“बालों के झड़ने बाहरी आइब्रो आरओजीन बाल रेगॉथ अमेज़न”

# #home #remedies #for #baldness #cure #hair #alopecia #loss #fall #growth #regrowth #itchy #scalp #inflammation #treatment #controls #promote #removes #dandruff #tips #how #to #stop #balding #fast #promotes #regrow #grow #bald #head #haircare #remedy

बालों के झड़ने से महिलाएं एवं पुरूष दोनों ही प्रभावित होते हैं। बाल झड़ने में जीन्स तो महत्वपूर्ण भूमिका निभाती ही है, पर इसके अन्य कारण भी हो सकते हैं जिसमें मुख्य है हॉर्मोन की असमानता, निष्क्रिय थाइरोइड ग्रन्थियां, पोषक तत्वों की कमी और सिर में रक्त के संचार में कमी होती है। बालों का झड़ना एक काफी बड़ी समस्या है जिसकी वजह से काफी लोग परेशानियों का शिकार होते हैं। बाल झड़ने के कई कारण होते हैं। आइए देखें कि ये कारण कौन से हैं।

—-बालों को मजबूत बनाने और टूटने से बचाने के लिए आपको सप्ताह में कम से कम दो बार बालों की जड़ों में आंवला, बादाम, ऑलिव ऑयल, नारियल का तेल, सरसो का तेल इत्यादि में से कोई एक लगाना चाहिए। इससे बालों का झड़ना, बाल पतले होना, डैंड्रफ, दोमुंहे बाल व उम्र से पहले बालों का सफेद होने जैसी प्रॉब्लम्स से निपटा जा सकता है।

बहेडा – इसके बीजों के चूर्ण को नारियल या जैतून के तेल में मिलाकर गुनगुना गर्म किया जाए और इस तेल को बालों पर लगाया जाए तो बाल चमकदार हो जाते हैं। साथ ही, इनकी जडें भी मजबूत हो जाती हैं। बालों की समस्याओं में हर्बल जानकारों के अनुसार त्रिफला का सेवन हितकर माना गया है।

7. बाल लम्बे घने और सुंदर बनाने के लिए बालों पर ब्यूटी प्रोडक्ट्स के ज्यादा प्रयोग करना भी बाल गिरने का कारण है। शैम्पू, हेयर आयल, जेल और कंडीशनर जो रसायन युक्त होते है, लम्बे समय तक इनके प्रयोग से भी बालों की समस्या होने लगती है।

कड़वे नीम में कई औषधीय गुण होते हैं। नीम के बीज का तेल बालों की देखभाल का एक तरीका है और इससे आपको स्वस्थ और घने बाल मिलेंगे। बाल घने करने के लिए नीम के बीज के तेल को वनस्पति तेल जैसे नारियल तेल (coconut oil) और सरसों के तेल के साथ मिलाएं और सिर पर इसकी अच्छे से मालिश करें। इसे 1 से 2 घंटों के लिए लगा कर छोड़ दें और फिर गुनगुने पानी से धो लें। इससे आपके बाल स्वस्थ और घने बनेंगे। जानिए कड़वी नीम के बेहतरीन मीठे फायदे

अगर आप अपने अनचाहे बालों को हटाने के लिए थ्रेडिंग और वैक्सिंग का सहारा लेती है। और इससे हर महीने होने वाले खर्चे और लंबे समय बाद होने वाले साइड इफेक्‍ट के रूप में ढीली त्‍वचा और झुर्रियों की समस्‍या से परेशान है। तो आपकी इस समस्‍या को दूर करने के कुछ प्राकृतिक उपाय है जो बिना किसी साइड इफेक्‍ट के इस समस्‍या को दूर कर देगें। image courtesy : gettyimages.in

Minoxidil एक antihypertensive vasodilator दवा भी धीमी गति से या बालों के झड़ने बंद करो और बाल regrowth को बढ़ावा देने का दावा कर रहा है। यह एंड्रोजेनिक एलोपेसिया, अन्य गंजापन उपचार के बीच के उपचार के लिए काउंटर पर उपलब्ध है, लेकिन औसत दर्जे का परिवर्तन, अगर अनुभवी, उपचार के विच्छेदन के बाद महीने के भीतर गायब हो जाते हैं।

शरीर से बाल हटाने के लिए ढेर सारे उपकरण हैं, उन्हीं में एक है लेजर। महंगे तकनीकों में से एक लेजर तकनीक एक ऐसा उपकरण है जिसके जरिए त्वचा पर एक विशेष प्रकार की लेजर किरणों को डाला जाता है, जिसकी गर्मी बाल उगाने वाले हेयर सेल्स को खत्म कर देती है। हमारे यहाँ ‘डायोड’ व ‘एनडी-याग’ लेज़र तकनीक का चलन अधिक है। लेजर हेयर रिमूवल तकनीक हाथ, पैर व अंडरआर्म्स के बालों को हटाने के लिए बेहद ही कारगर है। लेकिन ध्यान दें कि लेजर की एक से दूसरी सिटिंग के बीच लगभग 4 से 6 हफ्ते का अंतर होना चाहिए।

जब भी आप अपने बाल धोते है उसके बाद गीले बालो पर कभी भी कंगी न करे. जब आपके बाल गीले होते है उस समय वे बहुत ही कमजोर और नाजुक होते है जो बड़ी आसानी से टूट सकते है. इसलिए गीले बालों को हमेशा तौलिये या किसी कपडे से आराम से सुखाये.

तथापि, आप इस मार्ग नीचे जा रहा पर आमादा हैं, यह महत्वपूर्ण है कि आप जानते हैं कि कैसे एक योग्य चिकित्सक चुनने के लिए सफल बाल प्रत्यारोपण की प्रक्रिया में उच्च अनुभवी. हम आपके प्रश्नों आप सुनिश्चित करने के लिए पता करने की जरूरत सूचीबद्ध किया है अपनी आवश्यकताओं के लिए सबसे अच्छा सर्जन संलग्न.

आप ग्रीन टी से होने वाले कई फायदे के बारे में जानते होंगे। ग्रीन टी में बहुत अधिक मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है जो बाल की वृद्धि में मदद करता है। ग्रीन टी को पीस कर ठंडे पानी में काढा बनाकर धोए हुए बाल और सिर पर लगाएं और 30 मिनट तक छोड़ दें। 30 मिनट के बाद ठंडे पानी से धो दें। इस प्रक्रिया को कुछ महीनों तक सप्ताह में 2 से 3 दोहराएं।  

4. रोज़ाना कुछ मिनट के लिए अपनी खोपड़ी को गुनगुने तेल से मालिश करें। मालिश के लिए आप किसी भी तेल का प्रयोगकर सकते हैं जैसे नारियल, लैवेंडर, बादाम, सरसों या जोजोबा का तेल। अगर आपके बाल डैंड्रफ की वजह से झड़ रहे हैं तो जोजोबा का तेल इसका काफी अच्छा इलाज है। जोजोबा के तेल में मौजूद सीबम सिर को पोषण देता है। तेल से मालिश करें और १ घंटे बाद शैम्पू कर लें।

कई लोग नहाते समय या बालों को धोने के लिए बहुत ही ज्यादा गर्म पानी का use करते है. गर्म पानी हमारे Body के लिए नुकसानदायक होता है. जब यह गर्म पानी हमारे बालों पर भी पड़ता है तो वह हमारे बालों को बहुत ही कमजोर बना देता है और वो Automatic ही उखड़ जाते है.

हमारा यकीन मानिये कि अगर आपके बाल तेजी से झड़ रहे हैं तो आपको महंगे हेयर प्रोडक्‍ट लगाने की जरुरत नहीं है क्‍योकि आपके घर पर ही ऐसी चीज़ें मौजूद हैं जो आयुर्वेद के अनुसार आपका गंजापन तुरंत ही दूर कर सकता है। आज कल महिलाओं के बीच में आयुर्वेदिक प्रोडक्‍ट काफी लोकप्रिय बन रहे हैं तो ऐसे में हमने सोंचा कि क्‍यों ना आपको उन आयुर्वेदिक चीजों के बारे में बताएं, जिससे बालों की खूबसूरती बढेगी और गंजे लोंगो की खोपड़ी पर बाल उगाने के काम आएगा। तो आप भी आजमाए ये आयुर्वेदिक उपचार…

एफयूटी या कूपिक इकाई (फ़ॉलिक्युलर यूनिट) ट्रांसप्लांटेशन या पट्टी (स्ट्रिप) विधि में, 1 सेमी चौड़ी त्वचा की एक पट्टी पश्चकपाल एवं कनपटी के क्षेत्रों से काटी जाती है। टेक्नीशियन उसके बाद इस पट्टी को व्यक्तिगत बाल कूपिकों में विभाजित करते हैं। इन कूपिकों को द्वितीय स्तर में गंजे क्षेत्रों में ट्रांसप्लांट किया जाता है।

Hello Friends , Welcome To My Youtube Channel ! आज में अपनी इस विडियो (Video) में खोपड़ी पर नये बाल उगाने और गंजेपन को दूर करने के आयुर्वेदिक उपाय लेकर आई हूँ | इसको जाने के लिए Watch My Video :- https://youtu.be/hEjGtcZN2fs

हेयर ट्रांसप्लांट एक-बार का खर्च है। इसकी बिलकुल भी कोई अन्य रखरखाव लागत नहीं है और बाल किसी देखभाल की आवश्यकता के बिना आपके पूरे जीवन के दौरान बने रहेंगें। बाल आपको युवा एवं जवां अपीयरेंस प्रदान करते हैं तथा न सिर्फ सामाजिक रूप से बल्कि व्यक्ति के कैरियर में भी सहायता करते हैं। बाल बनाम गंजापन एवं बाल वाले अमरीकी राष्ट्रपतियों पर एक हाजिरजवाब लेख के लिए  यहाँ पढ़ेंएवं बाल वाले अमरीकी राष्ट्रपतियों। ट्रांसप्लांट न केवल आपके लुक को परिवर्तित करेगा बल्कि यह आपको अपेक्षाकृत अधिक आत्मविश्वास एवं क्षमता प्रदान करेगा; जैसा कि बहुत से शोध अध्ययनों से पता चला है कि लोगों में गंजे व्यक्तियों की तुलना में बाल वाले व्यक्तियों पर अधिक भरोसा करने की प्रवृत्ति होती है।

Hair growth के लिए High Protein Diet लेना बेहद जरुरी है। भारतीय आहार में protein कि मात्रा कम होती है। प्रचुर मात्रा में protein लेने के लिए सुबह नाश्ते में अंकुरित अन्न, मुंग, flax seeds, दूध, सोयाबीन लेना चाहिए। भारतीय खाने में दाल का समावेश हमेशा रहता है पर दाल को पतला बनाने कि जगह दाल गाढ़ी बनानी चाहिए। Snacks में fast food कि जगह पर भुने हुए मूंगफली या चना लेना चाहिए। रोटी बनाने के लिए गेहू के आटे में 1/4 हिस्सा सोयाबीन का आटा मिलाकर रोटी बनाना चाहिए।

यदि आप रिफॉलियम की कीमत के बारे में चिंतित हैं तो आपको अत्यधिक तनाव नहीं लेना चाहिए। भारत में रिफॉलियम कैप्सूल की कीमत काफी सस्ती है और इस प्रकार आपको महंगी उपचार या सर्जरी पर भरोसा करने की आवश्यकता नहीं है। बस इन कैप्सूल का उपयोग शुरू करें और जल्द से जल्द अपने इच्छित परिणाम प्राप्त करें

Minoxidil vasodilator है, जिसका अर्थ यह नसों में मांसपेशियों को आराम, प्रवाह करने की अनुमति रक्त अधिक. संघटक में सक्रिय रूप केंद्रित अधिक Minoxidil, में एक उच्च इलाज के लिए इस्तेमाल किया रक्तचाप . उपयोगकर्ताओं को एक पक्ष प्रभाव के रूप में बाल विकास की सूचना दी. अंततः यह पतला के रूप में जारी किया गया था और नाम Rogaine अंतर्गत विपणन. मूल रूप से एक पर्चे दवा के रूप में ही उपलब्ध है, यह अब काउंटर पर उपलब्ध है.

बाल वास्तव में एमपीबी में नहीं गिरते हैं। गंजे होने वाले व्यक्तियों को प्रायः अत्यधिक चिंता होती है जब वे शावर के बाद फर्श पर या तकिये पर बालों को देखते हैं तथा उनमें किसी भी प्रकार के बाल गिरने के संकेतों का बारीकी से निरीक्षण करने की आदत विकसित होने लगती है, किन्तु वास्तव में इस प्रकार से बालों का झड़ना उनके गंजेपन से संबंधित नहीं होता है। एमपीबी या पुरुष पैटर्न गंजेपन में, कूपिक या बालों की जड़ें धीरे धीरे छोटी और पतली होती जाती हैं और बाल भी पतले और छोटे हो जाते हैं। इस प्रकार धीरे धीरे गंजेपन वाले क्षेत्रों में अधिक से अधिक त्वचा दिखने लगती है। वहां बालों का कोई कमी नहीं होती है बल्कि वहां बालों की गुणवत्ता में कमी होती है क्योंकि ये पतले और छोटे हो जाते हैं। व्यक्ति को धीरे धीरे पता चलता है कि उसे गंजेपन वाले क्षेत्रों में बाल कटवाने नहीं चाहिए। एक गंभीर रूप से गंजे व्यक्ति के सिर की त्वचा के पूर्णरूपेण गंजे स्थानों पर भी, मैग्नीफाइंग ग्लास से देखे जाने पर, दिखाई देगा कि वहां अभी भी कुछ बाल हैं, किन्तु वे बहुत पतले और नंगी आँखों से देखे जाने पर लगभग अदृश्य हैं और वे बहुत छोटे भी हैं।

बाल विकास के लिए आयुर्वेदिक घरेलू उपचार मे हम आमला, शिकाकाई, रीठा, भृंगराज, मंजिष्ठा, रक्त चंदन, जटामांसी और नीम जैसे कई आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों का प्रयोग कर सकते हैं। ये आयुर्वेदिक जड़ी बूटियां आसानी से घर में उपलब्ध होती हैं। और बाल विकास के लिए अति उपयोगी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *