उपलब्ध है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *