“फाइनस्टेराइड के बाद बालों के झड़ने _बाल विकास अवरोधक बिकनी”

पारिजात- आदिवासी हर्बल जानकारों के अनुसार पारिजात की पत्तियों और बीजों का चूर्ण तेल में मिलाकर प्रतिदिन रात को बालों की जडों में मालिश करने से बालों का पुन: उगना शुरू हो जाता है, साथ ही, बालों के झडने को रोकने में मदद करता है।

परन्तु हमारे वर्तमान जीवनशैली में बहुत सारे लोग आज Hair loss यानि बालों के असीमित रूप से झड़ने के कारण बहुत परेशान है. हद तो तब हो जाती है जब कोई युवा अपने युवावस्था में ही गंजा हो जाता है और वह 23 की आयु में ही 42 साल का दिखाई देता है.

अपने बालों की देखभाल की रोकथाम का पहला उपाय है। पहने हुए या अपने बालों को कुछ बातें करने से परहेज यह की हानि को रोका जा सकता। बाल सांस तो आठ घंटे के लिए एक गेंद टोपी या किसी भी टोपी पहने, की जरूरत है या एक दिन में और अधिक महत्वपूर्ण बालों के झड़ने के लिए नेतृत्व कर सकते हैं। पसीने और गर्मी के रोम को मारने और बंद बाल तोड़ कर सकते हैं। यह एक औरत को तोड़ने और बाहर गिर करने के लिए यह कारण पोनीटेल में उसके बाल पहनने की तरह है। जैसे विरंजन या रंग बाल रसायन है निश्चित रूप से कुछ है कि बालों को ड्राई, कमजोर, और कर सकते हैं बन गया कारण होगा महत्वपूर्ण बालों के झड़ने के कारण, इस प्रकार ऐसी चीजों से परहेज मदद करता है।

घर पर लहसुन से बालों के झड़ने को रोकने के कई तरीके हैं. लहसुन बालों के झड़ने को तो रोकता ही है साथ ही साथ बालों के उगने में भी मदद करता है. लहसुन में सल्फर की मात्रा अधिक होती है जो बालों को बढ़ाने वाले केरेटिन को बनाने में मदद करता है.

१०. नारियल का दूध (coconut milk): नारियल के दूध में वसा और प्रोटीन होता है। इससे बाल बढ़ते हैं और बालों का झड़ना रुकता है। तेज़ परिणामों के लिए नारियल के दूध को बालों में लगाएं। नारियल को किसे और इसे पानी की मदद से पीसें। इस पेस्ट से दूध निकालें और अपने सिर और बालों के अंत में इसे लगाएं। इसे ३० मिनट तक छोड़ दें और फिर बालों को धो लें। इससे वसा और प्रोटीन बालों में आसानी से समा जाएंगे।

बालों को झड़ने से रोकने में मेथी काफी कारगर होता है। मेथी के बीज में ऐसे हामोन पाए जाते हैं जो बालों के विकास को बढ़ाने के साथ-साथ हेयर फालिकल्स को भी बनाता है। साथ ही इसमें प्रोटीन और निकोटिनिक एसिड पाया जाता है जो बाल को बढ़ने के लिए प्रेरित करता है। मेथी के बीज को रात भर पानी में फूलने के लिए छोड़ दें और फिर नहाने से पहले इसका पेस्ट सिर पर लगाएं।

बालों के झड़ने के लिए चिकित्सा कार्यकाल खालित्य है. वहाँ एक जनसंख्या लक्ष्य जो इस हालत से ग्रस्त है. पुरुषों, महिलाओं और बच्चों के एक जैसे बालों के झड़ने का अनुभव कर सकते हैं. अलग-अलग लोगों में अलग अलग तरीके इस शर्त को स्वीकार. कुछ लोगों का यह शर्म नहीं कर रहे हैं और उनके गंजापन बताने के लिए पसंद करते हैं इलाज नहीं है और यह छिपा नहीं. दूसरों के अलग-अलग उपचार बालों के झड़ने के लिए प्रयास करें और बाल शैलियों के साथ अपने गंजे हिस्से को कवर, मेकअप, टोपी या स्कार्फ.

शिकाकाई बालों को स्वस्थ रखने के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसमें विटामिन ए, सी, के और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं, जो बालों को पोषण देने के साथ उनका विकास भी करते हैं। आप चाहें तो अपने नारियल तेल में शिकाकाई भी मिक्‍स कर सकती हैं।आमला, रीठा और शिकाकाई से बनाएं शैंपू

प्रोफेसर ने कहा कि हमें अभी टेस्टिंग के और चरण पूरे करने हैं। हां, पहला चरण पूरी तरह से कामयाब रहता है। उन्होंने कहा हि हम त्वचा संबंधी जांच को आगे बढ़ाने की दिशा में काम कर रहे थे, तभी हमें इस दिशा में सफलता मिली। हम दो तरफा काम कर रहे थे और महज 10 दिनों में ही हम असली लक्ष्य की ओर बढ़ गए।

Natural Hair Loss Treatment Tips and Home Remedies in Hindi. Hair fall treatment at home in hindi. Hair loss care tips in hindi. How to stop hair fall in hindi, home remedies for hair fall in hindi, how to reduce hair fall in hindi, treatment for hair fall in hindi, how can i stop hair fall in hindi, remedies for hair fall in hindi, how to protect hair fall in hindi, how to stop hair fall naturally at home in hindi, homemade remedies for hair fall in hindi, hair fall home remedies in hindi, why hair fall in hindi, how can we stop hair fall in hindi

बालों को हटाने का सबसे लोकप्रिय तरीका वैक्सीन को माना गया है। बड़ी तेजी से आज वैक्सीन का बाजार फल-फुल रहा है। यह अनचाहे बालों को जड़ों से हाटाने का काम करता है। यह एक एक अर्द्ध स्थायी विधि है। यह एक ऐसा तरीका शाबित हुआ है जिसका उपयोग करने से ज्यादा पैसे भी खर्च नहीं होते। आइए जानते हैं यह कैसे होता है- सबसे पहले शरीर के वांछित क्षेत्र पर गर्म मोम फैला दिया जाता है और फिर कपड़े या मलमल का एक टुकड़ा लेकर मोम पर रख दिया जाता है, धीरे-धीरे मलने के बाद एक झटके में पट्टी खींच ली जाती है।

[एक्सपोजर प्रभाव] सिरदर्द, चक्कर आना, पसीना, vasodilators किसी में भी हो सकता है। परिधीय न्यूरोपैथी hydrazine के साथ लंबे समय तक इलाज के लिए सूचित किया गया है। उच्च रक्त शर्करा, nonketotic कोमा, diazoxide हो सकता है। बरामदगी और कोमा, विषाक्त Buflomedil हो सकता है।

डॉ. अग्रवाल ने आगे कहा, “फाइब्रॉएड का उपचार लक्षणों, आकार, उम्र और रोगी के सामान्य स्वास्थ्य पर निर्भर करता है। यदि कोई कैंसर पाया जाता है, तो यह रक्तस्राव अक्सर हार्मोनल दवाओं द्वारा नियंत्रित किया जा सकता है।” उन्होंने कहा कि कुछ खाद्य पदार्थ फाइब्रॉएड को बढ़ा सकते हैं। इसे रोकने के लिए संतृप्त वसा वाले खाद्य पदार्थो को फाइब्रॉएड रोगियों को नहीं देना चाहिए। ये वसा एस्ट्रोजेन स्तर को बढ़ा सकते हैं, जिससे फाइब्रॉएड बड़ा हो सकता है। कैफीन युक्त पेय पदार्थ गर्भाशय फाइब्रॉएड होने पर नहीं लेना चाहिए।

१५. अंडे का सफ़ेद भाग (Egg white): अंडे के सफ़ेद भाग में उपचार करने के गुण होते हैं। अंडे के सफ़ेद भाग को बालों पर लगाने पर बालों में नयी जान आती है और वे चमकदार और मुलायम बनते हैं। अगर आप लम्बे और मज़बूत बाल चाहते हैं तो इस नुस्खे का प्रयोग करें। कुछ अण्डों को तोड़ें और पीले भाग को छोड़ दें। सफ़ेद भाग का प्रयोग करें और बालों का मास्क बनाएं। १५ मिनट बाद शैम्पू कर लें। आपको अपने बाल मज़बूत और स्वस्थ महसूस होंगे। बालों को तेज़ी से बढ़ाने के लिए हफ्ते में एक बार इस नुस्खे का प्रयोग करें।

अंडे के सफ़ेद भाग में उपचार करने के गुण होते हैं। अंडे के सफ़ेद भाग को बालों पर लगाने पर बालों में नयी जान आती है और वे चमकदार और मुलायम बनते हैं। अगर आप लम्बे और मज़बूत बाल चाहते हैं तो इस नुस्खे का प्रयोग करें। कुछ अण्डों को तोड़ें और पीले भाग को छोड़ दें। सफ़ेद भाग का प्रयोग करें और बालों का मास्क बनाएं। 15 मिनट बाद शैम्पू कर लें। आपको अपने बाल मज़बूत और स्वस्थ महसूस होंगे। बालों को तेज़ी से बढ़ाने के लिए हफ्ते में एक बार इस नुस्खे का प्रयोग करें।

हेयर विग: विग गंजेपन को ढँकने का बहुत पुराना तरीका है। विग को प्राचीन मिस्त्र में तथा पूरी दुनिया की संस्कृतियों में भी प्रयोग किया गया है। नवीनतम तकनीक के साथ, विग अधिक परिष्कृत हो गए हैं तथा एक अच्छी अपीयरेंस प्रदान करने के लिए बहुत से कृत्रिम फाइबर एवं प्राकृतिक बालों को एक साथ मिलाया जाता है। किन्तु समस्या यह है कि विग बहुत नजदीक से देखे जाने पर वास्तव में कभी भी प्राकृतिक नहीं दिखते हैं, जैसा कि काम के समय और सामजिक कार्यक्रमों में प्राकृतिक रूप से होता है। विग के फिसलने का डर हमेशा बना रहता है। इसके अलावा, इसमें सबसे बड़ा नुकसान यह है कि इसमें कोई हेयरलाइन (मांग) नहीं होती है। अतः सामने से देखे जाने पर, विग और सिर की खाल के बीच का हल्का रिक्त स्थान बहुत स्पष्ट होता है तथा किसी के ध्यान में आए बिना एक विग को पहने रहना लगभग असंभव है। इसे पहनने वाला व्यक्ति इस बात को लेकर हमेशा सचेत रहता है कि यह गिर सकती है और या फिर कोई भी इस पर ध्यान दे सकता है कि उसने विग पहना है। लोग जल्दी ही उस व्यक्ति को ‘वह व्यक्ति जो विग पहनता है’ इस तरह संदर्भित करने लगते हैं। विग वास्तव में कभी भी लोकप्रिय नहीं हुए, हालांकि वे बहुत लंबे समय से अस्तित्व में रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *