“कुत्तों के पैर की उंगलियों पर बालों के झड़ने बाल विकास तेजी से खुराक”

जब आप बालों के झड़ने उपचार के लिए शैंपू का प्रयोग करें, यह कुछ भी रासायनिक बनाया बनाम एक प्राकृतिक शैंपू के साथ जाने के लिए महत्वपूर्ण है। प्राकृतिक अवयवों की खोज की गई है और बस सदियों के लिए इस्तेमाल किया क्योंकि वे खुजली, सूखापन, और रसायन कर सकते हैं अन्य खोपड़ी रोगों की तरह कठोर प्रतिक्रिया का कारण नहीं। शैंपू की गोलियाँ या विटामिन के साथ आप बालों के झड़ने के इलाज को बढ़ावा देनेके लिए पर्याप्त पोषक तत्व प्राप्त कर रहे हैं यह सुनिश्चित करने के लिए इस्तेमाल किया जा करने के लिए सिफारिश कर रहे हैं।

हम में से अधिकांश लगता है कि केवल उम्र बढ़ने पुरुषों को अपने बालों को खो. लगभग हर आदमी अंत में नुकसान और सिर के शीर्ष पर एक एम के आकार का सिर के मध्य के गठन में जिसके परिणामस्वरूप बाल का पतला होना ग्रस्त, के रूप में भी पुरुष पैटर्न गंजापन के लिए भेजा. यह एंड्रोजेनिक एलोपेसिया है, DHT के रूप में जाना टेस्टोस्टेरोन का एक उपोत्पाद से शुरू हो रहा है जो. दोनों लिंगों उम्र के लोगों के रूप में, उनके बाल कूप छोटे पतले होने में जिसके परिणामस्वरूप / बाल के असमान विकास मिलता है. क्योंकि यह वह जगह है, जहां ज्यादातर हार्मोन के प्रति संवेदनशील कूप पाए जाते हैं कारण है कि आगे और सिर के ऊपर बाल thinning के लिए सबसे अधिक पीड़ित करने के लिए प्रकट होता है. पीठ पर बाल कूप और पक्षों DHT से प्रभावित नहीं हैं और इस तरह स्वस्थ रहने.

यह बालों का झड़ना रोकने और बालों को घना बनाने में भी यह बेहद उपयोगी होता है। इसके इसी गुण के कारण हर हेयरकेयर उत्‍पाद में जरुर इस्‍तेमाल किया जाता है। इस तेल का प्रभाव आपको काफी जल्‍दी देखने को मिल सकता है।

पुरुषों और महिलाओं में गंजेपन के लक्षण अलग-अलग हो सकते हैं। आमतौर पर पुरुषों में गंजेपन की शुरुआत में बाल इस तरह से झड़ते हैं कि सिर पर बालों का हिस्सा ‘रू’ आकार में नजर आता है। धीरे-धीरे बालों का झड़ना अधिक हो जाता है और यह आकार बदलकर ‘’ हो जाता है।

आयरन मेटाबोलिज्म : आयरन मेटाबोलिज्म में कमी भी बाल झड़ने का कारण बन सकती है। भले ही एनीमिया जैसी कोई समस्या न हो, फिर भी आयरन मेटाबोलिज्म में समस्यायें बाल झड़ने की समस्या को बढ़ा सकती हैं। उच्च कोलेस्ट्रॉल : उच्च कोलेस्ट्रॉल बाल झड़ने का एक महत्वपूर्ण कारण है। इसके चलते रक्त आपूर्ति कमजोर हो जाती है तथा यह सिर की त्वचा में बालों के पतले होने का कारण बनता है।

ट्रांसप्लांटेशन. प्रत्यारोपण के दौरान, एक प्लास्टिक सर्जन पीठ या खोपड़ी की ओर से त्वचा के एक छोटे पैच लेता है. प्रत्येक इन पैच की एक करने के लिए कई बाल होते. टोपी फिर सफेद सिर के अनुभागों में प्रत्यारोपित कर रहे हैं और ऑपरेशन किया है. कोई भी समस्या किसी एकल कार्रवाई में उम्मीद करनी चाहिए. कि कई सत्र ट्रांसप्लांटेशन के सभी लक्षणों में सुधार करने के लिए आवश्यक हो सकता है यही कारण है कि.

हाल में हुए एक शोध में यह पाया गया है कि पल्मेट्टो नामक एक दवा के सेवन से लोगों में बालो का बढ़ना ज़्यादा होता है। जिन लोगों ने 400 मिलीग्राम पल्मेट्टो तथा 100 मिलीग्राम बीटा साइटोस्टेरॉल रोज़ाना लिया उनके बालों में वृद्धि हुई। प्राचीन काल से पल्मेट्टो का प्रयोग बाल उगाने के लिए किया जाता है।

बालों के कम होने का मुख्य कारण हॉर्मोन की असमानता होती है। जापान के वैज्ञानिकों के मुताबिक़ ५- अल्फा रेडक्टेस बढ़ाने के लिए सिर में तेल की अतिरिक्त मात्रा उत्पन्न होती है। इस शोध में पाया गया वसा के सेवन से सीबम की मात्रा बढ़ती है।

The opinions expressed herein are authors personal opinions and do not represent any one’s view in anyway. Do not use this information to diagnose or treat your problem without consulting your doctor.

बालों के लिए नींबू और आंवला कितने फायदेमंद है, यह बताने की जरूरत नहीं। विटामिन-सी से भरपूर ये दोनो पदार्थ बालों के लिए किसी अमृत से कम नहीं। अगर आप अपने सफेद बालों को काला करना चाह रहे हैं, तो नींबू के रस में आंवले का पेस्‍ट मिलाकर सिर पर लगायें। नियमित रूप से ऐसा करने से कुछ ही दिनों में आपके बाल काले होना शुरू हो जाएंगे। आंवला खाने के अलावा, आंवले के पाउडर में नींबू मिलाकर नियमित रूप से लगाएं। शैंपू के बाद आंवला पाउडर पानी में घोलकर लगाने से बालों की कंडीशनिंग तो होती ही है, साथ ही इनका रंग भी बरकरार रहता है।

आयुर्वेदिक शरीर में पित्त दोष के कारण बालों को गिरने में मदद करता है। यह दोष आपके आसपास कि जलवायु में अत्यधिक गर्मी का कारण हो सकता है जो बालों के उगने कि प्रक्रिया को बाधित करता है और बालों को झड़ने में मदद कर सकता है। शराब, कॉफी, चाय, धूम्रपान, तेल, मसालेदार और अम्लीय खाद्य पदार्थों के सेवन को कम करके आपके पित्त दोष को रोकता है जिससे आपको पर्याप्त नींद मिलती है। एक अच्छी नींद, तनाव प्रबंधन और बाल विकास को बढ़ावा देने के लिए यह पहला कदम है।

बाल झड़ने की समस्या को रोकने में यह उपाय बहुत कारगर साबित होगा। तीन चम्मच दही के साथ काली मिर्च पाउडर के 2 चम्मच को मिलाएं। मिश्रण को अच्छे से मिलाने के बाद इस पेस्ट की सिर पर हल्के से मसाज करें और फिर एक घंटे छोड़ने के बाद शैम्पू कर लें।

आवला बालो के लिए बहुत ही उत्तम होता है जो की बालो का झड़ना भी कम करता है और आपको देता है लंबे, काले बाल। रोजाना आवला का रस बालो मे २० मिनिट लगाकर रखे फिर पानी से या शैम्पू से धो ले। पर बाजार से कोई भी सोन्दर्य प्रसाधन खरीदने से पहले ये देख ले की उसमे आवला तो नही है। रासॉय्निक पदार्थो के साथ आवला का उपयोग ना करे।

आनुवंशिकता – पुरुषों में पाया जाने वाला टेस्टोस्टेरोन हार्मोन डीहाइड्रोटेस्टोस्टेरोन हार्मोन में बदल जाता है जो सिर पर आगे के बालों के लिए जिम्मेदार होता है। इस हार्मोन का स्तर बढ़ने से सिर के आगे के बालों की जड़े कमजोर हो जाती है और बाल झड़ने व टूटने लगते हैं।हेयर ट्रांसप्लांट केवल 18 से 65 साल के बीच ही करवाना सही रहता है।

ऐसे तो हर रोज सभी लोगो के कुछ मात्रा में बाल गिरते ही है पर अगर यह मात्रा जब  ज्यादा हो जाये  तो जल्द ही इस ओर ध्यान देना जरुरी है।  बालो का असमय झड़ने के कई कारण हो सकते है और उन कारणो की जानकारी निचे दी गयी है।

3. जैतून के तेल के साथ प्याज का रस मिलाकर लगाने से भी बालों की ग्रोथ अच्छी होती है. प्याज के रस को जैतून के तेल में अच्छी तरह मिलाकर बालों की जड़ों और सिरों पर लगाएं. इससे कुछ ही दिनों में आपको फर्क नजर आने लगेगा.

अगर आप अपने बालों को मजबूत और चमकदार बनाना चाहते हैं तो आपको एलोवेरा का इस्तेमाल करना चाहिए। एलोवेरा जेल से सिर पर अच्छे से मालिश करनी चाहिए जब आप सप्ताह में दो बार एलोवेरा जेल से मालिश करते हैं तब आपके बाल झड़ना बंद हो जाते हैं। साथ ही इससे रूखे बालों को भी पोषण मिलता है।

नारियल का दूध विटामिन ई और वसा से समृद्ध है जो आपके बालों को नमी देता है साथ ही स्वस्थ भी रखता है। दूध पोटेशियम से समृद्ध होता है और इसमें अन्य महत्वपूर्ण घटक भी पाए जाते है जो बालों को बढ़ाने के लिए बेहद लाभकारी है। नारियल का दूध प्रोटीन, वसा और खनिजों जैसे पोटेशियम से समृद्ध होता है। इस प्रकार, नारियल के दूध से आप अपने बालों को धोकर टूटने से बचा सकते हैं। नारियल के तेल में भी इसी तरह के पोषक तत्व पाए जाते हैं जिससे जड़ें आपकी मजबूत होती हैं और दो मुहें बाल भी नहीं होते। इस तेल के साथ नियमित रूप से अपने बालों में मसाज करने से बाल झड़ते नहीं हैं। आप नारियल को कस लें और दूध के साथ कसे नारियल को मिला लें साथ ही इसमें थोड़ा पानी भी डालें। इसमें जीवाणुरोधी गुण होते हैं जो बालों को झड़ने से बचाते हैं। 

• एक कटोरी में 250 एम.एल. सरसों का तेल लें और उसमें 60 ग्राम सूखा और साफ किया हुआ मेंहदी का पत्ते डालकर पत्तियों के पूरा जलने तक उबालें और फिर सूती कपड़े में इस मिश्रण को छान लें। ठंडा होने के बाद हवाबंद जार में इस तेल को डालकर रख दें। नियमित रूप से इस तेल को बालों में लगायें।

HKEMS या अन्य एक्सप्रेस द्वारा भेजे गए हैं, ट्रैकिंग नंबर अगले दिन प्रदान किया जाएगा। और इसका मतलब यह नहीं जानकारी है कि दिन trackable है। यह 2 या 3 दिन बाद इंटरनेट पर जारी किया जाएगा, क्योंकि पार्सल हांगकांग मुट्ठी के लिए भेज दिया गया है, और उसके बाद उड़ान के लिए प्रतीक्षा करें।

दोस्तों अब आपको यह तो पता चल गया कि आखिर बालों के झड़ने के क्या कारण होते है. किन्तु बालों को झड़ने से रोकने के लिए आपको ऊपर बताये गये कारणों का निवारण करना होगा मतलब कि ऊपर बताये गये कारण में से आप जो गलती कर रहे है उसका पता लगाये और फिर उस कारण को दोबारा करने से बचे या उसका उपचार करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *