“बालों के झड़ने लेजर समूह शेफ़ील्ड |बालों के झड़ने के उपचार केरला”

एक वक्त था जब सजना-संवरना केवल महिलाओं का ही काम माना जाता था लेकिन आज इस मामले में पुरुष भी कम नहीं हैं। इस बात का अंदाजा आज बाजार में बिकने वाले पुरुष प्रोडक्ट से लागया जा सकता है। एक तरफ जहां पुरुष अपने मसल्स को बढ़ाने के लिए जिम में कई घंटे बिता रहा है तो दूसरी तरफ अपनी को त्वचा को खूबसूरत बनाने के लिए नए-नए तकनीक भी अपना रहे हैं।

गंजेपन का इलाज वैसे तो दिन-ब-दिन बेहतर होता जा रहा है | हालांकि इसके उपचार की अन्य तकनीकें भी काफी एडवांस हो चुकी हैं लेकिन बहुत से लोगों के लिए Non Surgical Hair Replacement (नॉन सर्जिकल हेयर रिप्लेसमेंट) का मतलब नकली बाल, बिग होता है, लेकिन सच में यह ऐसा नहीं है | नॉन सर्जिकल हेयर रिप्लेसमेंट की टेक्निक इन दिनों काफी एडवांस हो चुकी है, खासतौर पर पुरुषों के लिए तो यह गंजेपन से छुटकारा पाने का एक असरदार तरीका बन गई है | यहां पार हम आपको डिटेल में बताएंगे कि नॉन सर्जिकल हेयर रिप्लेसमेंट क्या होता है और इसके साथ ही आपको इससे जुड़ी और भी जानकारियां और ट्रीटमेंट के Procedure के बारे में भी बताएंगे | साथ ही कुछ ऐसी परिस्थितियों के बारे में जानेंगे कि यह तकनीक कहां पर असरदार है, इसके साथ ही इससे होने वाले नुकसान के बारे में भी कुछ बताएंगे |

गलत जीवनशैली, अधिक प्रदूषण या शरीर में पोषक तत्वों की कमीं, बात जब बालों के झड़ने की आती है तो हामोनल बदलाव छोड़कर ये सभी इसके बड़े कारण हो सकते हैं। ऐसे में शरीर को पोषक तत्वों की कमीं को पूरा करने के लिए अगर आप अपनी डाइट में इन चीजों को शामिल करेंगे तो गंजेपन की समस्या से छुटकारे में काफी हद तक मदद मिल सकती है।

यह एक उन्नत जर्मन फार्मूला है जो कि बाल विकास को प्रभावित करने के लिए नैदानिक ​​परीक्षणों में संकेतित शक्तिशाली सामग्रियों का एक सिनर्जिस्टिक मिश्रण है| हार्मोन के प्रतिकूल प्रभावों को नकारने और अशुद्ध रक्त को निकालने यह सक्षम है, जो विषाक्तता का कारण बनता है जिससे बालों के झड़ने में मुख्य भूमिका है

चूंकि बालों के झड़ने के कारणों में से एक आपके खून का अशुद्ध होना हो सकता है, आम्ला या अमाकी की शुद्धि पावर के लिए उपयोग करिए। भारतीय गोभी का फल कई खनिजों, विटामिन और एंटीऑक्सिडेंट्स में विटामिन सी को बढ़ावा देता है। यह आपके सशक्त बाल और कंडीशनर के रूप में कार्य करता है ताकि आपको मजबूत और रेशम बाल मिल सकें।

बालों को झड़ने और गंजेपन से बचाने के लिए कुसुम के तेल का प्रयोग किया जाता है। इस तेल में काफी मात्रा में फैटी एसिड होते हैं जो स्वस्थ बालों के लिए काफी आवश्यक होते हैं। बाज़ार में दो प्रकार के कुसुम के तेल मिलते हैं। कुसुम का तेल घुंघराले और सूखे बालों के लिये काफी फायदेमंद है। सिर की मालिश के लिए कुसुम के तेल से मालिश करें। इसे 1 घंटे के लिए छोड़ दें तथा बालों को धो लें। बालो को उगाने के उपाय,स्वस्थ बालों के लिए इसे हर हफ्ते प्रयोग करें।

www.hindiayurveda.com में दिए गए सभी लेख (आर्टिकल) का उद्देश्य आपकी जानकारी को बढ़ाना है, यानी यह आपके ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। अत: आपसे अनुरोध है, की किसी भी उपाय को अजमाने से पहले चिकित्सक (डॉक्टर) से सलाह अवश्य ले।

चिकित्सा शर्तों और तनाव के मूल्यांकन और आगे करने के लिए इन मुद्दों से संबंधित बालों के झड़ने को रोकने में मदद करने के लिए देखभाल करने के लिए की जरूरत है। याद रखें कि कुछ, लेकिन सभी नहीं, दवाएं बालों के झड़ने का कारण बन कर सकते हैं; इसलिए, एक अलग दवा बालों के झड़ने से संबंधित नहीं की कोशिश कर आगे की हानि को रोकने में मदद हो सकता है।

बालों के गिरने की एक अहम् वजह तनाव भी है। तनाव से कई और बीमारियाँ भी पैदा होती हैं, इसीलिए इन बीमारियों से बचने के लिए, और बालों को गिरने से बचाने के लिए तनाव से दूर रहिये। हालांकि ऐसा कहना बहुत आसान होता है, लेकिन अगर आप पूरी तरह स तनाव से छुटकारा नहीं पा सकते तो इसे कम तो कर सकते हैं। और तनाव कम करने के लिए आपको अपनी सोच को बदलना होगा, और योग, मेडीटेशन, वगैरह जैसे उपायों से इसे कम कर सकते हैं।

केरल के स्त्रियों के काले घने बालों का राज नारियल का तेल और जपाकुसुम होता है। यह बालों को पौष्टिकता प्रदान करने के साथ-साथ रूसी के समस्या से भी राहत दिलाने में मदद करता है। जपाकुसुम फूल का नियमित रूप से इस्तेमाल करने पर बाल झड़ना कम हो जाते हैं।

Yes and we encourage you to research the limitations and possibilities of hair transplantation and can support you in making the correct decisions for you. Please register for our open days when we can arrange for you to meet with previous patients to examine the quality of our work.

बाल झड़ना कैसे रोके, अगर आप काफी मात्रा में बाल झड़ने से परेशान हैं तो प्याज का रस आपकी सहायता कर सकता है। प्याज में मौजूद सल्फर बालों की जड़ों में रक्त संचार को बढ़ाता है। प्याज के रस में एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं जो हर तरह के कीटाणुओं का नाश करते हैं। अपने सिर में प्याज का रस लगाएं और आधे घंटे के लिए छोड़ दें। बाद में शैम्पू कर लें।

शरीर में जिंक की कमी बालों के नाजुक होने, कमजोर होने और टूटने का कारण होती है। जिंक की कमी सिर के बालों के साथ साथ आइब्रो और पलकों के बालों को भी प्रभावित करती है। जिंक एक महत्वपूर्ण खनिज है जो ऊतकों के विकास और उन्हें ठीक करने में मदद करता है। यह बालों के रोम से जुड़ी तेल-स्रावित ग्रंथियों के रखरखाव में मदद करता है। इसलिए जब शरीर में जस्ता की कमी होती है यह सीधे बालों के विकास को प्रभावित करता है। इसके अलावा जिंक की कमी से शरीर में प्रोटीन की कमी होने लगती है। प्रोटीन बालों को बनाने में मदद करता है। द इंटरनेशनल जर्नल ऑफ़ ट्रिचोलोजी के अनुसार, जिंक की कमी हाइपोथायरायडिज्म से जुड़ी है जो बालों के झड़ने का एक मुख्य कारण है। जिंक की कमी को पूरा करने के लिए अपने आहार में ब्राजील नट्स, अखरोट, काजू और बादाम जैसे नट्स का सेवन करें। (और पढ़ें – बालों को टूटने से रोकने के लिए बेहद असरदार है यह हेयर मास्क)

बाल विकास की गोलियाँ: विभिन्न प्रकार के बालों के विकास की गोलियाँ रहे हैं आसानी से बालों के झड़ने की समस्याओं के लिए सबसे लोकप्रिय काउंटर क्योंकि वे मुख्य रूप से आर्थिक, सुविधाजनक और अत्यधिक प्रभावी रहे हैं।

आप इस तरीके को अपना सकते हैं अगर आप ज़्यादा कुछ नहीं करना चाहते। लहसुन को थोड़ा कूच लें और सोने से पहले इसे उन जगहों पर लगाएं जहां से बाल झड़ रहे हों. इसके बाद ऑलिव आयल से मसाज करें और बालों को शावर कैप से ढक लें. अगले दिन अच्छे से धो लें।

थोड़े  से जैतून के तेल (olive oil) को गर्म करके उसमे एक चमच दालचीनी चूर्ण तथा एक चमच शहद मिलकर पेस्ट बना ले. इस लेप को बालो की जड़ो में लगाकर 15 मिनट बाद सर धो ले. यह प्रोयग करने से बालो का झड़ना कम होता है.

अपने बालों के लिए शैम्पू चुनने से पहले अच्छे से खोजबीन कर लें। वह शैम्पू आपके बालों के लिए अच्छा है या नहीं यह जानना काफी आवश्यक है। अगर आप रोज़ शैम्पू इस्तेमाल कर रहे हैं तो आप उन लोगों में से हैं जो बालों की जड़ों से निकलते अतिरिक्त तेल से परेशान हैं। अगर आपकी त्वचा सामान्य या सूखी है तो अधिक मात्रा में शैम्पू का इस्तेमाल हानिकारक हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *