“स्वास्थ्यवृत बाल विकास की गोलियां समीक्षा -बाल विकास के लिए जोजोला तेल आवश्यक तेल”

—-बालों के लिए प्रयोग होने वाले उत्पाद जैसे शैंपू, कंडीशनर इत्यादि प्रॉडक्ट्स अच्छी क्वालिटी के ही प्रयोग करने चाहिए। इससे बाल अच्छे होंगे और टूटने से बचेंगे। अच्हा हे की खुद के द्वारा बनया हुआ प्राकतिक प्रोडक्ट प्रयोग करे |

Approximately 10-15% of hair is in this phase at any given time. Once the hair reaches its full growth potential, it sits inactive in the follicle until released. The follicle then produces a new hair, thereby beginning a new growth phase and completing the cycle.

अन्य सामान्य बालों के झड़ने उपचार finasteride है, बेहतर Propecia के रूप में जाना जाता है. Propecia DHT ब्लॉक, जो कि क्यों यह परिणाम है. कुछ पुरुषों में – या सेक्स ड्राइव, कम अर्थात् एक प्रभाव लेकिन, यह भी पैदा अवांछनीय ओर सीधा होने के लायक़ रोग . हालांकि आप अपने बालों को पुनः प्राप्त करना चाहते हैं, Propecia के दुष्प्रभाव भी कई पुरुषों के लिए गंभीर हो सकता है.

आज एक अस्वस्थ जीवन शैली,प्रदुषण,वायुमंडलीय परिवर्तन ,हार्मोनल असंतुलन से अधिक झुकाव बालो को झड़ने, गंजापन और बाल गिरने को बढावा देने के कुछ कारण है। अच्छे बाल समस्त रंग रूप के लिए बहुत मायने रखते है और बाल बढने साथ ही साथ आपका आत्मविश्वास भी बढता है। हम सभी की इच्छा होती है की हमारे बाल लम्बे और चमकदार हो। लेकिन स्थिति बिगडती जा रही है कुछ दवा शरीर पर गलत असर कर रही है।

बालों के झड़ने का एक मुख्य कारण एलोपेशीया एरेटा विकार है जिसमें प्रतिरक्षा प्रणाली बालों की जड़ों पर हमला करती है और बाल झड़ने लगते हैं। यह विकार महिला और पुरुष दोनों को प्रभावित करता है। यह विकार 20 साल से कम उम्र के लोगों में सबसे आम है लेकिन यह किसी भी उम्र के लोगों को प्रभावित कर सकता है। (और पढ़ें – बालों के झड़ने और सफेद होने से रोकने के लिए आयुर्वेदिक सुझाव)

रोज़ाना कुछ मिनट के लिए अपनी खोपड़ी को गुनगुने तेल से मालिश करें। मालिश के लिए आप किसी भी तेल का प्रयोगकर सकते हैं जैसे नारियल, लैवेंडर, बादाम, सरसों या जोजोबा का तेल। अगर आपके बाल डैंड्रफ की वजह से झड़ रहे हैं तो जोजोबा का तेल इसका काफी अच्छा इलाज है। जोजोबा के तेल में मौजूद सीबम सिर को पोषण देता है। तेल से मालिश करें और 1 घंटे बाद शैम्पू कर लें।

हेयर ट्रांसप्लांट सर्जरी के तकरीबन २ हफ्ते बाद बाल उगने शुरू हो जाते हैं और पूरे बाल आने में 7-10 महीने का समय लगता है। शर्त यह है आपको डॉक्टर दुवारा दी गई हिदायतों का पालन करना होता है। यह बाल बिलकुल कुदरती बालों की तरह होते हैं जिन्हें आप कटवा सकते हैं, कलर कर सकते हैं और अपना मनचाहा हेयर स्टाइल रख सकते हैं। आँखों की पलकों, भौहों या दाड़ी के बालों की समस्या को भी इस तकनीक से दूर किया जा सकता है।

दूध न सिफ कंप्लीट फूड है बल्कि इससे बनी चीजें भी बालों के लिए काफी फायदेमंद है। ये विटामिन ए का अच्छा ोित हैं। इनके सेवन से स्काल्प में सीबम का निमाण बढ़ता है जिससे बाल उगने आसानी होती है और बाल झड़ते नहीं हैं।

—-बाल उखाड़ने से दूसरे बाल सफेद होते हैं अक्सर लोग सफेद बाल उखाड़ने से मना करते हैं क्योंकि उनका मानना होता है कि अगर एक बाल उखाड़ेंगे, तो उसकी जड़ से द्रव निकलेगा, जो आसपास के बालों को भी सफेद कर देगा। यह गलत है।

कुछ सालों पहले तक लोगों के सिर पर काफी बाल होते थे। यह वह समय था जब सौन्दर्य उत्पादों और रसायनों का प्रयोग ना के बराबर किया जाता था। तब रास्ते में प्रदूषण भी काफी कम होता था। पर आजकल चीज़ें काफी बदल गयी हैं। लोग अब निरंतर बालों के झड़ने और पतले होने की शिकायतें करते पाए जाते हैं।

अगर आपके परिवार में कोई भी एलोपेसिया का शिकार हुआ है तो आपके बाल झड़ने की संभावना इससे बढ़ जाती है महिलाओं में हम एंड्रोजेनेटिक एलोपेसिया नहीं देख पाते जिससे कि पूर्ण गंजापन होता है, परन्तु आप उनके बाल पतले होते महसूस कर सकते हैं।

पुरुष पैटर्न गंजापन बालों के झड़ने का एक आनुवंशिक रूप है कि किसी भी उम्र में पुरुषों को प्रभावित कर सकते है. इसके अतिरिक्त यह भी कहा जाता है androgenetic खालित्य. यह राज्य पुरूष हार्मोन के लिए आनुवंशिक संवेदनशीलता के कारण होता है dihydrotestosterone (DHT). DHT टेस्टोस्टेरोन के एक सक्रिय मेटाबोलाइट है. टेस्टोस्टेरोन एंजाइम के साथ सूचना का आदान प्रदान जब 5 अल्फा रिडक्टेस, यह DHT का निर्माण करती है. इस रूपांतरण त्वचा में विशेष कोशिकाओं पर और वृषण में क्या होता है. DHT एक मजबूत संबंध शरीर में रिसेप्टर्स एण्ड्रोजन के लिए है और टेस्टोस्टेरोन की तुलना में कहीं अधिक शक्तिशाली है; इस कारण DHT पुरुष कामुकता में एक महत्वपूर्ण हार्मोन है.

आजकल खून की कमी महिलाओं में बहुत बड़ी समस्या बन गयी है। 20 में से 10 महिलाएं एनीमिया का शिकार होती हैं। शरीर में आयरन की कमी के कारण एनीमिया होता है। ऐनीमिया से पीड़ित लोगों के बाल नाजुक और पतले होते हैं। शरीर में आयरन की कमी के कारण लाल रक्त कोशिकाओं की कमी होती है। ये लाल रक्त कोशिकाएं बालों के रोम सहित पूरे शरीर में ऑक्सीजन को पहुंचाने का काम करती हैं। पर्याप्त ऑक्सीजन के बिना बालों के विकास और मजबूती के लिए जरूरी आवश्यक पोषक तत्व नहीं मिल पाते हैं जिसके कारण बाल झड़ने की समस्या पैदा हो जाती है। द जर्नल ऑफ़ द अमेरिकन अकादमी ऑफ़ डर्मेटोलॉजी में प्रकाशित 2006 के एक अध्ययन में कहा गया है कि आयरन की कमी बालों के झड़ने का मुख्य कारण होता है। इसके कारण एलोपेशीया एरेटा, पुरूषों में गंजापन और डिफ्यूज हेयर लॉस संबंधित समस्याएं भी हो सकती हैं। यदि आप में आयरन की कमी है तो आप आयरन युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करें या अपने डॉक्टर से परामर्श के बाद आयरन के पूरक लें। (और पढ़ें – बालों के लिए किस हेयर आयल का इस्तेमाल करें और कैसे, जानिए फेमस हेयर एक्सपर्ट जावेद हबीब से)

नींबू कर बीज और काली मिर्च का मिश्रण सिर के खाली भागों को ढ़कने का अच्छा तरीका है। नींबू के बीज का पाउडर बनाएं और इसे काली मिर्च के पाउडर के साथ मिलाएं। पानी की मदद से महीन पेस्ट बनाएं। इस पेस्ट को सिर पर लगाएं और मालिश करें। इसे 25 मिनट तक छोड़ दें तथा उसके बाद धो लें। इस प्रक्रिया को हफ्ते में एक बार ज़रूर दोहराएं।

अगर आप अपने बालों को मजबूत और चमकदार बनाना चाहते हैं तो आपको एलोवेरा का इस्तेमाल करना चाहिए। एलोवेरा जेल से सिर पर अच्छे से मालिश करनी चाहिए जब आप सप्ताह में दो बार एलोवेरा जेल से मालिश करते हैं तब आपके बाल झड़ना बंद हो जाते हैं। साथ ही इससे रूखे बालों को भी पोषण मिलता है।

लौकी के बीज protein से भरे होते हैं और इनमें minerals की मात्रा भी काफी अधिक होती है। इस वजह से ये बीज बालों के लिए काफी अच्छे होते हैं। इस बीज का प्रयोग करना शुरू करने पर आपको बाल झड़ने की समस्या में कमी आती दिखना शुरू हो जाएगा। इस बीज के इस्तेमाल से मर्द Prostatic Hyperplasia की स्थिति से भी बच सकते हैं।

प्रत्येक व्यक्ति काले और घने बालों की चाहत रखता है। बालों का असमय झड़ना किसी को अच्छा नहीं लगता। बाल झड़ने का सीधा असर खूबसूरती पर पड़ता है। कम बालों के कारण इंसान उम्र में भी अधिक लगता है। वर्तमान समय में यह समस्या बहुत तेज़ी से बढ़ रही है। एक अध्ययन के अनुसार, पुरुषों में बाल झड़ने की समस्या महिलाओं की तुलना में अधिक पायी जाती है। लेकिन बालों का झड़ना और पतला होना महिलाओं में भी कम नहीं है लेकिन इसके कारण ज़रूर भिन्न भिन्न हो सकते हैं। बालों का झड़ना रोका भी जा सकता है लेकिन इसके लिए ज़रूरी है सही कारण का पता होना। तो आइये जानते हैं कुछ ऐसे ही कारण जिनकी वजह आपके बाल झड़ रहे हैं। (और पढ़ें – बाल झड़ने से रोकने के घरेलू उपाय)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *