“बाल विकास ऑनलाइन के लिए jojoba तेल +फाइनस्टेराइड बाल रेगथथ परिणाम”

बालों का बाहरी उपचार तथा मालिश करना बेहद आवश्यक है, परन्तु इन सबके साथ आतंरिक पोषण भी उतना ही ज़रूरी है। ध्यान रखें कि आपके खानपान में प्रचुर मात्रा में विटामिन और मिनरल्स की मात्रा होनी चाहिए जिनकी मदद से बाल बढ़ते हैं। विटामिन की मदद से हमारे बालों को जल्दी बढ़ने में मदद मिलती है।

यह काउंटर पर उपलब्ध है, तो आप इसे प्राप्त करने के लिए एक डॉक्टर से एक डॉक्टर के पर्चे की जरूरत नहीं है।हालांकि, यांग इलाज शुरू करने से पहले एक प्राथमिक देखभाल चिकित्सक या एक त्वचा विशेषज्ञ को देखने के लिए हर किसी को प्रोत्साहित करती है, क्योंकि वहाँ एक चिकित्सा समस्या यह है कि इस तरह के थायराइड रोग या पोषक तत्वों की असामान्यताओं के रूप में बालों के झड़ने का कारण बनता है, हो सकता है।

कमजोर बालों के लिए स्विस होम्योपैथी फार्मूला, इस दवा में लाइकोपोडायियम क्लावैटम 3x (खोपड़ी की एक्जिमा), जाबोरांडी 2x (बालों के झड़ने), वाइसबाडेन 3x (कमजोर बालों की जड़ें), एसिडम फास्फोरिकम 6x (बालोंका पतलापन)

हाल में हुए एक शोध में यह पाया गया है कि पल्मेट्टो नामक एक दवा के सेवन से लोगों में बालो का बढ़ना ज़्यादा होता है। जिन लोगों ने 400 मिलीग्राम पल्मेट्टो तथा 100 मिलीग्राम बीटा साइटोस्टेरॉल रोज़ाना लिया उनके बालों में वृद्धि हुई। प्राचीन काल से पल्मेट्टो का प्रयोग बाल उगाने के लिए किया जाता है।

ट्रांसप्लांटेशन के ऐसे स्प्रेड आउट सत्रों का एक लाभ यह भी होता है कि बालों की वृद्धि बहुत नाटकीय एवं नोटिसेबल नहीं होती है। लगातार लाइमलाइट में रहने वाले सेलेब्रिटीज एवं अन्य व्यक्ति प्रायः ऐसे वितरित सत्रों में जाने को वरीयता देते हैं, ताकि अपीयरेंस में कोई ऐसा अचानक बदलाव न हो, जो टिप्पणी का कारण बन सकता है।

1. Hair Loss Causes and Remedies in Hindi “अनुवांशिकता” के कारण भी बाल झड़ते है। कहने का मतलब है की अगर परिवार के लोग या आपके पूर्वजों में बाल झड़ने की समस्या हो तो आपको भी हो सकती है। इसे ही “Male Patterned Baldness” कहते है।

आपको जानकर हैरानी होगी कि रोम के राजा जूलियस सीज़र ने भी अपने गंजेपन को दूर करने के लिए ना जाने कितने जतन किए थे. कहते हैं कि जब जूलियस सीज़र मिस्र की राजकुमारी क्लियोपेट्रा से मिले तो वो पूरी तरह गंजे थे. तब क्लियोपेट्रा ने सीज़र को गंजापन दूर करने का एक घरेलू नुस्खा बताया था.

अगली सुबह उठें और इन बीजों को पानी में उबाल लें। आपको दिखेगा कि यह उत्पाद एक जेली (jelly) की शक्ल लेने लगा है। इसके बाद इसे आंच से उतार लें और ठंडा होने दें। इस जेल को अपने बालों पर लगाकर सुन्दर बाल प्राप्त करें।

मेथी में निकोटिन एसिड और प्रोटीन होता है जो बालों को पोषण देने के साथ साथ बाल लम्बे और सूंदर करती है। मेथी को रात को पानी में भिगो कर रखे और सुबह दही में मिला कर पेस्ट बना ले। अब इस लेप को सिर पर बालों की जड़ो में लगाए और एक घंटे के बाद सिर धो ले। इस नुस्खे के इस्तॆमाल से बालों जड़े मजबूत होंगी, सिर की त्वचा में नमी आएगी और सिर से डैंडरफ दूर होगी।

अनुभव बालों के झड़ने पुरुषों अमेरिका से अधिक 50% के सभी. तीन पुरुषों बाहर लगभग एक साल से 30 साल के बाल नुकसान है, अधिक से अधिक और बालों के झड़ने द्वारा 50 अनुभव 50% आम है. हेयर इतना नुकसान है कि रोग की एक सबसे नहीं और समय यह भिन्नता है सामान्य माना एक. अन्य जानवरों के निकट चिंपांज़ी के रूप में मनुष्य के लिए संबंधित, यह भी अपने बालों को खो देते हैं.

एक अन्य तरीके से भी समझाया जा सकता है बालों का सफेद होना जीन पर निर्भर है। कई बार जीन का प्रभाव पूरा नहीं होता। इस कारण बाल या तो कम सफेद या सफेद होते ही नहीं। किंतु जब जीन का प्रभाव होता है तो बाल सफेद हो जाते है। दूसरा मुख्य कारण थाइराइड ग्लैड है। युवाओं के शरीर में इस ग्रंथी (ग्लैड) की स्राव कमी या अधिकता बालों को सफेद बना देती है। दवाएं भी बालों की सफेदी के कारणों में से एक है। एक रिपोर्ट के मुताबिक एंटी मलेरिया दवा के प्रयोग से बाल समय से पहले सफेद हो जाते है। खाने में प्रोटीन या आयरन की कमी व विटामिन बी-12 की कमी से भी बाल सफेद हो जाते है। यंग ऐज में जैनेटिक एग्जिमा के कारण तथा आजकल एचआईवी व एड्स पीड़ितों में भी यह समस्या देखी जा रही है। परनीसियस अनीमिया से ब्लड बनाने वाले सेल बिगाड़ने के कारण भी कम उम्र में बाल सफेद हो जाते है।

यह किसी भी tangles रिलीज करने के लिए बालों के माध्यम से कंघी, लेकिन मुख्य रूप से सिर के लिए बेहतर बाल विकासको उत्तेजित करता है। आप अभी भी सही ढंग से खाने के लिए और स्वस्थ बाल विकास, रूप में अच्छी तरह के लिए एक शैम्पू अपने बाल और खोपड़ी के ख्याल विटामिन का उपयोग करने के लिए है।

यह एक प्राकृतिक उत्पाद है जो बालों के विकास को प्रोत्साहित करता है । इसमें मौजूद एंटी ऑक्सीडेंट खोपड़ी के स्वास्थ्य को सुधरने में मदद करता है। यह रुसी, फंगस और बैक्टीरिया से लड़ता है और खोपड़ी को स्वस्थ्य रखने में मदद करता है।

बालों की जड़ो मे रोज तेल से मालिश करना चाहिए जो की रक्त संचार को बढ़ाता है और आपके बालो की जड़ो को मजबूत भी करता है। बालो की जड़ो मे गर्म तेल से और गोलाई मे मालिश करे। जोजोबा का तेल और नारियल का तेल बालो के लिए सबसे अच्छा तेल होता है। रूसी दूर करने के लिए मेहंदी का तेल लगाए | तेल लगाने के बाद और बालो को धोने से पहले बालों को गर्म पानी के तोलिये से 15 मिनिट तक ढक कर रखे, फिर बालो को धोए। ये आपके बालो को चमक देगा | रूसी से बचने के लिए हफ्ते मे 4 बार बालो को धोए और सिर मे सफाई बनाए रखे।

वर्तमान समय में यह समस्या युवाओं में बहुत तेजी से बढ़ रही है। बाल झ़डना लगभग एक आम समस्या बन गयी है फिर भी लोग इसे रोकने के लिए कोई प्रयास नहीं करते है। आज इन्टरनेट पर भी रोजाना लाखों लोग Hair loss causes, treatment, Ayurveda and Home remedies in Hindi यह सर्च करते हैं और यह बात यही दर्शाती है की युवा आयु में ही Hair fall होना एक गंभीर समस्या बनती जा रही हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *