“बालों के झड़ने नवीनतम समाचार 2014 |केमो के बाद बालों के विकास के लिए आवश्यक तेल”

अनुवांशिक / Hereditary :बालो का असमय झड़ने का मुख्य कारण है अनुवांशिकता। अकसर देखा गया है कि बालो का असमय झड़ना एक परिवार में चल रही रीती रिवाज के समान है। किसी परिवार में दादा – पिता  – बेटा सभी में समान हेयर लोस  होता है, जिसे मेल पटेर्नेद बल्दनेस(male patterned baldness) भी कहते है। किसी विशेष जीन  या क्रोमोजोम कि वजह से एक परिवार के सभी लोगो में यह समस्या समान होती है।

प्याज के रास से बालों को बहुत फायदा होता है। एक प्याज उसे बीच में से काट कर २ हिस्से कर ले। अब सर के जिस हिस्से पर बाल उड़ रहे हसि यह पर आधे प्याज को ३ मिनट के लिए रगड़े। लगातार कुछ दिन ये उपाय करने से बाल झड़ने बंद हो जायेंगे बाल भी उगने लगेंगे।

डेंगू वायरस जनित बीमारी है जो एडीज मच्छर के काटने से होती है। डेंगू के शुरुआती लक्षणों में रोगी को तेज ठंड लगती है; तेज बुखार, बदन दर्द, मांसपेशियों व जोड़ों में दर्द, बेचैनी, उल्टियां, जैसी समस्याएं भी हो सकती हैं।

कपूर का तेल बनाना बहुत आसान है। वैसे तो यह बाजार में कैंफर ऑयल के नाम से बिकता ही है, लेकिन आप घर पर ही इसे तैयार करना चाहते हैं तो नारियल तेल में कपूर के टुकड़े डालकर एक एयर टाइट डिब्बे में बंद कर दें। इससे कपूर का अरोमा नहीं खत्म होगा और आप जब चाहें इसे लगा सकते हैं।

बालों के झड़ने का सीधा सम्बन्ध अनुवांशिकता से होता है. यह बालों के गिरने का एक प्रमुख कारण है. आनुवांशिकता के कारण यह समस्या एक पीढ़ी से दूसरे पीढ़ी में Transfar होती रहती है. यह समस्या किसी Family के सभी लोगो में समान होती है क्योंकि एक विशिष्ट जीन (gene) के कारण ऐसा होता है. जो बालों के गिरने का कारण बनता है.

हेयर ट्रांसप्लांट इक कॉस्मेटिक प्रक्रिया है। इसके कोई स्थाई दुष्प्रभाव (परमानेंट साइड इफेक्ट्स) नहीं है। हेयर ट्रांसप्लांट के बाद कुछ अस्थाई परेशानी जैसे खुजली, सूजन, सर पर लालिमा आ सकती है, पर आपको इसके लिए पहले से दवाई दी जाती है और ये कुछ दिन मे ही ठीक हो जाती है। आपका डॉक्टर आपको हेयर ट्रांसप्लांट के बाद की देखभाल के बारे मे सारी जानकारी दे देता है। 10-15 दिन के बाद आपके बाल सामान्य हो जाते है।

थाइरोइड – थाइरोइड ग्रंथि शरीर में टी3 और टी4 जैसे हॉर्मोन पैदा करते हैं जो शरीर में हॉर्मोन के स्तर का नियंत्रण करते हैं। थाइरोइड के ग्रंथि कम काम करना या ज्यादा काम करना टी3 और टी4 के स्तर को अनियंत्रित करता है।

१६. सेब का सिरका (Apple cider vinegar):  सेब का सिरका बालों को स्वस्थ बनाने तथा उन्हें बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। सेब के सिरके को पानी में मिलाएं तथा शैम्पू के बाद बालों को अच्छे से धो लें। कुछ सिरकों की बू थोड़ी अजीब होती है पर सेब का सिरका उन सिरकों में शामिल नहीं होता। अगर आपको इसकी गंध पसंद नहीं है तो इसमें कोई आम तेल मिलाकर इसे प्रयोग करें। अच्छे परिणामों के लिए इसे शैम्पू के साथ प्रयोग करें।

वहाँ महिलाओं को अपने बालों को खोने के लिए, लेकिन सबसे आम thinning वंशानुगत या खालित्य है के लिए कई कारण हैं – यह महिला बाल नुकसान के 95% के लिए खातों. चलो महिला बालों के झड़ने के कारणों पर एक करीब देखो लेने के लिए

यह एक प्राकृतिक तेल है जो बालों के झड़ने के इलाज और बालों का घनत्व बढ़ाने में बहुत प्रभावी है । यह विटामिन ई और आवश्यक अमीनो एसिड से समृद्ध होता है जो खोपड़ी को स्वस्थ रखने में मदद करता है । शुद्ध रूप में, अरंडी का तेल बहुत ही चिपचिपा होता है इसलिए यह जैतून का तेल, नारियल तेल या बादाम के तेल जैसे अन्य तेलों के साथ मिलाकर पतला किया जाता है। बालों और खोपड़ी पर इस तेल से मालिश करें और १ घण्टे के लिए छोड़ दें । इसके बाद हलके शैम्पू से इसे धो लें ।

आप सबसे अच्छा सौंदर्य सैलून स्पा multifunctional लेजर त्वचा देखभाल shr ipl बाल हटाने मशीनों के लिए किसी भी वरीयता है, हमारे आपूर्तिकर्ताओं के साथ चीन में निर्मित थोक मूल्य कम कीमत उपकरण के लिए स्वागत है। चीन में अग्रणी निर्माताओं और आपूर्तिकर्ताओं में से एक के रूप में जाना जाता है, हम आपको निराश नहीं करेंगे।

गंजेपन को एंड्रोजेनिक अलोपेसिया नाम देकर ऐसा प्रचार किया जाने लगा है, जैसे कि आपको कोई बहुत बड़ी बीमारी हो गई है. बालों को फिर से उगाने के लिए जो दवाएं इस्तेमाल की जाती हैं, उनके बहुत से नुक़सान भी होते हैं.

इस साइट पर सभी जानकारी और लेख केवल जानकारी और शैक्षिक उद्देश्यों के लिए है। यहाँ पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेशग्य की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए। चिकित्सा निदान और उपचार के लिए हमेशा एक योग्य चिकित्सक की सलाह लेनी चाहिए।

आरोग्यम हेयर ट्रांसप्लांट क्लीनिक में, लागतों को न्यूनतम रखा जाता है। यह एफ़यूई के माध्यम की गई प्रक्रिया के बावजूद तथा हॉस्पिटल ओटी की पूर्ण सुरक्षा एवं स्टरिलिटी तथा इसके स्टाफ के साथ पूर्णतया मॉडर्न ओटी थिएटर का प्रयोग करके किया जा रहा है। यह उत्तर-पूर्व क्षेत्र में इस प्रक्रिया के पूर्ण लाभों की पेशकश करने की अनुमति देता है। उच्च स्तरीय गंजेपन वाले व्यक्तियों को प्रायः 1000 से 2000 बालों की आवश्यकता होती है जबकि कनपटी के क्षेत्र में हेयरलाइन की कमी वाले कमतर स्तर के गंजेपन वाले व्यक्तियों में प्रायः केवल 500 बालों से एक बहुत अच्छा प्रभाव देखने को मिल सकता है।

बालों के गिरने की एक अहम् वजह तनाव भी है। तनाव से कई और बीमारियाँ भी पैदा होती हैं, इसीलिए इन बीमारियों से बचने के लिए, और बालों को गिरने से बचाने के लिए तनाव से दूर रहिये। हालांकि ऐसा कहना बहुत आसान होता है, लेकिन अगर आप पूरी तरह स तनाव से छुटकारा नहीं पा सकते तो इसे कम तो कर सकते हैं। और तनाव कम करने के लिए आपको अपनी सोच को बदलना होगा, और योग, मेडीटेशन, वगैरह जैसे उपायों से इसे कम कर सकते हैं।

रीठा भी ऐसी जड़ीबूटी है जिसका प्रयोग आपके बालों पर किया जाता है। यह आपके बालों को साफ़ सुथरा रखने का काफी बेहतरीन उपाय है। यह आपके बालों को जड़ से मज़बूत बनाता है। एक समय था जब बाज़ार में महंगे शैम्पू उपलब्ध नहीं थे। तब लोग प्राकृतिक जड़ीबूटियों का प्रयोग किया करते थे। रीठा उन प्राकृतिक साबुनों में से एक है जो आपके बालों को साफ़ करने के साथ साथ उनमें घनत्व भी पैदा करता है। बालों के अच्छे स्वास्थ्य के लिए इस जड़ीबूटी का प्रयोग अवश्य करें।

फ्रिज़ी बालों का उपचार : बालों में निरंतर हानिकारक रसायनों और सौन्दर्य उत्पादों का प्रयोग करने पर आपके सिर पर फ्रिज़ी और रूखे बाल पैदा हो जाते हैं। आप अब इस स्थिति का नीम के तेल से आसानी से उपचार कर सकते हैं। आप इस तेल को या तो सीधे अपने सिर पर लगा सकते हैं, या फिर इसकी कुछ बूंदों का मिश्रण अपने शैम्पू (shampoo) में भी कर सकते हैं। अगर आप नीम के तेल को शैम्पू के साथ मिश्रित कर रहे हैं तो ऐसा निरंतर अपने रोजाना प्रयोग में लाये जा रहे शैम्पू की मात्रा को निकालकर करें। इस तरह इस शैम्पू से बालों को धोने पर आप पाएँगे कि एक बालों के सूख जाने पर वे किस तरह चमकदार बन जाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *