“बाल विकास प्राकृतिक जड़ी बूटियों _बालों के झड़ने लेजर समूह शेफ़ील्ड”

 पुरुषों में जिस प्रकार बाल झड़ते रहते हैं अर्थात मांग से बालों का झड़ना और/या सिर के ऊपर से बालों का झड़ना, उसी प्रकार इसमें भी पुरुषों के बाल झड़ते हैं। इस प्रकार बालों का झड़ना आम है और यह किसी भी समय यहां तक कि किशोरावस्था में भी आरंभ हो सकता है। इसके मुख्यतः तीन कारण हैं-वंशानुगत गंजापन, पुरुष हार्मोन और बढ़ती हुई आयु। महिलाओं में, सिर के आगे के भाग को छोड़कर पूरे हिस्से के बाल झड़ने लगते हैं।

१३. शाना के बीज(Shana Seeds for hair growth): बालों को बढ़ाने के लिए शाना के बीज का प्रयोग करें। यह एक बेहतरीन आयुर्वेदिक नुस्खा है जो बालों का झड़ना रोकता है। शाना के बीज का पाउडर लें तथा इसे नारियल के तेल के साथ मिलाएं जिससे कि इनका पेस्ट बन जाए। इस पेस्ट को अपने सिर पर लगाकर अपने सिर की मालिश करें। १५ मिनट के बाद शैम्पू कर लें।

महिला बाल झड़ने का भी संयुक्त राज्य अमेरिका के रूप में जाना स्त्री पैटर्न गंजापन, महिलाओं में से 4 के हर 1 या FPB प्रभाव. हाल के निष्कर्षों ने पाया है कि महिला बालों के झड़ने के लिए पुरुषों के लिए के रूप में महिलाओं के लिए के रूप में आम हो गया लगता है. ज्यादातर अक्सर, रजोनिवृत्ति स्पष्ट समय के लिए महिला बाल अक्सर होता है सबसे अधिक नुकसान हो गया है.

बाल वास्तव में एमपीबी में नहीं गिरते हैं। गंजे होने वाले व्यक्तियों को प्रायः अत्यधिक चिंता होती है जब वे शावर के बाद फर्श पर या तकिये पर बालों को देखते हैं तथा उनमें किसी भी प्रकार के बाल गिरने के संकेतों का बारीकी से निरीक्षण करने की आदत विकसित होने लगती है, किन्तु वास्तव में इस प्रकार से बालों का झड़ना उनके गंजेपन से संबंधित नहीं होता है। एमपीबी या पुरुष पैटर्न गंजेपन में, कूपिक या बालों की जड़ें धीरे धीरे छोटी और पतली होती जाती हैं और बाल भी पतले और छोटे हो जाते हैं। इस प्रकार धीरे धीरे गंजेपन वाले क्षेत्रों में अधिक से अधिक त्वचा दिखने लगती है। वहां बालों का कोई कमी नहीं होती है बल्कि वहां बालों की गुणवत्ता में कमी होती है क्योंकि ये पतले और छोटे हो जाते हैं। व्यक्ति को धीरे धीरे पता चलता है कि उसे गंजेपन वाले क्षेत्रों में बाल कटवाने नहीं चाहिए। एक गंभीर रूप से गंजे व्यक्ति के सिर की त्वचा के पूर्णरूपेण गंजे स्थानों पर भी, मैग्नीफाइंग ग्लास से देखे जाने पर, दिखाई देगा कि वहां अभी भी कुछ बाल हैं, किन्तु वे बहुत पतले और नंगी आँखों से देखे जाने पर लगभग अदृश्य हैं और वे बहुत छोटे भी हैं।

वहाँ महिलाओं को अपने बालों को खोने के लिए, लेकिन सबसे आम thinning वंशानुगत या खालित्य है के लिए कई कारण हैं – यह महिला बाल नुकसान के 95% के लिए खातों. चलो महिला बालों के झड़ने के कारणों पर एक करीब देखो लेने के लिए

बहुत बार कई लोग विशेषकर Girls अपने बालों को सुन्दर व मजबूत दिखाने के लिए केमिकल युक्त शेम्पू या साबुन का बार – बार उपयोग करते है. अत्यधिक बार शेम्पू का Use बालों के लिए नुकसानदायक होता है और वह बालों को सुन्दर व सेहतमंद बनाने के बजाय बेजान या कमजोर बना सकता है. इसलिए बालों को धोने के लिए इन शेम्पू या साबुन का कम उपयोग करे. इसके बजाय आप आंवला के पाउडर का use बाल धोने के लिए कर सकते है.

परन्तु बहुत से चिकित्सकों का मानना है कि बालों की सफेदी वैसे तो जैनेटिक यानी अनुवांशिक होती है। किंतु फिर भी कुछ ऐसे कारण है जो समय से पहले बालों को सफेद बनाने में अहम भूमिका अदा करते है। इनमें न केवल दवा बल्कि अनीमिया, थाइराइड व एचआइवी-एड्स भी शामिल है। खाने में प्रोटीन व आयरन की कमी भी बालों की सफेदी का एक कारण है।

Prescription finasteride (sold under the name Propecia) and at home laser treatment such as HiarMax Professional 12 LasserCOmb, which is FDA approved, has been found to be effective as well, the key to stopping your hairline loss is finding a regimen that will work for you. Seeing a doctor is probably your best chance of discovering a solution that will work for you – but we can assist you showing you what treatments may work for you and what to steer clear from.

भगवान ने हम मनुष्य को कई खुबसूरत चीजे दी है जिसमे आँख, कान, मुँह आदि शामिल है. ऐसे ही एक सुन्दर चीज और है जो है हमारे बाल (Hair). बाल व्यक्ति के शरीर को सुन्दर तो बनाता ही है साथ ही साथ वह मनुष्य के शरीर का एक अहम हिस्सा भी है. जिस कारण हर व्यक्ति अपने बालों पर नाज करता है और घने लम्बे बालो की चाहत भी रखता है.

Baltod, Boils Treatment, Boils in Hindi / शरीर से बाल का अचानक जड़ से उखड़ जाने और बाल जड़ से खिच (Pull out hair follicle) जाने पर बाल तोड़ फुंसी से सूजन फोड़ा पस बन जाती है। बाल तोड़ होने मुख्य कारण Pull hair, Hair Uprooted / बाल उखडने-खिचने पर त्वचा रोम छिद्र पर बैक्टीरिया संक्रमण धीरे-धीरे फुंसीे, पस, सूजन, दर्द का रूप ले लेती है। जिसे आम भाषा में Baltod / बाल तोड फुंसी कहा जाता है। बाल तोड़ जांघ, छाती के निचले हिस्से पर, नाजुक जगह पर होने से बाल तोड़ फुंसी के साथ-साथ बुखार, घबराहट की समस्या हो जाती है। बाल तोड़ बड़ी बीमारी नहीं परन्तु जख्म फोड़ा ज्यादा दिनों तक रहने पर घातक हो सकता है। बाल तोड़ होने पर तुरन्त एक्सपर्ट चिकित्सक से सलाह उपचार करवायें।

इसका कारण यह है सर्जरी स्वस्थ बाल कि dihydrotestosterone से प्रभावित नहीं है के प्रत्यारोपण की आवश्यकता है (एक हार्मोन है कि एंड्रोजेनिक के साथ उन लोगों में मौजूद है खालित्य-यह छोटा करने के लिए बाल कूप का कारण बनता है)। क्योंकि पुरुष गंजेपन पैटर्न आम तौर पर पक्षों और सिर अछूता के पीछे छोड़, बाल वहाँ से प्रत्यारोपित किया जा सकता।

अधिकतर Non Surgical Hair Replacement डिजाइन और कसंल्टेशन से शुरू होते हैं । डिजाइन और कंसल्टेशन से यह सुनिश्चित किया जाता है कि प्रोडक्ट आपके मौजूदा बालों के कलर और स्टाइल के अनुसार ही तैयार किया जाए । डिजाइन से लेकर मनमाफिक प्रोडक्ट तैयार करने में कई महीनों का वक्त लगता है । आप बाजार से ऐसे प्रोडक्ट भी ले सकते हैं जो पहले से तैयार हैं और सस्ते भी । हालांकि इससे समय तो बच जाएगा लेकिन आप क्वालिटी के साथ समझौता करेंगे ।

किसी भी प्रभाव को देखा जाने से पहले इसे आमतौर पर फाइनस्टेराइड का उपयोग करने में लगातार तीन से छह महीने लगते हैं। अगर उपचार रोक दिया जाता है तो बाल्डिंग प्रक्रिया आमतौर पर छह से 12 महीनों के भीतर शुरू होती है।

एक उपाय के प्रति प्रारंभिक कार्रवाई शुरू करने के लिए, जानें अपने बालों के झड़ने का वर्गीकरण. आप नीचे दिए गए Norwood वर्गीकरण पैमाने की तरह एक साधारण आरेख का उपयोग कर सकते. केवल, चित्र है कि सबसे अच्छा अपने वर्तमान बाल स्थिति का प्रतिनिधित्व करता है पर देखने के, और वर्गीकरण के बगल में प्रतीक ध्यान दें.

बहेडा – इसके बीजों के चूर्ण को नारियल या जैतून के तेल में मिलाकर गुनगुना गर्म किया जाए और इस तेल को बालों पर लगाया जाए तो बाल चमकदार हो जाते हैं। साथ ही, इनकी जडें भी मजबूत हो जाती हैं। बालों की समस्याओं में हर्बल जानकारों के अनुसार त्रिफला का सेवन हितकर माना गया है।

कुल मिलाकर ये कहें कि गंजे होकर मर्द विकास की राह में तेज़ी से आगे बढ़ते हैं तो ग़लत नहीं होगा. उन्हें अच्छी गर्लफ्रैंड मिलने में गंजापन मददगार हो सकता है. तो अब गंजापन दूर करने के लिए कबूतर की बीट लगाना छोड़ दीजिए. गंजे भी स्मार्ट होते हैं.

रसायन है कि धुंधला हो जाना या बालों के मलिनकिरण जैसे बालों के उपचार के लिए सामान्यतः प्रयोग किया जाता हैं, वे कई नुकसान और बालों के झड़ने का कारण बन सकते हैं. इस हालत कर्षण खालित्य के रूप में जाना जाता है. पुनर्प्राप्त करने के लिए समय की, और इस अवधि के दौरान बालों के एक बिट की जरूरत, कोई उपचार है कि इस्तेमाल किया जा सकता हैं.

एक अंदाज़े के मुताबिक़ गंजेपन के इलाज के लिए पूरी दुनिया में हर साल क़रीब साढ़े तीन अरब डॉलर तक की रक़म ख़र्च की जाती है. मैसेडोनिया जैसे देश के लिए तो ये सालाना बजट के बराबर है. बिल गेट्स का कहाना है कि ये रक़म मलेरिया जैसी बीमारी पर क़ाबू पाने के लिए खर्च की जाने वाली रक़म से भी बड़ी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *