“बाल विकास सीरम krauterhof +ऊपरी होंठ के लिए बाल विकास चक्र”

बहरहाल, जिन लोगों के बाल खत्म होने लगे और चमचमाता सिर नज़र आने लगा है, उनके लिए ख़ुशख़बरी है. एक रिसर्च में पाया गया है कि गंजे लोग ज़्यादा समझदार, रसूख वाले होते हैं. वो लंबे समय तक जीते हैं. यहां तक कि गंजे लोगों में महिलाओं को लुभाने की क्षमता भी ज़्यादा होती है.

मेंहदी, नीम और ग्रीन टी समेत ऐसे कई हर्ब्स हैं जिसे बालों पर लगाने से बाल घने और लंबे होते हैं। मेंहदी इसमें सबसे ज्यादा असरदार है, क्योंकि यह बालों की जड़ों यानि स्कैल्प को पोषण देता है। इससे बालों में चमक आती है।

बाल झड़ना कैसे रोके, अगर आप काफी मात्रा में बाल झड़ने से परेशान हैं तो प्याज का रस आपकी सहायता कर सकता है। प्याज में मौजूद सल्फर बालों की जड़ों में रक्त संचार को बढ़ाता है। प्याज के रस में एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं जो हर तरह के कीटाणुओं का नाश करते हैं। अपने सिर में प्याज का रस लगाएं और आधे घंटे के लिए छोड़ दें। बाद में शैम्पू कर लें।

Minoval बाल उत्पादों एक अद्वितीय और प्रभावी बाल विकास उपचार कर रहे हैं। यह बाजार पर 1984 के बाद से किया गया है और इसलिए कई उपयोगकर्ताओं के लिए महान परिणाम प्रदान किया गया है। यह Hati से आता है और के बाद से जबरदस्त परिणाम यह प्रावधान है कि की वजह से अमेरिका, यूरोप और दुनिया भर में अपनी तरह से बना दिया है।

कुंवारी जैतून का तेल के 2 से 3 tbsp सफेद चीनी का आधा कप के साथ जुडा है. मिश्रण का उपयोग करने के लिए अपने शरीर और चेहरे साफ़. सूखी त्वचा के लिए एक उत्कृष्ट exfoliating साफ़ है के रूप में जैतून का तेल नमी बनाए रखने में मदद करने के लिए और pores रोकना नहीं होगा.

यह अधिकतर मामलों में दी जाने वाली Regrow की खुराक है। कृपया याद रखें कि हर रोगी और उनका मामला अलग हो सकता है। इसलिए रोग, दवाई देने के तरीके, रोगी की आयु, रोगी का चिकित्सा इतिहास और अन्य कारकों के आधार पर Regrow की खुराक अलग हो सकती है।

आपको अपने आहार में सब्जिया, सलाद, अंकुरित अन्न, मौसमी फल, और High Protein Diet लेना चाहिए। आपको अननस, आवला, गाजर, Oats, पालक, टमाटर, चना, प्याज, अदरक, राजमा और सोयाबीन का अधिक सेवन करना चाहिए। प्रोटीन से भरपूर चीजों का सेवन अधिक करें इससे हेयर फॉलिकल्स मजबूत होते हैं। बालो के बढ़ने और मजबूत होने के लिए Protein, Vitamin A, Vitamin B COMPLEX, Vitamin C, Vitamin E, और Iron कि विशेष आवश्यकता होती है, इसलिए आहार में ऐसे अन्न का समावेश होना जरुरी है जिनमे इन सभी आहार पदार्थो कि प्रचुर मात्रा हो। 

रासायनिक उत्पाद का इस्तेमाल (Use of Chemical Products) – आजकल मार्किट में अनेको कंपनी के शैम्पू, हेयर आयल और कंडीशनर जैसी चीजों की भरमार है| बालो को झड़ने से रोकने के लिए मार्किट में अनेक प्रकार के हेयर आयल मौजूद है, लेकिन ये सभी प्रोडक्ट पूरी तरह से कैमिकल युक्त होते है| मार्किट में मौजूद अधिकतर Cosmetic products में हानिकारक तत्व होते है| रोजाना इन Cosmetic products का इस्तेमाल करने से, ये तत्व बालो की जड़ो को कमजोर बना देते है, जिससे बाल झड़ने लगते है|

ठीक है जब तक दलिया के एक कप और कुछ सूखे लैवेंडर फूल की प्रक्रिया. मिश्रण का एक मुट्ठी ले लो और एक मिश्रण के रूप में पानी की कुछ चम्मच जोड़ें. इसका उपयोग करने के लिए अपने चेहरे साफ़ और एक स्वच्छ और चिकनी त्वचा के नीचे.

वहाँ नुकसान भी महिला बाल, क्या पुरुष के रूप में, लेकिन क्योंकि के अंतर मात्रा खोना नहीं हार्मोन का स्तर महिलाओं के रूप में ज्यादा बाल. बालों के स्टाइल में अंतर महिलाओं महिला बालों के झड़ने छिपाने के लिए और अधिक पुरुषों की तुलना में प्रभावी रूप से अनुमति देते हैं. इसके अलावा, एक औरत भी उसके बालों के झड़ने लेकिन कभी कभी लगता है कि उसकी चोटी चोटी या पतली हो रही है नहीं देख सकते हैं. महिलाओं को भी पुरुषों की तुलना में बिना बाल की एक अलग तरीके की है.

लोग अब मार्केट में मौजूद उत्पादों पर कम भरोसा करते हैं क्योंकि इनमें होते हैं हानिकारक रसायन और दूसरे कठोर उत्पाद। अब वे प्राकृतिक रूप से पाए जाने वाले आयुर्वेदिक उपचारों का इस्तेमाल करना चाहते हैं। कई तरह की सामान्य समस्याओं के लिए भी अब प्राकृतिक उत्पादों को अपनाया जाता है।

TAGS:#beauty tips for hair in hindi # बाल झड़ने की दवा #how to stop hair fall in hindi #hair care in hindi #hair problem solution in hindi #beauty tips in hindi for hair #hair tips in hindi #hair care tips in hindi #hair treatment in hindi #नये बाल उगाने की दवा #बाल उगाने का तेल #gharelu nuskhe for hair in hindi #balo ka girna/jharna in hindi #baal jhad ka ilaj in hindi #बाल झड़ने की दवा आयुर्वेदिक

दोनों ही विधियां एलए के अंतर्गत की जाती हैं। एफ़यूई का एक बड़ा लाभ यह है कि यह प्रक्रिया के बाद सबसे कम दर्दनाक होती है तथा यह कोई धब्बा नहीं छोड़ती। इसका नुकसान यह है कि यह अपेक्षाकृत अधिक समय लेती है और अधिक सत्रों की आवश्यकता होती है। एफयूटी में, मरीज़ के सिर के पिछले हिस्से पर एक सिलाई होती है, जो धब्बे के अतिरिक्त चीरे के ठीक हो जाने के बाद भी महीनों तक असुविधा का कारण बनता है। एफ़यूई में, औसतन लगभग 1000 बाल प्रतिदिन किए जाते हैं जबकि एफयूटी में 2000 बाल तक प्रतिदिन किए जा सकते हैं। प्रायः एक दिन का एक सत्र लगभग 6 घंटे तक चलता है। लंच के लिए ब्रेक, टॉयलेट ब्रेक, आदि बिना किसी समस्या के किसी भी समय लिए जा सकते हैं। मरीज़ सत्र के बाद घर जा सकता है और आवश्यकता होने पर दूसरे सत्र के लिए अगले दिन पुनः आ सकता है। साधारणतया एफ़यूई, एफयूटी की तुलना में अधिक महंगा होता है क्योंकि सर्जन को अधिक समय देना पड़ता है।

अरण्डी- इसके बीजों के तेल के इस्तमाल से बालों का काला होना शुरू हो जाता है। सप्ताह में कम से कम दो बार अरण्डी का तेल बालों में अवश्य लगाना चाहिए। रात में तेल लगाकर सुबह इसे किसी शैम्पू से साफ किया जा सकता है।

स्थानीय संवेदनाहारी (दर्दनाक दवा) के तहत, एक छोटे से खोपड़ी (लगभग 1 सेमी चौड़ा और 30-35 सेंटीमीटर लंबा) उस क्षेत्र से हटा दिया जाता है जहां बहुत बाल होते हैं खोपड़ी का टुकड़ा एकल बाल या बाल के छोटे समूहों में बांटा गया है, जो उन क्षेत्रों पर बने हैं जहां बाल नहीं हैं।

आपको जानकर हैरानी होगी कि रोम के राजा जूलियस सीज़र ने भी अपने गंजेपन को दूर करने के लिए ना जाने कितने जतन किए थे. कहते हैं कि जब जूलियस सीज़र मिस्र की राजकुमारी क्लियोपेट्रा से मिले तो वो पूरी तरह गंजे थे. तब क्लियोपेट्रा ने सीज़र को गंजापन दूर करने का एक घरेलू नुस्खा बताया था.

दवा या तो 5% या 2% minoxidil शामिल हैं। कुछ सबूत बताते हैं कि मजबूत संस्करण (5%) अधिक प्रभावी है। अन्य सबूत ने दिखाया है कि यह 2% संस्करण से अधिक प्रभावी नहीं है। हालांकि, मजबूत संस्करण के कारण अधिक साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं, जैसे कि इसे लागू होने वाले क्षेत्र में सूखापन या खुजली

अन्य घरेलू उपाय: कई घरेलू और प्राकृतिक उपायों का बालों के झड़ने से रोकने में इस्तेमाल कर सकते हैं। ध्यान रहे कि इन विधियों का वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है और हो सकता है कि बालों के झड़ने को कम करने में ये आपकी कोई सहायता न कर पाएँ। ऐसे में शक होने पर हमेशा अपने चिकित्सक की सलाह लें।

शॉक-अचानक शारीरिक या भावनात्मक घटनाओं सदमे में शरीर रख सकते हैं, जो बालों के झड़ने का कारण बन सकती। अचानक उच्च बुखार, कठोर वजन घटाने, और एक प्यार करता था की मौत की घटनाओं है कि दोनों एक भावनात्मक और शारीरिक स्तर पर दर्दनाक हो सकता है के उदाहरण हैं।

कई महिलाओं को प्रसव के बाद बालों के झड़ने की समस्‍या होती है। ऐसा इसलिए होता है क्‍योंकि गर्भावस्‍था के दौरान महिला के शरीर में एस्‍ट्रोजन की मात्रा बहुत ज्‍यादा बढ़ जाती है। डिलीवरी के बाद शरीर सामान्‍य हो जाता है और इस परिवर्तन को झेल नहीं पाते हैं।

शिकाकाई एक अच्छा कंडीशनर और क्लेअंजर (cleanser) है। यह कई रूसी नाशक शैंपू की तैयारी में प्रयोग किया जाता है।  रीठा भी शिकाकाई की तरह समान गुण होने से कंडीशनर और क्लेअंजर के रूप में प्रयोग किया जाता है।  रीठा के प्र्योग से भी बाल चमकदार और रेशमी बनते हैं।

खुद के बालों को सेट करने के लिए आज पुरुष ट्रिमर की ओर आकर्षित हो रहा है। बियर्ड और मूंछ के बालों को सेट करने के लिए इसका बहुत ही ज्यादा इस्तेमाल किया जा रहा है। यह एक ऐसा उपकरण है जिसे सावधानी से कोई भी इस्तेमाल कर सकता है। इसे शरीर से अनचाहे बाल हटाने के लिए सुरक्षित और सस्ता तकनीक माना जाता है। एक बार खरीदने के बाद हमेशा बिना खर्चे के इसका इस्तेमाल किया जा सकता है।

हेयर स्टाइल टूल (Hairstyling Tool) – आजकल लोग फैशन के चलते अपने बालो पर एक से एक हेयर स्टाइल टूल का इस्तेमाल करते है| बालो को धुलने के बाद सुखाने के लिए हेयर ड्रायर का इस्तेमाल किया जाता है| बालो को सीधे करने के लिए Hair Straightener और घुंगराले करने के लिए Hair Curler का इस्तेमाल किया जाता है| इन हेयर स्टाइल टूल से बालो को सुखाना बहुत आसान होता है, लेकिन रिसर्च के अनुसार रोजाना ऐसा करना बालो के झड़ने का बड़ा कारण है| ये इलेक्ट्रॉनिक्स टूल बालो की जड़ो को धीरे धीरे कमजोर कर देते है, जिससे बाल कमजोर होकर झड़ने लगते है|

महिलाओं में एंड्रोजेनेटिक एलोपेसिया को फीमेल पैटर्न बाल्डनेस के नाम से भी जाना जाता है। इस समस्या से पीड़ित महिलाओं में पूरे सिर के बाल कम हो जाते हैं, लेकिन हेयरलाइन पीछे नहीं हटती। महिलाओं में एंड्रोजेनिक एलोपेसिया के कारण शायद ही कभी पूरी तरह गंजेपन की समस्या होती है। कुछ हर्बल नुस्खे और खान-पान के तरीके के अलावा दैनिक जीवन-शैली बालों की ग्रोथ में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।

बालों की झड़ने की समस्या के निदान के लिए आंवला सबसे अच्छे उपचार के रूप में काम करता है। क्योंकि इसमें विटामिन सी और एन्टी ऑक्सिडेंट्स (antioxidant) प्रचुर मात्रा में होते हैं। इसको इस्तेमाल तो कर ही सकते हैं साथ ही इसका नियमित रूप से सेवन करने पर भी लाभ मिलता है।

नारियल के दूध में वसा और प्रोटीन होता है। इससे बाल बढ़ते हैं और बालों का झड़ना रुकता है। तेज़ परिणामों के लिए नारियल के दूध को बालों में लगाएं। नारियल को किसे और इसे पानी की मदद से पीसें। इस पेस्ट से दूध निकालें और अपने सिर और बालों के अंत में इसे लगाएं। इसे 30 मिनट तक छोड़ दें और फिर बालों को धो लें। इससे वसा और प्रोटीन बालों में आसानी से समा जाएंगे।

दौनी की जड़ी बूटियों से तैयार किया हुआ यह रस, बालों के झड़ने को कम करने का एक बेहतरीन तरीका है । यह कोशिका विभाजन को उत्तेजित करता है और रक्त परिसंचरण को बढ़ाता है जिससे बालों को बढ़ने में मदद मिलती है । सामान मात्रा में शैम्पू और दौनी के तेल को लें और इससे बालों को धो लें । आप अपने खोपड़ी पर इस तेल से मालिश भी कर सकते हैं और फिर हलके शैम्पू से इसे धो लें ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *