“शाकाहारी |पुरुषों के लिए क्रीम”

शरीर से बाल हटाने के लिए ढेर सारे उपकरण हैं, उन्हीं में एक है लेजर। महंगे तकनीकों में से एक लेजर तकनीक एक ऐसा उपकरण है जिसके जरिए त्वचा पर एक विशेष प्रकार की लेजर किरणों को डाला जाता है, जिसकी गर्मी बाल उगाने वाले हेयर सेल्स को खत्म कर देती है। हमारे यहाँ ‘डायोड’ व ‘एनडी-याग’ लेज़र तकनीक का चलन अधिक है। लेजर हेयर रिमूवल तकनीक हाथ, पैर व अंडरआर्म्स के बालों को हटाने के लिए बेहद ही कारगर है। लेकिन ध्यान दें कि लेजर की एक से दूसरी सिटिंग के बीच लगभग 4 से 6 हफ्ते का अंतर होना चाहिए।

तुम भी दलिया और मकई भोजन के बराबर मात्रा में मिश्रण कर सकते हैं. कुछ कच्चे सूरजमुखी के बीज या कच्चे बादाम और लैवेंडर या नींबू के रूप में आवश्यक तेल की कुछ बूँदें जोड़ें. सभी अवयवों ब्लेंड जब तक वे एक समान निरंतरता तक पहुँचने. मिश्रण का एक मुट्ठी ले लो और पानी के साथ गठबंधन करने के लिए एक हाथ धोने के रूप में. इसके बाद, इसके साथ आपकी त्वचा छूटना.

यह एक चिपचिपा तेल है जिसकी गंध शायद आपको पसंद ना आए। पर ज़्यादातर लोगों का यह मानना है कि बालों को घना करने के लिए यह सबसे बेहतरीन तेल है। दूसरे तेलों के मुकाबले यह तेल चिपचिपा होता है जिससे कि बालों में अच्छे से लग जाता है और बालों का टूटना रोक देता है। इस तेल में फैटी एसिड एवं विटामिन इ के गुण होते हैं जो बालों को बढ़ाने में सहायता करते हैं। अगर आपको लगता है कि यह तेल ज़्यादा गाढ़ा और चिपचिपा है तो इसमें नारियल का तेल मिलाकर इसे गर्म करें। अब इसे बालों की जड़ों तक लगाएं। घने बाल पाने के लिए बालों पर गोलाकार मुद्रा में मालिश करें।

छूटना नहीं केवल कि मृत कोशिकाओं, गंदगी और शरीर स्राव होता है त्वचा की ऊपरी परत को समाप्त, लेकिन यह भी एक नया है कि त्वचा नरम और कोमल है पता चलता है. त्वचा से अशुद्धियों को दूर करके, विभाजन संक्रमित अंतर्वर्धित बाल pimples, त्वचा में संक्रमण और इतने पर जैसे समस्याओं से छुटकारा प्राप्त करने में सहायता करता है.

एक अन्य तरीके से भी समझाया जा सकता है बालों का सफेद होना जीन पर निर्भर है। कई बार जीन का प्रभाव पूरा नहीं होता। इस कारण बाल या तो कम सफेद या सफेद होते ही नहीं। किंतु जब जीन का प्रभाव होता है तो बाल सफेद हो जाते है। दूसरा मुख्य कारण थाइराइड ग्लैड है। युवाओं के शरीर में इस ग्रंथी (ग्लैड) की स्राव कमी या अधिकता बालों को सफेद बना देती है। दवाएं भी बालों की सफेदी के कारणों में से एक है। एक रिपोर्ट के मुताबिक एंटी मलेरिया दवा के प्रयोग से बाल समय से पहले सफेद हो जाते है। खाने में प्रोटीन या आयरन की कमी व विटामिन बी-12 की कमी से भी बाल सफेद हो जाते है। यंग ऐज में जैनेटिक एग्जिमा के कारण तथा आजकल एचआईवी व एड्स पीड़ितों में भी यह समस्या देखी जा रही है। परनीसियस अनीमिया से ब्लड बनाने वाले सेल बिगाड़ने के कारण भी कम उम्र में बाल सफेद हो जाते है।

आम तौर पर, बाल एक इंच के बारे में आधे के लिए हर महीने बढ़ता है। प्रत्येक बाल अप करने के लिए छह साल के लिए बढ़ता है, तो यह बढ़ बंद हो जाता है, थोड़ी देर के लिए टिकी हुई है, और अंत में बाहर हो जाता है और एक नया बाल कि छह साल के लिए बढ़ता द्वारा बदल दिया है। अपने बालों को सामान्य रूप से बढ़ रहा है, तो यह के बारे में 85 प्रतिशत किसी भी समय में बढ़ रहा है और इसके बारे में 15 प्रतिशत आराम कर रहा है।

नारियल आपके बालों के लिए कई फायदे हैं। यह न केवल बाल को बढ़ावा देने में बल्कि बसा खनिज और प्रोटीन की अधिकता की वजह से बाल टूटना को कम करता है बाल गिरने को रोकने के लिए नारियल के तेल या दूध का उपयोग कर सकते हैं।

बेसन को इस्‍तेमाल करने से त्‍वचा मुलायम होने के साथ ही बाल रहित भी होती है। इसके लिए थोड़े से बेसन में एक चुटकी हल्दी और पानी मिलाकर पैक बनाकर लगाएं और सूखने पर पानी से धो लें। इस पैक को आप रोज अपने चेहरे पर लगा सकते हैं। इसके अलावा थोड़ा सा बेसन, एक चुटकी हल्‍दी और थोड़ा सा सरसों का तेल डाल कर गाढा पेस्‍ट बनाकर चेहरे पर लगा कर रगडिये और इसे हफ्ते में दो दिन लगाइये। अनचाहे बालों से छुटकारा मिल जाएगा। image courtesy : gettyimages.in

# #home #remedies #for #baldness #cure #hair #alopecia #loss #fall #growth #regrowth #itchy #scalp #inflammation #treatment #controls #promote #removes #dandruff #tips #how #to #stop #balding #fast #promotes #regrow #grow #bald #head #haircare #remedy

आजकल लोगों का रहन-सहन और खान-पान इतना अनियमित होता जा रहा है कि आए दिन किसी न किसी नई बिमारी का नाम सुनने को मिलता ही रहता है। देखा जाए तो कहीं न कहीं, इसका सीधा संबंध हमारे खान-पान से भी होता है। शुद्ध और पौष्टिक भोजन की कमी से लोगों के स्वास्थ्य पर बहुत बुरा प्रभाव पड रहा है। इसका असर सबसे पहले व्यक्ति को, त्वचा और बालों पर ही देखने को मिलता है। इसीलिए आजकल बाल झड़ने की समस्या भी बेहद आम हो गई है।

ठीक उसी तरह हमारे बालों को भी इन्ही विटामिन (Vitamin), मिनरल्स (Minerals) और प्रोटीन (Protein) की आवश्यकता होती है जिससे हमारे बाल काले, लम्बे और घने रहते है. अगर हमारे बालों को विटामिन, मिनरल्स और प्रोटीन उचित मात्रा में न मिले तो हमारे बालों का झड़ना शुरू हो जाता है.

प्लान्टेशन के लिए, सर्जन को हेयरलाइन की अपीयरेंस निर्धारित करनी पड़ती है तथा फिर इसे खींचना पड़ता है। ट्रांसप्लांट करने के लिए नियोजित बालों की मात्रा, रोगी की उम्र, मूल बालों की अग्रिम हानि की संभावना, प्राकृतिक अपीयरेंस, नियोजित बालों का घनत्व, आदि वे सभी कारक हैं जिन पर विचार किए जाने की आवश्यकता होती है। हेयरलाइन की ड्राइंग विज्ञान से ज्यादा एक कला है।

नई दिल्ली : जिन महिलाओं के बाल लगातार झड़ते हैं, उनमें गैर-कैंसर वाले ट्यूमर का खतरा बना रहता है। यह ट्यूमर गर्भाशय की दीवारों के भीतर होता है। सेंट्रल सेंट्रीफ्यूगल सिकेट्रिशियल एलोपेसिया (सीसीसीए) वाली महिलाओं में गर्भाशय के अंदर ट्यूमर का जोखिम पांच गुना अधिक होता है। एक नए शोध में यह पता चला है।

अगर हम 25 वर्ष के उस व्यक्ति के अनुभव की बात करें जिसके माथे से बाल कम होते जा रहे थे, तो उसे उसके बालों के भाग पर इंजेक्शन (injection) का उपचार प्रदान किया गया, जिससे 6 महीने में उसे अच्छे परिणाम दिखना शुरू हो गया। 6 महीनों के बाद जो प्रभाव उसे अपने बालों में दिखा, वह काफी बेहतरीन था। असल में अगर हम किसी बड़ी क्लिनिक से स्टेम सेल की पद्दति का प्रयोग करने वाले लोगों के अनुभव की बात करें, तो इनमें से ज़्यादातर लोगों का अनुभव खुशगवार ही रहा है।

किसी भी प्रभाव को देखा जाने से पहले इसे आमतौर पर फाइनस्टेराइड का उपयोग करने में लगातार तीन से छह महीने लगते हैं। अगर उपचार रोक दिया जाता है तो बाल्डिंग प्रक्रिया आमतौर पर छह से 12 महीनों के भीतर शुरू होती है।

तुम्हें पता है कि हो सकता है कि अंडे प्रोटीन में उच्च रहे हैं। उन्होंने यह भी ए, बी कॉम्प्लेक्स, विटामिन ई आदि जैसे विटामिन में उच्च रहे हैं इतना ही नहीं हैं कि खनिज सल्फर जो नए बाल कूप के विस्फोट को प्रोत्साहित करने में मदद करता है में अमीर अंडे। जस्ता, सेलेनियम, लोहा, फास्फोरस आदि जैसे खनिज इस प्रकार इन सभी बाल गिरने नियंत्रण और अच्छा बाल विकास में परिणाम होगा भी अंडे में अधिक हैं। खनिज, विटामिन आदि बाल विकास के लिए बहुत महत्वपूर्ण यही कारण है कि डॉक्टरों की सलाह हमें प्रोटीन और हरी पत्तेदार सब्जियों की पर्याप्त राशि लेने के लिए जब हम बाल गिर जाते हैं, बालों के झड़ने और बाल भंगुरता का सामना कर रहे होंगे।

2. पुरुषों में बाल झड़ने की समस्या जेनेटिक मतलब अनुवांशिक भी होती है। क्यूंकि ये समस्या परिवार के इतिहास से जुड़ी है इसलिए इसके इलाज में जादा कुछ नहीं कर सकते। अच्छा आहार और स्वस्थ जीवनशैली अपना कर बाल झड़ना और गंजेपन की संभावना को कम किया जा सकता है।

चीनी प्राचीन सूत्र के अनुसार निर्मित है। SUNBURST तरल पौष्टिक बाल चीनी प्राचीन सूत्र के अनुसार कीमती हर्बल दवाओं का बना है। यह ginseng, मूलांक salviae militiorrhizae, angelica sinensis और खारा cistanche आदि शामिल हैं। उत्पादन की प्रक्रिया अनिवार्य जड़ी बूटियों से निकालने के लिए नवीनतम प्रौद्योगिकी को रोजगार और बेहतर प्रभावशीलता की गारंटी करने के लिए एक अप-वर्गीकृत सूत्र को गोद ले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *