“केमो दर्द से बालों के झड़ने +केमो और विकिरण के बाद बालों के झड़ने”

सिंथेटिक केश – गंजेपन से प्रभावित हिस्से को ढंकने के लिए विशेष रूप से निमित बालों का प्रयोग किया जा सकता है। यहां ध्यान देने की बात यह है कि इन बालों के नीचे की खोपड़ी को नियमित रूप से धोते रहना जरूरी है, इसमें किसी किस्म की कोताही नहीं बरती जानी चाहिए। एक और तरीका है कृत्रिम बालों की बुनाई कराना, जिसके तहत मौजूदा बालों के साथ कृत्रिम केशों की बुनाई की जाती है।

आप तनाव से दूर रहें: एंड्रोजेनिक एलोपिशिया (androgenic alopecia) का तनाव से कोई सम्बंध नहीं है परंतु, तनाव के कारण बाल झड़ते हैं। अपने बालों को स्वस्थ्य रखने के लिए उन चीजों से बचे जिनकी वजह से आप की ज़िंदगी में तनाव सक्रिय होता है। तीन तरह के तनाव से बाल झड़ने की अवस्थाओं को मान्यता प्राप्त है।[२२]

बालों का सीधा संबंध पेट से होता है। यदि पाचन तंत्र और हाजमा ठीक नहीं है तो बालों की जड़ें कमजोर होंगी लगातार कब्ज रहने से hair follicles कमजोर हो जाते है और बाल टूटने व झडऩे लगते हैं। इसलिए अपने खान-पान और हाजमे को हमेशा ठीक रखें।

प्राकृतिक जड़ी बूटियों का एक पौष्टिक मिश्रण, विटामिन और खनिज सूत्र में जुड़ जाते हैं. जड़ी बूटी इन विटामिनों और खनिजों के साथ-साथ बालों को पोषण की आपूर्ति पूरे खोपड़ी के रूप में. Provillus एक सामयिक समाधान है कि यह भी एक में इस्तेमाल किया जा सकता है और साथ ही एक कैप्सूल प्रकार में आता है 2 कदम प्रक्रिया लाभ को अधिकतम करने के. Provillus एक पर्चे की जरूरत नहीं है.

आप घर पर बल झड़ने से रोकने वाला शैम्पू तैयार कर सकते है। इसके लिए पांच बड़े चम्मच दही, एक बड़ी चम्मच नीम्बू का रस और दो बड़े चम्मच कच्चे चने का पाउडर एक साथ डालकर अच्छी तरह इसका पेस्ट बना ले। नहाने से पहले इस पेस्‍ट को बालों में लगाइए, 30 मिनट बाद बालों को धो लीजिए। कुछ समय लगातार ऐसा करने से बलों का झड़ना कम किया जा सकता है।

Always take the right diet. A good diet for your hair will be rich in Vitamin A and C, Iron, Zinc, Omega-3-fatty acids, protein, etc. and these all you should get in foods like soybean, almonds, broccoli, spinach, nuts, fish and fresh fruits.

➤ एक पके हुये केले को लेकर उसे अच्छी तरह से मसल ले, अब इसमें थोड़ा सा निम्बू का रस मिलाकार पेस्ट बना ले। अब इस पेस्ट को बालों में लगाये, 30 मिनट के बाद बाल को धो ले। इस प्रयोग से नये बाल उगने लगते है। 

गंजापन दुर्भाग्य से सभी पुरुषों को होता ही है। यह पुरुष आनुवंशिक कोड में लिखा होता है और उम्र बढ़ने से जुड़ा हुआ है। किन्तु गंजापन तब एक समस्या बन जाता है, जब यह विकराल हो जाता है – उदाहरण के लिए एक व्यक्ति 20 या 30 वर्ष की उम्र में, जिसके बाल झड़ने पहले ही शुरू हो चुके हैं या 40 वर्ष की उम्र का एक ऐसा व्यक्ति जिसका गंजापन 60 वर्ष की आयु वाले व्यक्ति के समान है। गंभीर गंजापन भले ही किसी भी उम्र में हो, हमेशा एक कॉस्मेटिक समस्या को जन्म देता है, भले ही 20 की उम्र में हो या 60 में, चूँकि यह व्यक्ति की अपीयरेंस में कहीं न कहीं कमी उत्पन्न करता है।

हार्ट केयर फाउंडेशन ऑफ इंडिया (एचसीएफआई) के अध्यक्ष पद्श्री डॉ. के.के. अग्रवाल ने कहा, “फाइब्रॉएड गर्भाशय की मांसपेशी के ऊतकों में शुरू होते हैं। वे गर्भाशय की कैविटी में, गर्भाशय की दीवार की मोटाई या पेट की गुहा में बढ़ सकते हैं। फाइब्रॉएड के लिए मेडिकल शब्द है- लेय्योमायोमा। फाइब्रॉएड शरीर में स्वाभाविक रूप से उत्पादित हार्मोन एस्ट्रोजन द्वारा उत्तेजना की प्रतिक्रियास्वरूप विकसित होते हैं। इनकी वृद्धि 20 साल की उम्र में दिख सकती है, लेकिन रजोनिवृत्ति के बाद ये सिकुड़ जाते हैं, जब शरीर एस्ट्रोजेन का बड़ी मात्रा में उत्पादन बंद कर देता है।”

मास्क बनाने के लिए, अंडे को तोड़ें और अंडे के जर्दी को अलग कर लें; उजले हिस्से को बालों पर लगा लें और स्वस्थ और चमकदार बालों को पाने के लिए इसे १५-२० मिनट तक ऐसे ही रहने दें । जब यह नियमित रूप से इस्तेमाल होता है तो बालों को तेजी से बढ़ने में मदद करता है ।

यह एक परिवर्तनकारी उपचार है जो इलाज़ के 3 से 4 हफ्ते के अन्दर ही बाल विकास प्रदान करता है। उपचार के तीन सेशन के बाद ही बाल में बढने की 30 से 40% की वृद्धि हो जाती है। आमतौर पर छह सेशन की आवश्यकता होती है। सप्ताह में एक बार 2 महीने में लगभग 10 बार उपचार से इस समस्या को काफी हद तक दूर किया जा सकता है। उपचार के साथ साथ रोगियों को खुराक भी दी जाती है। स्टेम सेल थेरेपी मृत बालों को रोम से हटाता है और रोम में नए स्वस्थ बाल विकसित करता है। और यह एक वास्तविकता है की इस तथ्य के बारे में इनकार नही किया जा सकता है। बालो का झड़ना लोगो के लिए बहुत निराशाजनक है।

सर्वप्रथम, लागत अपनाई गई प्रक्रिया के प्रकार के अनुसार भिन्न होती है। एफ़यूई, पट्टी (स्ट्रिप) विधि की तुलना में अधिक महंगी है, चूँकि इसके अधिक लाभ हैं और केवल कुछ सर्जन ही इसकी पेशकश कर सकते हैं। एफ़यूई में पट्टी विधि की तुलना में सर्जन का समय भी अधिक लगता है।

हेयर ट्रांसप्लांट सर्जरी एक कॉस्मेटिक प्रक्रिया है, जिसकी मदद से सिर के पिछले व साइड वाले हिस्से से, दाढ़ी, छाती आदि से बालों को लेकर सिर के गंजे भाग में implant कर दिया जाता है। इसकी वजह यह कि सिर के पिछले हिस्से के बाल आमतौर पर नहीं झड़ते इस लिए सिर के पीछे के बाल ही implant किये जाते हैं। हेयर ट्रांसप्लांट सर्जरी के तकरीबन २ हफ्ते बाद बाल उगने शुरू हो जाते हैं और पूरे बाल आने में ८ -१० महीने का समय लगता है। शर्त यह है आपको डॉक्टर दुवारा दी गई हिदायतों का पालन करना होता है। यह बाल बिलकुल कुदरती बालों की तरह होते हैं जीने आप कटवा सकते हैं, कलर कर सकते हैं और अपना मनचाहा हेयर स्टाइल रख सकते हैं। आँखों की पलकों, भौहों या दाड़ी के बालों की समस्या को भी इस तकनीक से दूर किया जा सकता है।

तनाव (Tension) – आजकल लोगो का लाइफ स्टाइल बहुत बिजी हो गया है, ऐसे में उन्हें अपना ख्याल रखने का टाइम नहीं मिलता| काम अधिक करने के कारण शरीर ऊर्जा की बड़ी मात्रा की खपत करता है| जिसके कारण तनाव का स्तर बढ़ता जाता है| तनाव के कारण हेयर फॉल की प्रॉब्लम होने लगती है| महिलाओं के साथ ऐसा ज्यादा होता है| ऐसा जरुरी नहीं कि तनाव होने पर बाल झड़ने शुरू हो जाये, लेकिन अधिकतर मामलो में तनाव के कारण बाल झड़ने लगते है|

खोपड़ी और जड़ों सभी बाल पहले से अधिक पर लागू करें। तब जो कुछ छोड़ दिया है बाल किस्में पर लागू होते हैं कि। आपको लगता है कि अंडा कम हो रही है, तो एक और खुला टूट गया। एक और अंडा उपलब्ध नहीं है तो पतला या अंडे में कुछ शहद और दूध का उपयोग करने के कुछ नींबू का रस का उपयोग करें।

बालों के झड़ने का एक मुख्य कारण एलोपेशीया एरेटा विकार है जिसमें प्रतिरक्षा प्रणाली बालों की जड़ों पर हमला करती है और बाल झड़ने लगते हैं। यह विकार महिला और पुरुष दोनों को प्रभावित करता है। यह विकार 20 साल से कम उम्र के लोगों में सबसे आम है लेकिन यह किसी भी उम्र के लोगों को प्रभावित कर सकता है। (और पढ़ें – बालों के झड़ने और सफेद होने से रोकने के लिए आयुर्वेदिक सुझाव)

यह अनचाहे बाल विकास हो सकता है। जब वे minoxidil का उपयोग कुछ महिलाओं को चेहरे बाल विकास अनुभव हो सकता है। यही कारण है कि यदि दवा अपने चेहरे पर या बस एक पक्ष प्रभाव है जब आप इसे केवल अपने सिर को लागू के रूप में नीचे trickles हो सकता है। जोखिम महिलाओं को जो दवा की 2 प्रतिशत एकाग्रता का उपयोग के रूप में 5 प्रतिशत एकाग्रता है कि पुरुषों के लिए बनाया गया है का विरोध करने के लिए कम है।

अनार के बेहतरीन स्वाद से हम सब परिचित हैं, पर कम ही लोग जानते है की यह बालो के लिए कितने फायदेमंद हैं। अनार के बीज बालों को पोषण देते हैं तथा सर की खुजली और सूखेपन से बचाते हैं। आप रूखे, सूखे बालों के लिए प्राकृतिक hair pack द्वारा इसके रस का प्रयोग कर सकते हैं, या अच्छे परिणामों के लिए इसे बादाम या जोजोबा के तेल के साथ मिला कर लगाए।

गंजेपन का इलाज वैसे तो दिन-ब-दिन बेहतर होता जा रहा है | हालांकि इसके उपचार की अन्य तकनीकें भी काफी एडवांस हो चुकी हैं लेकिन बहुत से लोगों के लिए Non Surgical Hair Replacement (नॉन सर्जिकल हेयर रिप्लेसमेंट) का मतलब नकली बाल, बिग होता है, लेकिन सच में यह ऐसा नहीं है | नॉन सर्जिकल हेयर रिप्लेसमेंट की टेक्निक इन दिनों काफी एडवांस हो चुकी है, खासतौर पर पुरुषों के लिए तो यह गंजेपन से छुटकारा पाने का एक असरदार तरीका बन गई है | यहां पार हम आपको डिटेल में बताएंगे कि नॉन सर्जिकल हेयर रिप्लेसमेंट क्या होता है और इसके साथ ही आपको इससे जुड़ी और भी जानकारियां और ट्रीटमेंट के Procedure के बारे में भी बताएंगे | साथ ही कुछ ऐसी परिस्थितियों के बारे में जानेंगे कि यह तकनीक कहां पर असरदार है, इसके साथ ही इससे होने वाले नुकसान के बारे में भी कुछ बताएंगे |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *