“जमैकाकोन प्राकृतिक बाल विकास यात्रा 1 वर्ष”

गुड़हल के फूलों द्वारा बालों का उपचार एक भारतीय प्राचीन परम्परा है और आयुर्वेद में भी इस उपचार के बारे में बताया गया है. अगर आप बालों को तेजी से लम्बा करना चाहती हैं तो गुड़हल के लाल फूलों को मेहँदी के ताजे पत्तों के साथ पीस कर बालों में मास्क की तरह लगा कर कम से कम 2 घंटे रखें और इसके बाद किसी अच्छे माइल्ड शैम्पू से धों लें. यह बालों को जल्दी लम्बा बनाने का प्राकृतिक उपाय है.

आंवला के फल को पीस लें या आंवला पावडर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। एक कटोरी में दो छोटा चम्मच आंवला का जूस या पावडर लें और उसमें दो छोटा चम्मच नींबू का रस डालकर अच्छी तरह से मिला लें। उसके बाद उस पेस्ट को सिर पर अच्छी तरह से लगाकर सूखने के लिए छोड़ दें। सूखने के बाद गुनगुने गर्म पानी से बालों को धो लें।

आजकल हमारी लाइफस्टाइल तेजी से बदल रही है जिसकी वजह से हमारा खान पान भी अनियमित हो गया है, और यही कारण है की बहुत से लोग बाल झड़ने, बाल टूटने और गंजापन जैसी परेशानियों जूझ रहे है, इसलिए हेल्थी कहना खाये और अपने बालों की देखभाल करते रहे।

१३. शाना के बीज(Shana Seeds for hair growth): बालों को बढ़ाने के लिए शाना के बीज का प्रयोग करें। यह एक बेहतरीन आयुर्वेदिक नुस्खा है जो बालों का झड़ना रोकता है। शाना के बीज का पाउडर लें तथा इसे नारियल के तेल के साथ मिलाएं जिससे कि इनका पेस्ट बन जाए। इस पेस्ट को अपने सिर पर लगाकर अपने सिर की मालिश करें। १५ मिनट के बाद शैम्पू कर लें।

Postoperatively, pain during the postoperative period is muc less in the FUE procedure specially. In fact this is one of the important advantages of FUE. Analgesic tablets do have to be taken for about three days postoperatively since some amount of postoperative pain is natural. NSAID painkillers are sufficient to control the pain completely and the patient usually finds that he can stop the painkillers after about three days or so.

बालों को झड़ने से रोकना कोई कठिन काम नहीं है बल्कि अगर उचित देखभाल, सावधानी और कुछ चीजो से परहेज किया जाये तो बालों का झड़ना बहुत ही कम हो जाता है. अगर आप उन लोगो में से है जिनके बाल झड़ना अभी शुरू हुआ है तो आप अभी से सावधानी बरतना आरम्भ करे और उचित उपाय अपनाये।

सर से गायब होती घने, काले और चमकदार बालों कीफसल सभी के लिए परेशानी का सबब होती है, चाहे वो पुरुष हों या फिर स्त्री। हालांकि कुछ बायलॉजिकल कारणों से स्त्रियां उस तरह बाल नहीं खो सकतीं जिस प्रकार पुरुष खोते हैं लेकिन बालों का झड़ना स्त्रियों के लिए भी उतना ही यंत्रणादायक होता है।बहरहाल, एक अध्ययन के दौरान यह बात सामने आई है कि पुरुषों में गंजेपन का कारण अक्सर जेनेटिक होता है यानी कि आनुवांशिक तौर पर भी आपको यह परेशानी विरासत में मिल सकती है, जबकि स्त्रियों में बाल झड़ने के पीछे मुख्य कारण तनाव या मानसिक परेशानी होती है।NDअध्ययन के अनुसार वे स्त्रियां जिनका वैवाहिक जीवनतनावभरा होता है, जो असमय अपने पति या किसी अपने को खो देती हैं या फिर जो तलाक जैसी स्थिति से गुजर रहीहोती हैं, उनके सर के बीच वाले हिस्से यानी मांग या पार्टिंग से बालों का झड़ना आम बात होती है। वे स्त्रियां अन्य स्त्रियों की तुलना में ज्यादा आसानी से मिडलाइनहेयर लॉसका शिकार बन जाती हैं।इसके अलावा धूम्रपान, डायबिटीज, हाई ब्लडप्रेशर तथाज्यादा बच्चों या ज्यादा आमदनी से उपजा स्ट्रेस (तनाव) भी महिलाओं में बालों के झड़ने का कारण बन सकता है। इनकी तुलना में वे महिलाएं जो स्कॉर्फ, हैट या अन्य तरीकों से बालों को सूरज की हानिकारक किरणों से बचाती हैं, जिनका वैवाहिक जीवन खुशियों से भरा है तथा जो सामान्य मात्रा में कॉफी पीती हैं उनके बाल कम झड़ते हैं।वहीं पुरुषों में हाई ब्लडप्रेशर, टेस्टोस्टेरॉन का हाई लेवल, सूरज की किरणों से ज्यादा सामना, डैंड्रफ, अत्यधिक मद्यपान आदि भी गंजेपन का कारण बनसकते हैं। तो अपने स्ट्रेस को सही तरीके से मैनेज करके आप बालों का झड़ना काफी हद तक कम कर सकती हैं।

गत 60 वर्षों से, 3 में से 2 पुरुष बाल झड़ने की समस्या का सामना कर रहे हैं। कई बार तो यह पुरुषों में सेक्स हॉर्मोन में परिवर्तन के कारण होता है। कभी कभी यह इतना प्रबल होता है कि गंजेपन का कारण बन जाता है। पुरुषों में बाल झड़ने के अन्य कारण निम्नलिखित हैं :

परन्तु हमारे वर्तमान जीवनशैली में बहुत सारे लोग आज Hair loss यानि बालों के असीमित रूप से झड़ने के कारण बहुत परेशान है. हद तो तब हो जाती है जब कोई युवा अपने युवावस्था में ही गंजा हो जाता है और वह 23 की आयु में ही 42 साल का दिखाई देता है.

अब तो बाजार में ऐसे क्रीम भी आने लगे हैं जिसके जरिए बाल को आसानी से हटाया जा सकता है। क्रीम, शरीर से बाल हटाने का एक ऐसा तरीका है जिससे दर्द भी नहीं होता और आपको आराम भी मिलता है। एक्सपर्ट द्वारा जांचे हुए प्रोडक्ट को इस्तेमाल करके आप उस प्रोडक्ट को वांछित जगह पर लगाएं। बाल जड़ से गायब हो जाएंगे। हेयर रेमूविंग क्रीम बाल साफ करने का एक अच्छा और बेहतर विकल्प साबित हो रहा है। बाजार में गीली व सूखी दोनों ही तरह के क्रीम उपलब्ध है।

नई दिल्ली : जिन महिलाओं के बाल लगातार झड़ते हैं, उनमें गैर-कैंसर वाले ट्यूमर का खतरा बना रहता है। यह ट्यूमर गर्भाशय की दीवारों के भीतर होता है। सेंट्रल सेंट्रीफ्यूगल सिकेट्रिशियल एलोपेसिया (सीसीसीए) वाली महिलाओं में गर्भाशय के अंदर ट्यूमर का जोखिम पांच गुना अधिक होता है। एक नए शोध में यह पता चला है।

अगर आपकी खुराक छूट गई है तो आप इसको दूसरी खुराक से पहले ले लें। वो भी उस अवस्था में जब छूटी हुई खुराक को ज्यादा समय न बीता हो। अगर ज्यादा समय बीत गया है और दूसरी खुराक को लेना का समय हो तो छूटी हुई खुराक न ही लें। लेकिन ध्यान दें अपनी खुराक को दोगुना न करें।

बालों की हर तरह से देखभाल के लिए मुल्तानी मिट्टी एक प्राकृतिक और सरल उपाय है. इसे बालों की सुरक्षा और देखभाल के लिए कई वर्षों से महिलाएं इस्तेमाल करती आ रही हैं. मुल्तानी मिट्टी को पानी में भिगोकर रखें और इसे नर्म हो जानें दें. अब इसमें एक अंडे का सफ़ेद हिस्सा और दही मिलाकर पैक बना लें. इसे बालों की जड़ों और पूरे बालों में 1 घंटे तक लगा के रखने के बाद धोकर साफ़ करें. यह बालों को प्राकृतिक रूप से लम्बा करने का तरीका है जो इसे बढ़ने में मदद करता है.

यह आंशिक रूप से आत्म लगाया और आंशिक रूप से सामाजिक दृष्टि से लगाया अलगाव कारण है कि बालों के झड़ने और बाल विकास इसके विपरीत है तो इतने सारे लोगों के लिए महत्वपूर्ण असली है। यदि आप एक व्यक्ति के रूप में अच्छी तरह से बालों के झड़ने से पीड़ित है जो कर रहे हैं, तो तुम्हें पता होगा कितना आसान यह ऐसे लोगों के लिए लगभग बाल विकास समाधान के साथ जुनून सवार हो गया है।

शरीर के अनचाहे बालों से छुटकारा पाने के लिए वैक्सिंग सबसे बेहतरीन तरीका माना जाता है, लेकिन यह पीड़ादायक प्रक्रिया भी है जिसके कारण असहनीय दर्द भी होता है, लेकिन कुछ बातों को ध्‍यान में रखा जाये तो इसके दर्द से बचा जा सकता है।..

जैतून का तेल स्वास्थ्य के अन्य फायदे के अलावा डैन्ड्रफ खत्म करने और बालों के झड़ने से भी रोकता है साथ ही बालों के विकास में मदद करता है। जैतून का तेल रात में सोने से पहले सिर और बालों में लगाएं तथा बालों का कुछ मिनट तक मसाज करें। इसे एक घंटे या रात भर छोड़ दें। सुबह शैंपू लगाकर धो दें।

– नई (fue) कूपिक यूनिट निष्कर्षण बाल NeoGraft ™ डिवाइस का उपयोग कर प्रत्यारोपण – पुरानी ‘बाल प्लग’ या पट्टी कटाई, एक नई मशीन की सहायता न्यूनतम इनवेसिव बाल प्रत्यारोपण प्रक्रिया के विपरीत दोनों पुरुषों और महिलाओं को स्थायी रूप से करने की अनुमति देता है और undetectably खो बहाल कम वसूली समय और पारंपरिक प्रक्रियाओं की तुलना में कम परेशानी के साथ बाल. क्रांतिकारी NeoGraft ™ डिवाइस सर्जन कुशलता रोम फसल खोपड़ी के पीछे से व्यक्तिगत अनुमति देता है, कोई रैखिक निशान छोड़.

बालों के झड़ने से रोकने और घने बाल पाने का सबसे आच्छा तरीका है संतुलित आहार लेना। ऐसे आहार का सेवन करना चाहिए जिसमे की विटामिन और पौष्टिक तत्व जैसे विटामिन ए, सी, तांबा(कॉपर), लोहा(आयरन), ज़िंक मौजूद हो।हमेशा हाइड्रेटेड रहना चाहिये जो की बालो को घना बनाए रखता है इसलिए शरीर मे पानी कमी नही होने देना चाहिये और भरपूर मात्रा मे पानी का सेवन करना चाहिये।

बाल झड़ना कैसे रोके, सही समय पर बालों की मसाज करके आप बालों का झड़ना रोक सकते हैं। बालों की मसाज करने के लिए सही तेल चुनें। एक बार सही मसाज हो जाने पर सिर में रक्त संचार अच्छे से होता है और इससे बालों के तंतु (follicles) जागृत हो जाते हैं तथा नए बाल उगने में आसानी होती है। तेल की मालिश से बालों की जड़ें काफी मज़बूत हो जाती है। इस तरह आपके तनाव के स्तर में गिरावट आती है। आप सिर में मसाज करने के लिए विभिन्न तेल जैसे बादाम का तेल, नारियल का तेल, अरंडी (castor) का तेल, जैतून का तेल (olive oil), आंवला का तेल आदि चुन सकते हैं। मुख्य तेल में रोजमेरी तेल की कुछ बूँदें डालें। इससे आपके बालों की बढ़त की प्रक्रिया में तेज़ी आएगी। इसके लिए आप ऑर्गन तेल, एमु तेल तथा वीट जर्म के तेल का भी उपयोग कर सकते हैं। अपनी उँगलियों की सहायता से सिर में अच्छे से तेल लगाएं। हफ्ते में एक बार इस प्रक्रिया को दोहराएं।

हेयर स्टाइल टूल (Hairstyling Tool) – आजकल लोग फैशन के चलते अपने बालो पर एक से एक हेयर स्टाइल टूल का इस्तेमाल करते है| बालो को धुलने के बाद सुखाने के लिए हेयर ड्रायर का इस्तेमाल किया जाता है| बालो को सीधे करने के लिए Hair Straightener और घुंगराले करने के लिए Hair Curler का इस्तेमाल किया जाता है| इन हेयर स्टाइल टूल से बालो को सुखाना बहुत आसान होता है, लेकिन रिसर्च के अनुसार रोजाना ऐसा करना बालो के झड़ने का बड़ा कारण है| ये इलेक्ट्रॉनिक्स टूल बालो की जड़ो को धीरे धीरे कमजोर कर देते है, जिससे बाल कमजोर होकर झड़ने लगते है|

Bal jhadne se rokne ke upay mein pehle to aahar ko sudhare. Fresh fruit aur sabji ko dakhil kare taaki vitamins aur minerals mile. Saath me protein ki maatra badhaye aur iron jyada ho aise palak, beetroot ko khane me shamil kare. 

यह एक भारतीय मसाला है जो मेथी के नाम से जाना जाता है । यह प्रोटीन का एक समृद्ध श्रोत है और इसलिए बालों के विकास के लिए महत्वपूर्ण श्रोत का काम करता है । यह बालों को चमक और मजबूती देने में मदद करता है और रुसी के उपचार में भी कारगर होता है । एक कप मेथी के बीज को पानी में रात भर भिंगो कर छोड़ दें । इससे एक मिश्रण बना लें । बालों को तेल से मालिश करें और फिर मिश्रण से बालों पर एक मास्क बना दें । एक घंटे के लिए ऐसे ही छोड़ दें और फिर शैम्पू से इसे धो लें ।

पुरुषों में बालों का झडना सामान्‍य समस्‍या है। इसे एण्ड्रोजन एलोपेशिया कहते है। यह ज्यादातर अनुवांशिक कारणों से होता है और यह पीढ़ी दर पीढ़ी परिवारों में चलता है। पुरुषों के चालीस वर्ष की आयु के आसपास बाल झड़ना शुरू हो जाता है। लेकिन, कई लोगों में यह समस्‍या इससे पहले भी शुरू हो जाती है।

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेलू नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।

हमेशा जोश और जुनून से सराबोर रहने वाली युवा पीढ़ी देश की सबसे बड़ी पूंजी होती है| लेकिन अाज हमारी युवा पीढ़ी कई बीमारियों का शिकार हो रही है | जिसका कारण भी उन्हें नही पता चलता और समय के साथ वो बढ़ जाती है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *