“शराब छोड़ने के बाद बाल regrowth |बालों के झड़ने तमिल मरुत्वुम”

बालों के झड़ने के लिए बस बाल या सिर पर बालों के पतले होने खोने का मतलब है। चिकित्सा संदर्भ में, बालों के झड़ने खालित्य के रूप में जाना जाता है। गंजापन बाल झड़ने अस्थायी या स्थायी पैदा कर हो सकता है जो पुरुषों में काफी आम है और । तनाव, अनुचित आहार, हार्मोनल असंतुलन, आनुवंशिकी, बाल आदि पर हीटिंग उपकरणों के उपयोग के लिए का गठन, का कारण बनता है बालों के झड़ने के लिए ।

जब भी आप अपने बाल धोते है उसके बाद गीले बालो पर कभी भी कंगी न करे. जब आपके बाल गीले होते है उस समय वे बहुत ही कमजोर और नाजुक होते है जो बड़ी आसानी से टूट सकते है. इसलिए गीले बालों को हमेशा तौलिये या किसी कपडे से आराम से सुखाये.

चिकित्सा की स्थिति सिर्फ रूप में बालों के झड़ने के कारणों के रूप में कई हैं। चिकित्सा शर्तों में शामिल हैं: थायराइड रोग, autoimmune रोग खालित्य areata, खोपड़ी संक्रमणों, त्वचा विकार, और चिकित्सा शर्तों है कि कुछ दवाओं की आवश्यकता की तरह।

2. प्रदूषण की वजह से भी काफी बाल झड़ते हैं। ऐसी स्थिति में एलो वेरा बालों को झड़ने से रोकने का तथा बालों को दोबारा बढ़ाने का काफी कारगर नुस्खा है। एलो वेरा के बालों पर प्रयोग से बालों के झड़ने की तथा सिर खुजलाने की समस्या कम होती है। एलो वेरा में मौजूद एल्कलाइन गुण बालों के ph स्तर को बढ़ाते हैं जिससे बालों के बढ़ने में मदद मिलती है। एलो वेरा जेल से डैंड्रफ से निपटा जा सकता है। एलो वेरा की एक पत्ती लें तथा उससे जेल निकालें। इसे बालों पर लगाएं और कुछ घंटे ऐसे ही रखने के बाद गर्म पानी से बाल धो लें। अच्छे परिणामों के लिए इस पद्दति का प्रयोग हफ्ते में ३ से ४ बार करें।

The truth is that there is no cure for baldness. However, the good news is there are a few ways to help keep your thinning hair from getting any thinner. According to hair loss specialist and clinical studies, 5 percent minoxidil form is the best hair loss treatment to being with. It is accessible that this hair loss treatment works, it is safe for both men and women. You also don’t need a prescription to use it.

इसमें फॉलिक एसिड, सॉ पामेट्टो, हॉर्स चेस्टनट बीज एक्सट्रैक्ट्स, बायोटिन, मिनरल्स और विटामिन शामिल हैं जो आपके बालों में फैटी एसिड के उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए मिलकर काम करते हैं। इसमें शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट भी शामिल हैं जो क्षतिग्रस्त त्वचा के ऊतकों के पुनर्निर्माण के द्वारा आपकी खोपड़ी की मरम्मत पर काम करते हैं। यह रेफोलियम आपके बालों से संभावित सूजन को कम करने पर भी काम करता है।

बालों का झड़ना काफी बड़ी समस्या है और बाज़ार के बेहतरीन उत्पाद भी इस मामले में आपकी ज़्यादा मदद नहीं कर सकते। आपको रोज़ ही कंघी करते वक़्त  उसमें कुछ बाल दिख ही जाते हैं। इस समस्या का लोगों के मन पर काफी प्रभाव पड़ता है। एक बार बाल तेज़ी से झड़ने पर आप इससे बचने के उपाय खोजते हैं और इस प्रक्रिया में आप घरेलू नुस्खों का प्रयोग शुरू कर देते हैं।

यह महीने परिणाम देखने के लिए ले जा सकते हैं। एक वर्ष और संभवतः – – आपको कम से कम चार महीने के लिए इसका इस्तेमाल किया है इससे पहले कि आप परिणाम देखते हैं। फिर भी, के बारे में केवल पांच में से एक महिला एक बड़ा प्रतिशत देख रही है अपने बालों के झड़ने धीमा या रोकने के लिए लगता है कि केवल के साथ मध्यम बाल regrowth होगा।

मसाज करने से बालों की जड़ स्कैल्प तक रक्त संचार तेज होता है और इससे बालों के बढ़ने की गति में तेजी आती है। इसके अलावा हफ्ते में एक दिन गुनगुने तेल और हेयर मास्क से बालों की डीप कंडीशनिंग करने से भी काफी असर होता है। बालों में गुनगना तेल या कंडीशनर लगाएं। ऊंगलियों से पांच मिनट तक स्कैल्प की मसाज करें।

प्रोटीन उपचार बालों की देखभाल के लिए एक प्राथमिक चरण होता है। तो यदि आप मजबूत और चमकदार बाल चाहते हैं, तो बालों को एक सप्ताह में तीन से चार बार प्रोटीन उपचार दें। इसके लिए बस आपको एक कच्चे अंडे को तोड़कर गीले बालों पर लगाना है और पंद्रह मिनट के बाद गुनगुने पानी से धो देना है।

वैज्ञानिकों ने सीने के बाल को सिर पर ट्रांस्पलांट कर गंजेपन के बावजूद भी बाल उगाने में सफलता प्राप्त की है। इस विधि को उन्होंने फॉलिक्यूलर युनिट एक्सट्रैक्शन का नाम दिया है। अब तक बालों के ट्रांसप्लांट के दौरान सिर के पिछले हिस्से से, जहां बाल अधिक होते हैं, बाल निकालकर सिर के उन हिस्सों पर लगाया जाता है जहां बाल झड़ चुके होते है।

ये बयान किसी भी चिकित्सा प्राधिकारी द्वारा मूल्यांकन नहीं किया गया, और केवल शैक्षिक उद्देश्यों के लिए कर रहे हैं. इस उत्पाद को एक दवा नहीं है, और निदान करने के लिए इरादा नहीं है, इलाज, इलाज या किसी भी बीमारी को रोकने के. हमेशा लेबल पढ़ें और निर्देशन के अनुसार ही लें. लक्षण जारी रहती है या यदि आपके पास साइड इफेक्ट आप स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर देखना. आप दवा पर हैं या किसी भी प्रमुख स्वास्थ्य संबंधी चिंताओं पीड़ित हैं, अपने डॉक्टर के साथ उत्पाद की पहले समीक्षा.

अब तो बाजार में ऐसे क्रीम भी आने लगे हैं जिसके जरिए बाल को आसानी से हटाया जा सकता है। क्रीम, शरीर से बाल हटाने का एक ऐसा तरीका है जिससे दर्द भी नहीं होता और आपको आराम भी मिलता है। एक्सपर्ट द्वारा जांचे हुए प्रोडक्ट को इस्तेमाल करके आप उस प्रोडक्ट को वांछित जगह पर लगाएं। बाल जड़ से गायब हो जाएंगे। हेयर रेमूविंग क्रीम बाल साफ करने का एक अच्छा और बेहतर विकल्प साबित हो रहा है। बाजार में गीली व सूखी दोनों ही तरह के क्रीम उपलब्ध है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *