“बाल विकास जापानी |जीएनसी में बाल विकास की गोलियां”

११. नींबू के बीज (lemon seeds for hairfall): नींबू कर बीज और काली मिर्च का मिश्रण सिर के खाली भागों को ढ़कने का अच्छा तरीका है। नींबू के बीज का पाउडर बनाएं और इसे काली मिर्च के पाउडर के साथ मिलाएं। पानी की मदद से महीन पेस्ट बनाएं। इस पेस्ट को सिर पर लगाएं और मालिश करें। इसे १५ मिनट तक छोड़ दें तथा उसके बाद धो लें। इस प्रक्रिया को हफ्ते में एक बार ज़रूर दोहराएं।

बालों के लिए नींबू और आंवला कितने फायदेमंद है, यह बताने की जरूरत नहीं। विटामिन-सी से भरपूर ये दोनो पदार्थ बालों के लिए किसी अमृत से कम नहीं। अगर आप अपने सफेद बालों को काला करना चाह रहे हैं, तो नींबू के रस में आंवले का पेस्‍ट मिलाकर सिर पर लगायें। नियमित रूप से ऐसा करने से कुछ ही दिनों में आपके बाल काले होना शुरू हो जाएंगे। आंवला खाने के अलावा, आंवले के पाउडर में नींबू मिलाकर नियमित रूप से लगाएं। शैंपू के बाद आंवला पाउडर पानी में घोलकर लगाने से बालों की कंडीशनिंग तो होती ही है, साथ ही इनका रंग भी बरकरार रहता है।

यदि आप रिफॉलियम की कीमत के बारे में चिंतित हैं तो आपको अत्यधिक तनाव नहीं लेना चाहिए। भारत में रिफॉलियम कैप्सूल की कीमत काफी सस्ती है और इस प्रकार आपको महंगी उपचार या सर्जरी पर भरोसा करने की आवश्यकता नहीं है। बस इन कैप्सूल का उपयोग शुरू करें और जल्द से जल्द अपने इच्छित परिणाम प्राप्त करें

Yes and we encourage you to research the limitations and possibilities of hair transplantation and can support you in making the correct decisions for you. Please register for our open days when we can arrange for you to meet with previous patients to examine the quality of our work.

1) FUT प्रक्रिया को स्ट्रिप प्रक्रिया भी कहते हैं क्यों की इसमें सिर के पीछे से बालों की स्ट्रिप निकाली जाती है।सबसे पहले मरीज को local anesthesia देकर अचेत (सुन्न) कर दिया जाता है। फिर मरीज के डोनर एरिया से एक 1.6-1.7 cm चौड़ी स्ट्रिप निकाली जाती है। आधे इंच की एक स्ट्रिप में आम तौर पर दो से ढाई हज़ार follicles हो सकते हैं और एक फॉलिकल में दो से तीन बाल होते हैं। जहां फॉलिकल्स लागए जाते हैं वहां पर एक रात के लिए पट्टिआं लगा दी जाती हैं जिन्हे अगले दिन क्लिनिक जाकर उतरवाया जा सकता है।फॉलिकल्स लगाने के बाद डोनर एरिया (Donor Area ) में टाँके लगा दिए जाते हैं। यह टाँके कुछ एक से दो हफ़्तों में सामान्य हो जाते हैं। पर इस प्रक्रिया मंं दर्द FUE से ज़्यादा होता है।

इस रोग का कोई इलाज नहीं है लेकिन कई उपचार विकल्प हैं जो आपके बालों को तेजी से बढ़ने में मदद कर सकते हैं और भविष्य में बालों को झड़ने से रोक सकते हैं। उपचार की जानकारी लेने के लिए अपने चिकित्सक से परामर्श करें।

भारतीय अमला प्राकृतिक घटक है इसमें विटामिन सी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो बालों के रोम को मजबूत और बालों के जड़ों को मजबूत बनाता है। आप इसे खा सकते है और सिर पर लगा भी सकते हैं। एक चम्मच अमला और एक चम्मच नींबू का रस मिलाएं और सिर पर लगाएं। थोड़ा पानी के साथ बाल का मालिस करें। इसे रातभर छोड़ दें। सुबह में शैंपू लगाकर धो दें।

१७. आलू का पानी (Potato water): विटामिन की कमी की वजह से बाल सूखे और नाज़ुक हो जाते हैं। आलू से आपको घने और लम्बे बाल मिल सकते हैं। आलू के पानी से बाल धोएं। आलू को पानी में उबालने के बाद पानी को ठंडा होने दें तथा उस पानी से शैम्पू के बाद बाल धो लें।

आज के आधुनिक युग में लोग खराब जीवनशैली, खान-पान, प्रदूषित वातावरण, हार्मोनल के बदलाव आदि के कारण कम उम्र में ही बाल झड़ने की बीमारी का शिकार हो जाते हैं। ऐसी अवस्था में बाल झड़ने का कारण खोजने में समय न गँवाकर कुछ घरेलु उपायों के द्वारा इस समस्या से कुछ हद तक राहत पा सकते है.

2004 में मुस्कारेला ने एक तजुर्बा किया. उन्होंने कई तरह के लोगों की फोटो खिंचवाईं. जिसमें कम गंजे, पूरी तरह से गंजे और बालों वाले मर्द शामिल थे. फिर ये तस्वीरें मनोविज्ञान के छात्रों को दिखाए गए. जिसमें 101 लड़के और 101 ही लड़कियां शामिल थीं.

1. प्याज के रस को नारियल तेल के साथ मिलाकर लगाना फायदेमंद रहेगा. प्याज के रस की ही तरह नारियल तेल के इस्तेमाल से भी बाल जल्दी बढ़ते हैं. हल्के गर्म नारियल तेल में प्याज का रस मिलाकर बालों की जड़ों में लगाएं. इससे बाल तो जल्दी बढ़ेंगे ही साथ ही बालों में चमक भी आएगी.

पॉलीसिस्टिक अंडाशय सिंड्रोम (पीसीओएस) महिलाओं में बाल झड़ने की समस्या का एक अन्य रूप है। एण्ड्रोजन (पुरुष हॉर्मोन) की अधिकता के कारण महिलाओं में ओवरियरन सिस्ट या ओवरियन कैंसर, वज़न बढ़ना, मधुमेह की सम्भावना, मासिक धर्म में परिवर्तन, बांझपन, साथ ही साथ बालों का पतला होना आदि समस्याएं होती हैं क्योंकि पीसीओएस में पुरुष हॉर्मोन अधिक प्रभावी होता है। इसी के प्रभाव स्वरुप महिलाओं के शरीर और चेहरे पर बाल आते हैं। (और पढ़ें – बांझपन का घरेलू इलाज) 

हाँ। बस पढ़ Minoval दूसरों से पता लगाने के लिए समीक्षा करता है। Minoval बाल regrowth उपचार समीक्षा बोर्ड भर में बहुत ही सकारात्मक है। लोग Minoval परिणाम है कि वे देखते हैं जो कि वास्तव में क्यों वे इस उत्पाद का उपयोग करने के लिए जारी है और यह और अधिक लोकप्रिय हो करने के लिए जारी के साथ खुश हैं।

बालों के झड़ने के लिए आम कारणों मैं अत्यधिक पुरुष सेक्स हार्मोन, अनुचित फैटी एसिड और वसायुक्त चयापचय या अशुद्ध रक्त गंजापन या खालित्य पैदा कर सकता है। बच्चों में अनुचित जीवन शैली और खाने की आदतों की वजह से बालों के झड़ने का कारण बनती हैं। फैटी एसिड हार्मोन और विषाक्त एजेंटों का विरोध करते हैं जो बालों के झड़ने का कारण बनते हैं। बहुत अधिक पकाया भोजन और संसाधित खाद्य पदार्थों को भोजन फैटी एसिड के अवशोषण को सीमित कर सकता है। मॉस पदार्थ (नान वेज फ़ूड )या वनस्पति वसा शरीर में बासी जा सकती है, जिगर फ़िल्टरिंग प्रक्रिया को विफल करके, लिम्फ प्रवाह में जाकर शरीर में सेलुलर क्षति करने के लिए आगे बढ़ सकता है। अशुद्धता या विषाक्त रक्त भी बालों के झड़ने और त्वचा की रोग की भागीदारी हो सकती है। रेकवेग आर.८९ संवैधानिक उपाय होम्योपैथिक उपचार की अपनी अनूठी संरचना के माध्यम से इस तरह के असंतुलन को ठीक करता है

नारियल को पीसकर दूध निकालकर उसमें थोड़ा-सा पानी मिला लें। जहाँ पर बाल पतले हो रहे हैं या गंजे होने के आसार दिख रहें है उस जगह पर इस दूध से मालिश करें। रात भर यूं ही रहने दें और अगले सुबह पानी से धो लें।

आप ताजा नींबू का रस या नींबू का तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं क्योंकि बाल की गुणवत्ता और विकास को बढ़ाने के लिए जाना जाता है। नींबू का तेल आपकी स्वस्थ खोपड़ी बनाए रखने और बाल विकास को प्रोत्साहित करने में मदद कर सकता है। शैम्पू से 15 मिनट पहले अपने सिर और बाल में ताजा नींबू का रस लग्गएं। आप एक बाल मास्क के रूप में एक वाहक तेल में  कुछ बूंदे नींबू एसेंसिअल तेल का उपयोग कर सकते हैं।

यह एक ऐसी विधि है जिससे कि आप घर बैठे अपने बाल घने कर सकते हैं। प्याज के रस में सल्फर होता है जो सिर के तंतुओं में कोलेजन की उत्पत्ति को प्रोत्साहित करता है जिससे बाल बढ़ने में सहायता मिलती है। प्याज को किसें तथा इसका रस निकालकर बालों की जड़ों में लगाएं। 15 मिनट तक रखें और फिर धो दें।

अमरीका के फ्लोरिडा स्थित बैरी यूनिवर्सिटी के मनोवैज्ञानिक फ्रैंक मुस्कारेला इसमें सेक्स की संभावना देखते हैं. उनके मुताबिक बहुत-सी रिसर्च में पाया गया है कि जिन मर्दों के बाल नहीं होते उनकी तरफ़ औरतों का झुकाव कम होता है. क्योंकि उनमें महिलाओं को सेक्स अपील कम नज़र आती है. वो उन्हें बूढ़ा समझती हैं. लेकिन हाई प्रोफ़ाइल गंजे लोगों की तरफ़ महिलाएं बहुत जल्दी आकर्षित होती हैं.

मिथाइल सल्फोनिल मीथेन से केराटिन उत्पन्न होता है जो बालों के अंदर का प्रोटीन होता है जिससे बाल मज़बूत होते हैं। एक शोध के मुताबिक़ जिन लोगों ने msm का सेवन किया उन सबके बालों में ६ महीनों में ही वृद्धि हो गयी। सिट्रस फल, सब्ज़ियाँ, मटन तथा दुग्ध उत्पादों में केराटिन होता है जिससे बाल जल्दी बढ़ते हैं।

* अपने बालों को झड़ने से रोकने के लिए आप ग्रीन टी (Green Tea) का उपयोग कर सकते है क्योंकि चाय में एंटी – ओक्सिडेन्ट्स अधिक मात्रा में होते हैं. जो बालों के बढ़ने में सहायक होते है. एक गिलास पानी में थोडा Green Tea Bag का use करके चाय बना सकते है और फिर उस चाय को ठंडा होने के बाद बालों में लगाये और सिर को एक घंटे बाद धो ले.

Refollium एक प्राकृतिक सूत्र है और इस प्रकार, इसकी एक पूरी तरह से प्राकृतिक कार्य प्रणाली है जो आपको संतोषजनक परिणाम प्रदान कर सकती है। यदि आप इस समाधान को अपने दैनिक दिनचर्या में जोड़ने के लिए जा रहे हैं तो हाँ, आपके लिए यह सबसे पहले अपने कार्य प्रणाली को समझना महत्वपूर्ण है। यह उत्पाद सभी प्राकृतिक अवयवों के साथ तैयार किया गया है और निर्माताओं ने अपने उपयोगकर्ताओं को सिर्फ 60 दिनों के भीतर मोटा बाल पाने का आश्वासन दिया है।

त्‍वचा से अनचाहे बालों को हटाने के लिए गुनगुने नारियल तेल में हल्‍दी पाउडर को मिलाकर पेस्‍ट बना लें। अब इस पेस्ट को हाथ-पैरों पर लगाएं। इससे त्वचा मुलायम होने के साथ ही शरीर के अनचाहे बाल भी धीरे-धीरे हट जाते हैं। image courtesy : gettyimages.in

बाल विकास की गोलियाँ: विभिन्न प्रकार के बालों के विकास की गोलियाँ रहे हैं आसानी से बालों के झड़ने की समस्याओं के लिए सबसे लोकप्रिय काउंटर क्योंकि वे मुख्य रूप से आर्थिक, सुविधाजनक और अत्यधिक प्रभावी रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *