“रासायनिक छील के बाद बाल वृद्धि बालों के झड़ने वाले कुत्तों के हिंद पैरों”

कोर्टिकॉस्टिरॉइड दवाओं में स्टेरॉयड होते हैं, हार्मोन का एक प्रकार। वे प्रतिरक्षा प्रणाली को दबाकर काम करते हैं (संक्रमण और बीमारी के खिलाफ शरीर की प्राकृतिक सुरक्षा)। यह खालित्य areata में उपयोगी है क्योंकि इस स्थिति को रोम के रोमों को नुकसान पहुंचाने वाली प्रतिरक्षा प्रणाली के कारण माना जाता है।

बालों को गूंथना(weaving): बाल गूंथने में अपने स्वयं के प्राकृतिक बालों में बालों की लटें जोड़ना शामिल है। बहुत से ऐसे तरीके हैं, जिनमें बाल गूंथे जा सकते हैं। लटें लोगों से एकत्र किए गए प्राकृतिक बालों की हो सकती हैं जो अपने बाल बेच देते हैं, या ये कृत्रिम हो सकते हैं – कृत्रिम बालों के कई भिन्न प्रकार मौजूद हैं। बालों को भी कई प्रकार की विधियों से बांधा जा सकता है। क्लिप विधि वह है जिसमें लटों को छोटी क्लिपों की मदद से बालों के गुच्छे से जोड़ दिया जाता है। बालों को चिपकाया भी जा सकता है – कम स्थायी विधि में सॉफ्ट ग्लू का प्रयोग किया जाता है जो सुविधाजनक किन्तु अस्थायी है, हार्ड ग्लू अधिक टिकाऊ किन्तु असुविधाजनक है। फ्यूजन विधि में गर्म ग्लू का प्रयोग किया जाता है जिसमें ग्लू को अधिक सुविधाजनक किन्तु दीर्घकालिक प्रभाव के लिए गर्म किया जाता है। बाल गूंथने का एक बड़ा लाभ यह है कि यह गंजेपन के शुरुआती चरण में बहुत सफल हो सकता है। यह वास्तव में तब न ध्यान देने योग्य हो सकता है जब केवल अतिरिक्त बालों की थोड़ी मात्रा की आवश्यकता होती है। इसका एक बड़ा नुकसान उच्च रखरखाव है जिसकी इसे आवश्यकता होती है। गूंथने के कुछ प्रकारों में आपको अपने बालों को धुलने या कंघी करने की अनुमति नहीं होती है। अन्य में ऐसा करने की अनुमति तो होती है लेकिन विशेष प्रकार की कंघी तथा शैंपू की आवश्यकता होती है। और सबसे महत्वपूर्ण रूप से, कुछ विधियों में लगभग 3 सप्ताह में नियमित मेंटनेस विजिट और अन्य विधियों में अधिकतम लगभग 2-3 माह में मेंटनेंस विजिट अनिवार्य है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि मौजूद बालों से नए बालों को जोड़ा जाता है, और जैसे जैसे ये बाल बढ़ते हैं कृत्रिम बालों को पुनः जड़ों से जोड़ना पड़ता है। यह मेंटनेंस निहायती उबाऊ होता है, हालांकि अधिकाँश लोग पूरे उत्साह के साथ गूंथना शुरू करते हैं, किन्तु बहुत कम ही इसे एक वर्ष से अधिक समय तक जारी रख पाते हैं। मेंटनेंस की लागत भी काफी ज्यादा होती है। किसी भी मामले में, गूंथना गंजेपन के उच्चतर स्तरों में सहायक नहीं होता है, जहाँ यह बिलकुल एक विग की तरह दिखाई पड़ता है।

विटामिन ए युक्त खाद्य पदार्थ या दवाओं का अत्यधिक सेवन भी बाल टूटने का कारण बन सकता है। अमेरिकी अकादमी के त्वचाविज्ञान के अनुसार, विटामिन ए की प्रतिदिन की खपत 5000 आईयू (इंटरनेशनल यूनिट) वयस्कों के लिए और 2500-10,000 आईयू चार साल से बड़े बच्चों के लिए होनी चाहिए। 

असंतुलित खान पान और असंतुलित दिनचर्या आदि बाल गिरने के कारन है। अपने बालों का खास ख्याल रखे। घरेलु उपाय अपनाकर आप अपने बालों का गिरने / Hair Loss को रोक सकते है। बालों को सही पोषण दे ताकि आपके बालों का गिरना या Hair Fall बंद हो जाये। Hair Loss control tips in Hindi

बालो का असमय झड़ना hair loss रोकने के लिए यह जरुरी है कि पहले आप पता करे कि ऊपर दिए गए कारणो में से किस कारण आपके बाल अधिक झड़ रहे है। जब तक मूल कारण का उपचार न किया जाए हेयर लोस  रोकना कठिन कार्य है। हेयर लोस  होने के मूल कारण का उपचार करने के साथ निचे दिए गए अन्य उपाय का उपयोग कर आप हेयर लोस  की  रोकथाम कर सकते है।

Anthralin (Drithocreme®). यह एक सिंथेटिक पदार्थ है, यह दैनिक द्वारा सिर रगड़ और धोने के बाद किया जाना चाहिए कि बासना. नए बाल विकास को प्रेरित किया जा सकता और खालित्य areata के मामलों में प्रयोग किया जाता है.

बालों को सेहतमंद बनाने के लिए आप अपने आहार में आंवला, गाजर, पालक, चना, प्याज, राजमा, टमाटर, सोयाबीन व अदरक का उपयोग कर सकते है तथा इसके अलावा भी आप मौसमी फल, अंकुरित अन्न व विटामिन से भरे ताजे फलों का उपयोग भी कर सकते है.

अंडे में विटामिन ई आप चिकनाई मिल इतना है कि बाल `t डॉन खुरदरापन और भंगुरता के कारण तोड़ने में मदद मिलेगी। इसके अलावा, विटामिन बी 7 जो बायोटिन के रूप में जाना जाता है भी मजबूत बाल जड़ों और बाल regrowth के लिए आवश्यक है। तो, अगर आप स्वस्थ और मजबूत बाल तो करना चाहते हैं अपने आहार में अंडे शामिल है। यह भी रूप में अच्छी तरह आपकी त्वचा में अच्छे परिणाम दिखाई देंगे।

हालांकि, महिलाओं को आम तौर पर जिसका अर्थ है कि अपने बालों को सभी खोपड़ी से अधिक thins फैलाना बालों के झड़ने है,। इसका मतलब यह है कि पूरे खोपड़ी DHT है, जो धीमी गति से अपने बाल कूप मार रहा है से प्रभावित है। सिर के दूसरे हिस्से को प्रभावित कूप रोपाई कुछ भी ठीक नहीं होती।

एलो वेरा शरीर की लिए बहुत ही ज्यादा लाभकारी होता है क्योंकि इसमें ७५ विभिन्न प्रकार के पोषक तत्व होते हैं जो हमारे शरीर के छिद्रों को साफ करने में तथा पि.एच संतुलन को बनाये रखने में मदद करते हैं । यह बालों के झड़ने के उपचार के लिए उत्कृष्ट होता है और इसमें कुछ ऐसे एंजाइम होते हैं जो खोपड़ी से मृत त्वचा को साफ करते हैं ।

एंड्रोजन प्रतिरोधी दवाएं – चूंकि एलोपेसिया के अधिकतर मामलों में शरीर में एंड्रोजन हामोन की अधिकता एक प्रमुख कारण है, इसलिए इसे कम करने की दवाओं का इस्तेमाल भी उपचार के लिए किया जाता है। कुछ मामलों में इन दवाओं से उन महिलाओं को फायदा मिला है, जिन पर मिनोक्सिडिल का प्रभाव नहीं हुआ।

1. Hair Loss Causes and Remedies in Hindi अपने बालों में दही लगाये। दही कम से कम नहाने से आधा घंटा पहले लगाये। इससे आपकी बाल गिरने की समस्या से छुटकारा मिलेगी। दही और नीबू रस मिलाकर लगाये इससे आपकी रुसी भी खत्म होगी।

May 11, 2016   |   Author: admin   |   No comments   |   Categories: hair transplant   |   Tags: baldness solution • Hair fall Treatment • hair loss treatment • hair regain • hair regrowth • hair transplant in indore

Si usted está experimentando un trasplante de unidad folicular del cabello, el cabello cirujano de restauración tendrá una sección de cabello de la parte posterior de su cabeza, donde el crecimiento del cabello activa está en curso. Ellos entonces aislan meticulosamente los folículos, y colocan de uno a cuatro pelos de vuelta en su zona de calvicie a la vez. Usted podría estar recibiendo hasta 2.000 pequeños injertos en el transcurso de un máximo de ocho horas. El cuero cabelludo será extremadamente licitar después del procedimiento y usted tendrá que usar un vestidor y el uso de antibióticos. ¿Sin dolor no hay ganancia – correcta? Aunque usted puede ir para una sesión adicional o varios, se espera que usted vea en torno al 60 por ciento de crecimiento de cabello nuevo después de unos nueve meses.

वहाँ बाजार में गंजापन के लिए दवाओं के बहुत सारे हैं, लेकिन गृह उपचार गंजापन के लिए कभी कभी बहुत मदद की हो सकता है. इन संसाधनों में से एक उंगलियों के साथ खोपड़ी मलाई है. बाल ठंडे पानी से धोया जाता है और फिर मालिश है यह तक मजबूती से खोपड़ी तपता है और चोट करने के लिए शुरू होता है. यह क्रिया जिसका स्राव त्वचा और बाल lubricates वसामय ग्रंथियों को सक्रिय करता है. यह भी एक बेहतर बाल विकास के लिए खोपड़ी में रक्त परिसंचरण सक्रिय करता है.

4. बियर के साथ प्याज का रस मिलाकर लगाना भी काफी फायदेमंद है. सबसे पहले बालों को किसी अच्छे बियर शैंपू से धो लें और उसके बाद बालों में प्याज के रस से मसाज करें. इस उपाय से बालों को बढ़ने में मदद मिलेगी. साथ ही बालों में चमक भी बनी रहेगी.

लाभ: प्राकृतिक नारियल तेल में पाया सामग्री बाल के regrowth को बढ़ावा देने के। नारियल तेल आवश्यक वसा, खनिज और बालों के झड़ने और टूटना कम करने के लिए आवश्यक प्रोटीन में समृद्ध है। लोहा और पोटेशियम सामग्री की सहायता से बाल टिप को जड़ से मजबूत।

मेथी: मेथी में विटामिन और मिनरल प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं जो हेयर फॉलिकल्स को उत्तेजित करता है। इसमें पाए गए पोषक तत्व बालों के विकास के लिए अच्छा होता है साथ ही बालों को घना और मुलायम करने में भी मदद करता है। [ये भी पढ़ें: वेरिकोस वेंस के उपचार के लिए उपयोगी घरेलू उपाय]

यह आंशिक रूप से आत्म लगाया और आंशिक रूप से सामाजिक दृष्टि से लगाया अलगाव कारण है कि बालों के झड़ने और बाल विकास इसके विपरीत है तो इतने सारे लोगों के लिए महत्वपूर्ण असली है। यदि आप एक व्यक्ति के रूप में अच्छी तरह से बालों के झड़ने से पीड़ित है जो कर रहे हैं, तो तुम्हें पता होगा कितना आसान यह ऐसे लोगों के लिए लगभग बाल विकास समाधान के साथ जुनून सवार हो गया है।

पुरुषों में बाल झडना रोकने के लिए अपने आहार में अतिरिक्त खनिज पदार्थ शामिल कीजिए। जैसे कैल्शियम, मैग्नीशियम, और जिंक साथ ही हरी पत्तेदार सब्जियां जरूर खायें। तनाव और उत्तेजना कम करने के लिए ध्यान और योग करें और गीले बालों पर कंघी करने से बचें।

बालों में खुश्की या खुजली हो रही हो, तो नीम के पत्तों को पानी में उबालें। उस पानी में थोड़ी-सी हल्दी मिलाकर छान लें। इससे सिर धोएं, खारिश दूर हो जाएगी। बालों में दही या छाछ लगाने से बाल चिकने होते हैं। बालों को रीठा, शिकाकाई से धोना अच्छा है। एलोवेरा जेल या गुड़हल के पत्तों को मसल कर बालों की जड़ों में लगा लें। इससे कूलिंग इफेक्ट मिलता है।

सर्जनों ने छोटे और अधिक छोटे ग्राफ्ट ट्रांसप्लांट करने की तकनीकें विकसित करना जारी रखा। शुरुआत में, पंच ग्राफ्ट लिए जाते हैं किन्तु इसने नए बालों को अप्राकृतिक अपीयरेंस प्रदान किए। 1990 में, लिमर ने पट्टियों से कूपिक इकाइयों को निकालने के लिए माइक्रोस्कोप का प्रयोग करने की तकनीक का विकास किया। तब से कूपिक इकाई ट्रांसप्लांटेशन के लिए स्वर्णिम मानक बन गई। 2002 में, एकल कूपिक इकाइयों के निष्कर्षण के साथ एफ़यूई का विकास हुआ। आरंभ में, मैनुअल पंच प्रयोग किए जाते थे, किन्तु 2004 से एफ़यूई में मोटरयुक्त ड्रिल प्रयोग की जाने लगी और यह वर्तमान में सर्वाधिक उन्नत तकनीक है।

बालों को झड़ने से रोकने के घरेलू नुस्‍खों में सबसे पहला नुस्‍खा ऑयल है। ऑयल बालों का आहार है इसलिए हमें हफ्ते में दो से तीन बार बालों में तेल जरूर लगाना चाहिए। सिर की मसाज ब्‍लड सर्कुलेशन बढ़ाता है और बालों की जड़ों को मजबूत बनाता है। तो बालों को झड़ने से बचाने के लिए सिर की मालिश जरूर करें। बाल तनाव के कारण भी झड़ते हैं, और हैड मसाज से आप तुरंत रिलैक्‍स होगें। नारियल, बादाम और आंवले का तेल यह सभी मजबूत बालों के लिए जाने जाते हैं। इसलिए सिर की मसाज के लिए इसमें से कोई भी एक तेल इस्‍तेमाल करें। दूसरा नुस्‍खा हेयर पैक है। शिकाकाई पाउडर और दही लेकर उसे अच्‍छे से मिक्‍स कर लें और बालों की जड़ों में लगाये। 15 मिनट के बाद बालों को धो लें। तीसरा नुस्‍खा आहार है। अपने आहार में ओट्स को शमिल करें। ओट्स में आयरन, फाइबर, मिनरल, जिंक, ओमेगा-3, फैटी एसिड मौजूद होते हैं जो बालों को बढ़ता और  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *