“बाल विकास तेल बीटी -खादी बाल regrowth तेल की समीक्षा”

फ्रिज़ी बालों का उपचार : बालों में निरंतर हानिकारक रसायनों और सौन्दर्य उत्पादों का प्रयोग करने पर आपके सिर पर फ्रिज़ी और रूखे बाल पैदा हो जाते हैं। आप अब इस स्थिति का नीम के तेल से आसानी से उपचार कर सकते हैं। आप इस तेल को या तो सीधे अपने सिर पर लगा सकते हैं, या फिर इसकी कुछ बूंदों का मिश्रण अपने शैम्पू (shampoo) में भी कर सकते हैं। अगर आप नीम के तेल को शैम्पू के साथ मिश्रित कर रहे हैं तो ऐसा निरंतर अपने रोजाना प्रयोग में लाये जा रहे शैम्पू की मात्रा को निकालकर करें। इस तरह इस शैम्पू से बालों को धोने पर आप पाएँगे कि एक बालों के सूख जाने पर वे किस तरह चमकदार बन जाते हैं।

साधारणतः त्वचा विशेषज्ञ यह कहते हैं कि 50 से 100 बालों का झड़ना आम बात है। लेकिन जब यह संख्या बढ़ जाती है और आपके बाल पतले होने लगते हैं और गंजा हो जाने की नौबत आ जाती हैं तब उस अवस्था को एलोपीशीआ (alopecia) कहते हैं।

1. Hair Loss Causes and Remedies in Hindi अपने बालों में दही लगाये। दही कम से कम नहाने से आधा घंटा पहले लगाये। इससे आपकी बाल गिरने की समस्या से छुटकारा मिलेगी। दही और नीबू रस मिलाकर लगाये इससे आपकी रुसी भी खत्म होगी।

A number of investigations may be advised at the first consultation for hair transplant. These are necessary both to find out any causes for hair loss and also to ensure suitabilityfor the surgical procedure.

पहले ऐसा लगता था कि पुरूष ही गंजे होते है और महिलाओं के बाल झड़ते हैं। लेकिन अब थोड़ा ट्वीस्ट है, महिलाओं में भी गंजेपन की समस्?या सामने आने लगी है। एक अध्ययन के मुताबिक, हर बाल एक छेंद पर उगता है उसे फोलीसाइल कहते हैं। जैसे-जैसे फोलीसाइल सिकुड़ते है तो बाल झड़ते है और वहां गंजापन हो जाता है। महिलाओं में भी ये समस्या देखने को मिलती है। कई बार इसी समस्या के चलते लम्बे और मोटे बाल, छोटे और पतले बालों में बदल जाते हैं। महिलाओं में एकदम से कभी भी गंजापन नहीं होता है। पहले उनके बाल झड़ते हैं, पतले होते और बाद में गंजापन हो जाता है।

बाल प्रत्यारोपण सर्जरी आमतौर पर केवल एक बार किया जाता है, और बार-बार होने की जरूरत नहीं. कभी कभी बाल वास्तव में सर्जरी के ही सदमे की वजह से बाहर हो जाता है, पहले की तुलना में बाल पतले छोड़ने. एक कंघी या कंघी लेजर लगातार प्रयोग किया जाता है के रूप में (15-20 मिनट एक दिन, सप्ताह में तीन दिन की सिफारिश की है). अधिकांश उपयोगकर्ताओं को खोजने के बाल मोटा होता जा रहा, बेहतर दिखाई देता है और के बारे में में स्वस्थ 3 महीने.

क्योंकि पुरुषों रोम में अपने बालों को अधिक रिसेप्टर्स है DHT की तुलना में महिलाओं है कि वे नुकसान का अनुभव अधिक बाल. लेकिन, बाद से सभी पुरुष अपनी प्रणाली में DHT है, एक जिज्ञासु सवाल उभर रहे हैं. क्यों कुछ पुरुष बालों के झड़ने से पीड़ित जबकि दूसरों को नहीं?

अनुवांशिक / Hereditary :बालो का असमय झड़ने का मुख्य कारण है अनुवांशिकता। अकसर देखा गया है कि बालो का असमय झड़ना एक परिवार में चल रही रीती रिवाज के समान है। किसी परिवार में दादा – पिता  – बेटा सभी में समान हेयर लोस  होता है, जिसे मेल पटेर्नेद बल्दनेस(male patterned baldness) भी कहते है। किसी विशेष जीन  या क्रोमोजोम कि वजह से एक परिवार के सभी लोगो में यह समस्या समान होती है।

वहाँ नुकसान भी महिला बाल, क्या पुरुष के रूप में, लेकिन क्योंकि के अंतर मात्रा खोना नहीं हार्मोन का स्तर महिलाओं के रूप में ज्यादा बाल. बालों के स्टाइल में अंतर महिलाओं महिला बालों के झड़ने छिपाने के लिए और अधिक पुरुषों की तुलना में प्रभावी रूप से अनुमति देते हैं. इसके अलावा, एक औरत भी उसके बालों के झड़ने लेकिन कभी कभी लगता है कि उसकी चोटी चोटी या पतली हो रही है नहीं देख सकते हैं. महिलाओं को भी पुरुषों की तुलना में बिना बाल की एक अलग तरीके की है.

आंवला विटामिन सी से समृद्ध है। ये पोषक तत्व बालों को बढ़ाने में मदद करता है साथ ही बालों में चमक भी लाता है। विटामिन सी लोहे को अवशोषित करने में मदद करता है जिससे कि आपके बालों की जड़ें मजबूत और स्वस्थ रहती हैं। आंवला उम्र से पहले होने वाले सफ़ेद बालों को उगने से रोकता है। नियमित रूप से आंवला खाने से बालों में आपके चमक आती है साथ ही बालों को झड़ने से रोकने में मदद होती है। 

प्‍याज आपके सफेद बालों को काला करने में मदद करता है। कुछ दिनों तक रोजाना नहाने से कुछ देर पहले अपने बालों में प्‍याज का पेस्‍ट लगायें। इससे आपके सफेद बाल तो काले होने शुरू हो ही जाएंगे, लेकिन साथ ही बालों का गिरना भी रुक जाएगा।

अधिकांश, लेकिन नहीं सभी महिलाओं है भी घाटे या खालित्य areata द्वारा रसायन चिकित्सा के बारे में लाया के इस तरह अनेक परिपत्र पैच होते हैं। कुछ महिलाओं को सिर के मध्य कि यहां तक कि एक मंदिरों और माथे पर thinning के साथ है पर मंदी है।

नई – बालों के झड़ने / बाल regrowth ट्रैकिंग और मिनटों में विश्लेषण के लिए HairCheck ™ – अपने इलाज काम कर रहा है ? गैर इनवेसिव HairCheck ™ डिवाइस एक त्वरित, विश्वसनीय, repeatable और वैज्ञानिक साबित बालों मास (HairNumber) सूचकांक, कितना बाल खोपड़ी के एक दिए गए क्षेत्र से समय के साथ तुलना के लिए बढ़ रहा है की एक संकेतक को मापने के लिए अनुमति देता है. इसके अलावा सही बाल टूटना, महिलाओं में बालों के झड़ने का एक आम कारण के उपाय.

बालों के झड़ने से महिलाएं एवं पुरूष दोनों ही प्रभावित होते हैं। बाल झड़ने में जीन्स तो महत्वपूर्ण भूमिका निभाती ही है, पर इसके अन्य कारण भी हो सकते हैं जिसमें मुख्य है हॉर्मोन की असमानता, निष्क्रिय थाइरोइड ग्रन्थियां, पोषक तत्वों की कमी और सिर में रक्त के संचार में कमी होती है। बालों का झड़ना एक काफी बड़ी समस्या है जिसकी वजह से काफी लोग परेशानियों का शिकार होते हैं। बाल झड़ने के कई कारण होते हैं। आइए देखें कि ये कारण कौन से हैं।

—-कुछ लोग बालों में बार-बार कंधी करते हैं,ये सोचकर कि इससे बाल लंबे होंगे या फिर बाल सुलझें रहेंगे लेकिन आपको बता दें इससे भी कई बार बाल झड़ते है। आपको बालों को दिन में कम से कम 2-3 बार कंधी करें, इससे आपके बाल कम से कम उलझेंगे और बाल कम टूटेंगे। यानी बाल सुलझे भी रहेंगे और बालों के टूटने का डर भी खत्म।

सहजन या मुनगा- इसकी पत्तियों के रस को लगा कर प्रतिदिन नहाने से सिर से रूसी या डेंड्रफ़ खत्म हो जाती है। इस रस का इस्तेमाल कम से कम एक सप्ताह तक करना जरूरी है। सहजन की फलियों को उबालकर पल्प तैयार किया जाए और नहाते वक्त इस पल्प को सिर पर शैंपू की तरह इस्तेमाल किया जाए तो यह बाजार में उपलब्ध किसी भी विटामिन ई युक्त शैंपू से बेहतर साबित होगा। आधुनिक विज्ञान भी सहजन में पाए जाने वाले विटामिन ई को बालों के लिए लाभकारी मानता है।

वैज्ञानिकों ने सीने के बाल को सिर पर ट्रांस्पलांट कर गंजेपन के बावजूद भी बाल उगाने में सफलता प्राप्त की है। इस विधि को उन्होंने फॉलिक्यूलर युनिट एक्सट्रैक्शन का नाम दिया है। अब तक बालों के ट्रांसप्लांट के दौरान सिर के पिछले हिस्से से, जहां बाल अधिक होते हैं, बाल निकालकर सिर के उन हिस्सों पर लगाया जाता है जहां बाल झड़ चुके होते है।

नारियल एक स्‍वास्‍थवर्धक फल है। इसको खाने से शरीर को कई फायदे होते हैं, ठीक इसी प्रकार इसको लगाने से बालों को भी फायदा होता है। नारियल तेल या नारियल दूध लगाने से बाल मजबूत बनते है और झड़ना भी बंद हो जाते है। नारियल के पोषण से बालों में चमक आती है और वह मुलायम हो जाते हैं। सप्‍ताह में एक बार नारियल तेल का हॉट मसाज भी फायदा पहुंचाता है।

अगर आपके सिर की त्वचा सूखी और संक्रमित है, तो ऐसे प्राकृतिक जेल का प्रयोग करें जो हर तरह के संक्रमण पर काफी प्रभावी तरीके से काम करती है। बाल उगाने के उपाय, एलो वेरा की पत्तियों से जेल निकालें और इसे सीधे अपने सिर पर लगाएं। अगर आप चाहें तो बेहतर परिणामों के लिए इसमें गर्म नारियल तेल भी डाल सकते हैं। आप एलो वेरा जेल की जगह वीट ग्रास भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

अगर आप लंबे समय के लिए हेलमेट पहनकर दोपहिया वाहन चलाते हैं तो यह अच्छी आदत आपके बालों को नुकसान पहुंचा सकती है। हेलमेट से आपके बालों पर तनाव बढ़ता है और वो खिंचते हैं जिस कारण वो टूटते भी हैं। यदि आपको डैंड्रफ या सिर की त्वचा सम्बन्धी और कोई समस्या पहले से है तो पसीने से बालों की जड़ें और कमज़ोर होंगी। लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि आप हेलमेट पहनना छोड़ दें। आप हेलमेट पहनने से पहले कोई रुमाल अपने सर पर बाँध कर फिर हेलमेट पहन सकते हैं इससे पसीना रुमाल सोख लेगा जिससे बालों की जड़ें खराब होने से बचेंगी।

1. अंडा और जैतून तेल: अंडे का सफेद भाग ले कर उसके साथ 2 चम्?मच जैतून का तेल मिक्?स करें। अब इस मिश्रण को सिर पर अच्?छी तरह से लगाएं। 20 मिनट के बाद बालों को ठंडे पानी और शैंपू से धो लें। कुछ हफ्तो तक ऐसा करने से बालों की ग्रोथ होना शुरु हो जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *