“बायोटिन की समीक्षा +बाल विकास याहू”

निर्देश: अरंडी का तेल के 8 चम्मच और एक कांच की बोतल में नींबू आवश्यक तेल में से एक बड़ा चमचा जोड़ें। हिला या इष्टतम मिश्रण को बढ़ावा देने के हलचल। खोपड़ी को यह लागू करें और अपनी उंगलियों के साथ में एक छोटी राशि काम करते हैं। और फिर एक पूर्ण दो मिनट के लिए मालिश छोड़ मिश्रण एक अतिरिक्त 15 मिनट के लिए बैठते हैं। एक ठंडे पानी शैम्पू और कुल्ला करके इस का पालन करें। दैनिक या जितनी बार चाहें के रूप में दोहराएँ। अप्रयुक्त भाग गर्मी और धूप से दूर रखें।

Looking at clinical studies and talked to experts in the field, who helped identify specific ingredients that have been proven effective in combating hair loss and are not just snake oil. The ugly truth; the vast majority of hair loss treatments boast exaggerated claims, and a shocking number have no scientific support whatsoever.

• एक कटोरी में 250 एम.एल. सरसों का तेल लें और उसमें 60 ग्राम सूखा और साफ किया हुआ मेंहदी का पत्ते डालकर पत्तियों के पूरा जलने तक उबालें और फिर सूती कपड़े में इस मिश्रण को छान लें। ठंडा होने के बाद हवाबंद जार में इस तेल को डालकर रख दें। नियमित रूप से इस तेल को बालों में लगायें।

भारत में नी रिप्लेसमेंट सर्जरी की प्रक्रिया काफी प्रचलित हो गई है, लेकिन आप कैसे जानेंगे कि आपको वाकई नी रिप्लेसमेंट सर्जरी की जरूरत है? क्योंकि नी रिप्लेसमेंट से कई जोखिम भी जुड़े होते हैं, जानें इसके बारे में कुछ जरूरी बातें।..

हेयर ट्रांस्प्लांटेशन – इस विधि से बालों को एक स्काल्प से दूसरे स्काल्प में स्थानांतरित किया जाता है। इस दौरान एक व्यक्ति के सिर से दूसरे के सिर में बाल इस तरह लगाए जाते हैं कि जिस हिस्से से बाल निकाले गए हों वे दूसरे के सिर में उसी हिस्से पर लगाए जाएं। इसके साथ-साथ बाल झड़ने की रोकथाम से जुड़े अन्य उपचारों को भी किया जाता है।

अगली सुबह उठें और इन बीजों को पानी में उबाल लें। आपको दिखेगा कि यह उत्पाद एक जेली (jelly) की शक्ल लेने लगा है। इसके बाद इसे आंच से उतार लें और ठंडा होने दें। इस जेल को अपने बालों पर लगाकर सुन्दर बाल प्राप्त करें।

कई लोग बालों की झडने का शिकार गलत खाने की वजह से होते हैं। ऐसा नहीं है की वे पौष्टिक खाने पर खर्च नहीं कर सकते लेकिन आदतन वे जंक फ़ूड पर पैसे बर्बाद करते हैं बनिबस्त पौष्टिक आहार पर खर्च करने के । जंक फ़ूड , डब्बाबंद आहार, तैलीय खाना, वगैरह में पौष्टिक तत्वों की कमी होती है लेकिन कई लोग इन्हें बड़े मज़े से खाते हैं। नतीजा यह होता है कि आपके शरीर को सही मात्रा में आयरन, कैल्सियम , जिंक , विटामिन सी और प्रोटीन वगैरह नहीं मिल पाते। यह सब बालों के बढ़ने के लिए बहुत ज़रूरी होते हैं इसीलिए जहाँ तक हो सके ऐसे पोषण रहित आहार का बहिष्कार किजिये और हरी सब्जियां, फल, सूखे मेवे, दूध, अंडे खाइए जिससे कि आपके जीवन में पौष्टिक आहारों की कमी पूरी हो सके।

पिछले दो उत्पादों के विपरीत, Minoval हेयर Regrowth सिस्टम शैम्पू नहीं इतना एक बाल विकास सूत्र के रूप में यह एक सूत्र कमजोर बाल को मजबूत बनाने के लिए बनाया है। इस शैम्पू (और कंडीशनर है कि यह साथ चला जाता है, लेकिन आमतौर पर अलग से बेचा जाता है) बादाम का तेल और अन्य सामग्री है कि एक साथ की मरम्मत और बालों कि पतली हो गई है या क्षतिग्रस्त हो गया फिर से भरना उपयोग करता है। यह एक अधिक हाइड्रोफोबिक राज्य के लिए बाल देता है।

——तनाव कम कर, उचित आहार लेकर, बाल संवारने की उचित तकनीक अपनाकर और यदि संभव हो तो बालों को झड़ने से रोकनेवाली दवाइयों का उपयोग कर बालों के झड़ने की समस्या को रोका जा सकता है। फफूंद संक्रमण की वजह से बालों को झड़ने की समस्या को बालों की सफाई पर ध्यान देकर, दूसरों के ब्रश, कंघी, टोपी आदि का उपयोग न कर बचा जा सकता है। दवाइयों की सहायता से वंशानुगत गंजेपन के कुछ मामलों को रोका जा सकता है।

➤ मेथी में कई ऐसे गुण होते है जो बालों के लिए बहुत ही फायदेमंद होते है। मेथी के बीजो को रातभर के लिये पानी में डालकर छोड़ दे। सुबह इन बीजो को पीसकर पेस्ट बना ले अब इस पेस्ट को बालों में लगाये, करीब आधा घंटा के बाद बाल को धो ले। कुछ ही दिनों में नये नये बाल आने लगेंगे।

हार्ट केयर फाउंडेशन ऑफ इंडिया (एचसीएफआई) के अध्यक्ष पद्श्री डॉ. के.के. अग्रवाल ने कहा, “फाइब्रॉएड गर्भाशय की मांसपेशी के ऊतकों में शुरू होते हैं। वे गर्भाशय की कैविटी में, गर्भाशय की दीवार की मोटाई या पेट की गुहा में बढ़ सकते हैं। फाइब्रॉएड के लिए मेडिकल शब्द है- लेय्योमायोमा। फाइब्रॉएड शरीर में स्वाभाविक रूप से उत्पादित हार्मोन एस्ट्रोजन द्वारा उत्तेजना की प्रतिक्रियास्वरूप विकसित होते हैं। इनकी वृद्धि 20 साल की उम्र में दिख सकती है, लेकिन रजोनिवृत्ति के बाद ये सिकुड़ जाते हैं, जब शरीर एस्ट्रोजेन का बड़ी मात्रा में उत्पादन बंद कर देता है।”

यह एक परिवर्तनकारी उपचार है जो इलाज़ के 3 से 4 हफ्ते के अन्दर ही बाल विकास प्रदान करता है। उपचार के तीन सेशन के बाद ही बाल में बढने की 30 से 40% की वृद्धि हो जाती है। आमतौर पर छह सेशन की आवश्यकता होती है। सप्ताह में एक बार 2 महीने में लगभग 10 बार उपचार से इस समस्या को काफी हद तक दूर किया जा सकता है। उपचार के साथ साथ रोगियों को खुराक भी दी जाती है। स्टेम सेल थेरेपी मृत बालों को रोम से हटाता है और रोम में नए स्वस्थ बाल विकसित करता है। और यह एक वास्तविकता है की इस तथ्य के बारे में इनकार नही किया जा सकता है। बालो का झड़ना लोगो के लिए बहुत निराशाजनक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *