“सनैटिक्स बाल विकास लेजर समीक्षा +सर्जरी या बीमारी के बाद बालों के झड़ने को बढ़ावा देने”

मैं कैसे पुरुषों में बालों के झड़ने को रोकने के लिए के बारे में बात करने जा रहा हूँ. पुरुषों में बालों का झड़ना एक बहुत ही मनोवैज्ञानिक तौर पर परेशान मुद्दा यह है कि अधिकांश पुरुषों उनके 20s में कुछ समय का सामना करना पड़ता है, 30रों, और 40. शुक्र है वहाँ कई बालों के झड़ने के उपचार के लिए उपचार उपलब्ध हैं.

निर्देश: एक प्याज बारीक काट लें और रस बाहर निचोड़। के बारे में 15 मिनट के लिए अपने खोपड़ी के रस लागू करें और फिर धीरे से धोएं। वैकल्पिक रूप से, कई लहसुन लौंग को कुचलने और नारियल तेल में से एक चम्मच के साथ मिश्रण। बस कुछ ही मिनटों के लिए इस उबालें और धीरे हलचल। बाद मिश्रण ठंडा, एक सौम्य मालिश गति के साथ आपकी खोपड़ी को लागू करना होगा। अधिकतम परिणाम के लिए इन उपचार एक सप्ताह में दो से तीन बार दोहराएँ।

#HomeRemediesForBaldness #CureHairBaldness # #CureAlopecia #HairLoss #Baldness #Hair #HairFall #HairGrowth #HairRegrowth #ItchyScalp #Inflammation #HairLossTreatment #ControlsHairFall #Scalp #PromoteHairRegrowth #HairFallTreatment #RemovesDandruff #CureHairLoss #HairFallTips #HowToStopHairFall #Balding #FastHairGrowth #PromotesHairRegrowth #HowToRegrowHair #HowToGrowHairFast #BaldHead #HaircareTips #HomeRemedyForHairLoss

भारत में नी रिप्लेसमेंट सर्जरी की प्रक्रिया काफी प्रचलित हो गई है, लेकिन आप कैसे जानेंगे कि आपको वाकई नी रिप्लेसमेंट सर्जरी की जरूरत है? क्योंकि नी रिप्लेसमेंट से कई जोखिम भी जुड़े होते हैं, जानें इसके बारे में कुछ जरूरी बातें।..

अब तो बाजार में ऐसे क्रीम भी आने लगे हैं जिसके जरिए बाल को आसानी से हटाया जा सकता है। क्रीम, शरीर से बाल हटाने का एक ऐसा तरीका है जिससे दर्द भी नहीं होता और आपको आराम भी मिलता है। एक्सपर्ट द्वारा जांचे हुए प्रोडक्ट को इस्तेमाल करके आप उस प्रोडक्ट को वांछित जगह पर लगाएं। बाल जड़ से गायब हो जाएंगे। हेयर रेमूविंग क्रीम बाल साफ करने का एक अच्छा और बेहतर विकल्प साबित हो रहा है। बाजार में गीली व सूखी दोनों ही तरह के क्रीम उपलब्ध है।

कुल मिलाकर ये कहें कि गंजे होकर मर्द विकास की राह में तेज़ी से आगे बढ़ते हैं तो ग़लत नहीं होगा. उन्हें अच्छी गर्लफ्रैंड मिलने में गंजापन मददगार हो सकता है. तो अब गंजापन दूर करने के लिए कबूतर की बीट लगाना छोड़ दीजिए. गंजे भी स्मार्ट होते हैं.

होमियोपैथी गोलियां जो बाल के शुरुआती नुकसान, ग्रेइंग, बच्चे के जन्म के कारण हानि, लंबी बीमारी, मानसिक परिश्रम के वजह से बाल झड़ने का इलाज करती हैं। इसमें बडीगा 3x, आर्सेनिकम अल्ब 3x, नैट्रियम मूर 3x, कैलेक्वेरा फोस्फ 3x, एसिडम फोस्फ 3x, एसिडम फ्लोर 3x शामिल है

जोशुआ जीचनर (Joshua Zeichner), न्यूयॉर्क के माउंट सिनाई अस्पताल में त्वचाविज्ञान में कॉस्मेटिक और क्लीनिकल रिसर्च की निदेशक कहती हैं ” अगर आपके बाल लंबे हैं और आप उन्हें बांधते भी हैं तो इससे सर की त्वचा पर तनाव बढ़ता है जो बालों को पतला या कमज़ोर करने का काम करता है। इस स्थिति को ट्रैक्शन एलोपेशीया (Traction Alopecia) भी कहते हैं जो बालों के झड़ने का एक कारण है।”

खानपान- बालों की सेहत के लिए विटामिन, बायोटीन, मिनरल व प्रोटीन युक्त भोजन के साथ साथ बादाम, मूंगफली, काजू, गोभी, अलसी आदि भी लेने चाहिए। आजकल के दौर में लाइफस्टाइल, अत्यधिक तनाव और लगातार केमिकल युक्त उत्पाद का इस्तेमाल बालों के झड़ने की समस्या को बढ़ाता है। बार-बार शैंपू का ऑयल बदलना भी इसका कारण होता है। इसके अलावा सिर की त्वचा का रुखा बना रहना और तेल की मालिश ना करना भी एक वजह हो सकती है।

गीले बालो / Wet hair को कपडे से आराम से सुखाए। गीले बालो में कंगी न करे। गीले बाल नाजुक होते है और आसानी से टूट या गिर सकते है। कंगी करने के लिए मोटे दातो वाला कंगा इस्तेमाल करे। बाल सुखाने के बाद बालो कि अच्छे से मसाज करे। नारियल तेल से मसाज करने से बालो कि जड़ो तक Blood circulation बढ़ता है और बाल बढ़ते और मजबूत होते है। 

हेयर ट्रांसप्लांट एक-बार का खर्च है। इसकी बिलकुल भी कोई अन्य रखरखाव लागत नहीं है और बाल किसी देखभाल की आवश्यकता के बिना आपके पूरे जीवन के दौरान बने रहेंगें। बाल आपको युवा एवं जवां अपीयरेंस प्रदान करते हैं तथा न सिर्फ सामाजिक रूप से बल्कि व्यक्ति के कैरियर में भी सहायता करते हैं। बाल बनाम गंजापन एवं बाल वाले अमरीकी राष्ट्रपतियों पर एक हाजिरजवाब लेख के लिए  यहाँ पढ़ेंएवं बाल वाले अमरीकी राष्ट्रपतियों। ट्रांसप्लांट न केवल आपके लुक को परिवर्तित करेगा बल्कि यह आपको अपेक्षाकृत अधिक आत्मविश्वास एवं क्षमता प्रदान करेगा; जैसा कि बहुत से शोध अध्ययनों से पता चला है कि लोगों में गंजे व्यक्तियों की तुलना में बाल वाले व्यक्तियों पर अधिक भरोसा करने की प्रवृत्ति होती है।

Hormonal Imbalance : शरीर में अचानक होनेवाले शारीरिक रसायन या Hormones के असामान्य बदलाव के कारण hair loss का प्रमाण बढ़ सकता है। महिलाओ में Thyroid Hormone कि कमी जिसे Hypothyroidism कहते है कि वजह से Hair loss होता है। महिलाओ में थकावट, बिना कारण वजन बढ़ना, उदासी, कमजोरी और त्वचा शुष्क होना जैसे लक्षण दिखाई देने पर Hypothyroidism के निदान हेतु डॉक्टर कि सलाह अनुसार Blood test ( Thyroid Profile ) करा लेना चाहिए। खून कि कमी (Anemia), Poly Cystic Ovarian Syndrome, Dandruff, Chemotherapy और Auto Immune Disorder इन कारणो से Hair loss अधिक होता है।   

नई दिल्ली: जिन महिलाओं के बाल लगातार झड़ते हैं, उनमें गैर-कैंसर वाले ट्यूमर का खतरा बना रहता है। यह ट्यूमर गर्भाशय की दीवारों के भीतर होता है। सेंट्रल सेंट्रीफ्यूगल सिकेट्रिशियल एलोपेसिया (सीसीसीए) वाली महिलाओं में गर्भाशय के अंदर ट्यूमर का जोखिम पांच गुना अधिक होता है।

प्रोटीन उपचार बालों की देखभाल के लिए एक प्राथमिक चरण होता है। तो यदि आप मजबूत और चमकदार बाल चाहते हैं, तो बालों को एक सप्ताह में तीन से चार बार प्रोटीन उपचार दें। इसके लिए बस आपको एक कच्चे अंडे को तोड़कर गीले बालों पर लगाना है और पंद्रह मिनट के बाद गुनगुने पानी से धो देना है।

Herbal in Hindi Healthy Diets in Hindi Healthy Drinks in Hindi Disease Treatment in Hindi Skin Care in Hindi Hair Care बालो की देखभाल Ayurvedic Fruits Stay Healthy Beauty Care Yoga Exercise in Hindi Diabetes Treatment in Hindi Amazing Facts Ayurvedic Vegetables Weight Loss in Hindi Cancer Treatment in Hindi Heart Health Tips in Hindi Spices in Hindi Joint Pain – Arthritis in Hindi Nuskhe In Hindi Cold – Cough Kids Care Female Problems Solutions Gas Acidity in Hindi Kidney Treatment in Hindi Asthma Treatment in Hindi Piles Treatment Liver Care Skin Disease Treatment Teeth Care in Hindi Male Problems Solutions TB Disease Treatment Depression Treatment in Hindi Hepatitis – Jaundice Treatment

गंजेपन की समस्‍या लगातार बढ़ रही है। इसके लिए सबसे अधिक जिम्‍मेदार हमारी अनियमित जीवनशैली, खानपान में पौष्टिक तत्‍वों की कमी, प्रदूषण, आनुवांशिक, आदि हैं। बालों को दोबारा उगाने के लिए सर्जरी के अलावा घरेलू नुस्‍खे बहुत कारगर हैं। लेकिन अगर घरेलू नुस्‍खों और कुछ औषधियों को प्रयोग करके घर पर ही पेस्‍ट बनाकर गंजे हो चुके सिर पर लगायें तो दोबारा बाल उग सकते हैं। इसके लिए बराबर मात्रा में अरंडी और नारियल का तेल लें, इसे मिलाकर अपने सर में मसाज करें। मसाज के बाद गरम पानी में तौलिये को गीलाकर सर में बांध दें, इसे 3 से 5 मिनट तक बंधा रहने दें। तौलिया हटाने के बाद अपने सर को एक मिनट तक ऊपर नीचें करें, यानी झटका दें। इससे ब्लड सर्कुलेशन बढ़ेगा और गंजेपन वाली जगहों में बाल दोबारा उगने में मदद मिलेगी। कैस्‍टर ऑयल बालों को मजबूती प्रदान करता है। ये बालों के झड़ने की समस्या का बेहतर समाधान है। तीन दिनों में एक बार ये तरीका जरूर आजमाएं। इसे सही तरीके से बनाने के लिए इस वीडियो को देखें।

एलोवेरा एक बहुत ही स्वास्थ्यवर्धक पौधा होता है और आयुर्वेद में इसका स्थान काफी ऊँचा माना जाता है. बालों के लिए भी यह एलोवेरा काफी फायदेमंद होता है. actualy एलोवेरा के पत्तो में जो जैल होता है वह बालों को काफी फायदा पहुंचाता है. इसके अलावा भी आप एलोवेरा के पाउडर का इस्तेमाल कर सकते है. इस पाउडर का पेस्ट बनाकर बालों में लगाने से बाल बहुत ही मजबूत हो जाते है.

महिलाओ में विशेष कर hair fall का प्रमुख कारण Hypothyroidism ही है। अगर आप Dandruff कि समस्या से परेशान है तो डॉक्टर से इसका इलाज करवाए। आप Dandruff से छुटकारा पाने के लिए अपने डॉक्टर कि सलाह अनुसार Ketoconazole युक्त shampoo का उपयोग हफ्ते में दो बार कर सकते है। 

हाल में हुए एक शोध में यह पाया गया है कि पल्मेट्टो नामक एक दवा के सेवन से लोगों में बालो का बढ़ना ज़्यादा होता है। जिन लोगों ने ४०० मिलीग्राम पल्मेट्टो तथा १०० मिलीग्राम बीटा साइटोस्टेरॉल रोज़ाना लिया उनके बालों में वृद्धि हुई। प्राचीन काल से पल्मेट्टो का प्रयोग बाल उगाने के लिए किया जाता है।

DISCLAIMER : इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी हमारी नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर: आयुर्वेदिक टिप्स पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

कुछ सब-कार्बनिक DHT ब्लॉकर्स भी उपलब्ध हैं, कोई डॉक्टर के पर्चे के साथ उनमें से अधिकांश. ये पर्चे दवाओं के लिए और अधिक सुरक्षित विकल्पों कि अपने प्राकृतिक टेस्टोस्टेरोन का स्तर के साथ हस्तक्षेप कर सकते हैं हो सकता है.

आपके बाल के स्वस्थ विकास के लिए एक फार्मूला चुनने के लिए यह कठिन हो सकता है, लेकिन जब यह रिफोलियम हेयर ग्रोथ सप्लीमेंट की बात आती है, तो आपको दो बार नहीं सोचना चाहिए क्योंकि यह सबसे अच्छा और सर्व-प्राकृतिक समाधान है जो निश्चित रूप से आपको 100% संतुष्टि के साथ अधिकतम संभव परिणाम प्रदान करें। उत्पाद का उपयोग करते समय आपको किसी भी संभावित प्रतिकूल प्रतिक्रियाओं या निराशा का सामना नहीं करना होगा।

गंजापन की स्थिति में सिर के बाल बहुत कम रह जाते हैं। गंजापन की मात्र कम या अधिक हो सकती है। गंजापन को एलोपेसिया भी कहते हैं। जब असामान्य रूप से बहुत तेजी से बाल झड़ने लगते हैं तो नये बाल उतनी तेजी से नहीं उग पाते या फिर वे पहले के बाल से अधिक पतले या कमजोर उगते हैं। इसके चलते बालों का कम होना या कम घना होना शुरू हो जाता है और ऐसी हालत में सचेत हो जाना चाहिए क्योंकि यह स्थिति गंजेपन की ओर जाती है।

गीले बालो (Wet hair) को कपडे सेआराम से सुखाए। गीले बालो में कंगी न करे। गीले बाल नाजुक होते है और आसानी से टूट या गिर सकते है। कंगी करने के लिए मोटे दातो वाला कंगा इस्तेमाल करे। बाल सुखाने के बाद बालो कि अच्छे से मसाज करे। नारियल तेल से मसाज करने से बालो कि जड़ो तक Blood circulation बढ़ता है और बाल बढ़ते और मजबूत होते है।

आयुर्वेद बाल धोने के बाद तेल लगाने की हिमायत करता है। महाभृंगराज या ब्रा±मी तेल से बालों को अच्छा पोषण मिलता है। इसमें त्रिफला होता है, जो बालों की सेहत के लिए अच्छा है। महाभृंगराज तेल से बालों का कालापन भी बढ़ता है, हालांकि यह सफेद बाल काले नहीं कर सकता।आयुर्वेद के मुताबिक हफ्ते में एक-दो बार तेल लगाकर अच्छी तरह सिर की मसाज करें। मसाज किसी भी तेल से कर सकते हैं लेकिन आंवला, ऑलिव, नारियल या तिल का तेल अच्छा है। रात भर तेल रखकर सुबह किसी अच्छे हर्बल शैंपू से बाल धो लें। इसके बाद एक लोशन लगाएं।

ये सब जानते है स्टेम सेल कोशिकाए से बालो के रोम का आसानी से विकास आरम्भ हो जायगा। यह आसानी से खोपड़ी में प्रत्यारोपित किया जा सकता है। जब बालो में रसायनों का उपयोग किया जाता है तो रोम प्रभावी ढंग से सिकुड़ जायेंगे और काम करना बंद कर देंगे। कोशिकाओ को चरण में भी खोपड़ी में लगाया जा सकता है । यहाँ तक की बालो के रोम गंजापन, बाल गिरने और बाल विकास की साथ लड़ने के लिए बढावा दे सकते है। स्टेम सेल चिकित्सा, यह महत्वपूर्ण है की बदती उम्र में शायद ही बालो के रोम हटाने से उनका विकास संभव हो।

प्रत्येक व्यक्ति काले और घने बालों की चाहत रखता है। बालों का असमय झड़ना किसी को अच्छा नहीं लगता। बाल झड़ने का सीधा असर खूबसूरती पर पड़ता है। कम बालों के कारण इंसान उम्र में भी अधिक लगता है। वर्तमान समय में यह समस्या बहुत तेज़ी से बढ़ रही है। एक अध्ययन के अनुसार, पुरुषों में बाल झड़ने की समस्या महिलाओं की तुलना में अधिक पायी जाती है। लेकिन बालों का झड़ना और पतला होना महिलाओं में भी कम नहीं है लेकिन इसके कारण ज़रूर भिन्न भिन्न हो सकते हैं। बालों का झड़ना रोका भी जा सकता है लेकिन इसके लिए ज़रूरी है सही कारण का पता होना। तो आइये जानते हैं कुछ ऐसे ही कारण जिनकी वजह आपके बाल झड़ रहे हैं। (और पढ़ें – बाल झड़ने से रोकने के घरेलू उपाय)

आयरन मेटाबोलिज्म : आयरन मेटाबोलिज्म में कमी भी बाल झड़ने का कारण बन सकती है। भले ही एनीमिया जैसी कोई समस्या न हो, फिर भी आयरन मेटाबोलिज्म में समस्यायें बाल झड़ने की समस्या को बढ़ा सकती हैं। उच्च कोलेस्ट्रॉल : उच्च कोलेस्ट्रॉल बाल झड़ने का एक महत्वपूर्ण कारण है। इसके चलते रक्त आपूर्ति कमजोर हो जाती है तथा यह सिर की त्वचा में बालों के पतले होने का कारण बनता है।

पुरुष पैटर्न गंजापन बालों के झड़ने का एक आनुवंशिक रूप है कि किसी भी उम्र में पुरुषों को प्रभावित कर सकते है. इसके अतिरिक्त यह भी कहा जाता है androgenetic खालित्य. यह राज्य पुरूष हार्मोन के लिए आनुवंशिक संवेदनशीलता के कारण होता है dihydrotestosterone (DHT). DHT टेस्टोस्टेरोन के एक सक्रिय मेटाबोलाइट है. टेस्टोस्टेरोन एंजाइम के साथ सूचना का आदान प्रदान जब 5 अल्फा रिडक्टेस, यह DHT का निर्माण करती है. इस रूपांतरण त्वचा में विशेष कोशिकाओं पर और वृषण में क्या होता है. DHT एक मजबूत संबंध शरीर में रिसेप्टर्स एण्ड्रोजन के लिए है और टेस्टोस्टेरोन की तुलना में कहीं अधिक शक्तिशाली है; इस कारण DHT पुरुष कामुकता में एक महत्वपूर्ण हार्मोन है.

उपयोग करने के लिए, कच्चे आंवले के जूस को एक गिलास पानी में मिलाएं और इसे रोजाना पिएं। वैकल्पिक रूप से, यदि आप अपने बालों के लिए मेहंदी का उपयोग करते हैं, तो उसमें कुछ आंवले का रस मिलाएं और बालों पर लगाएं। दो कप पानी में एक मुट्ठी भर सूखे आंवले को रात भर भिगो कर रखें। सुबह में छान कर उपयोग करें। आंवला को पीसकर और मेहंदी पाउडर में मिक्स करें। इसके अलावा, मोटी पेस्ट बनाने के लिए चार चम्मच नींबू का रस, कॉफी, दो कच्चे अंडे और पर्याप्त आंवला पानी को मिक्स करके पेस्ट बनाएं। इसे बालों पर लगाएं और इसे करीब दो घंटे बाद पानी से धोने से लें।

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेलू नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।

भ्रंगराज नाम है जड़ी बूटियों के राजा का जिसमें बालों की लंबाई बढ़ाने का बेहतरीन गुण है। लंबे बाल के उपाय, इसके पत्तों को धो कर पेस्ट बना लें। जिन्हें यह पत्तियाँ न मिलें वे आयुर्वेदिक दुकानों से इसका पाउडर ले सकते हैं। इसकी 5-6 चम्मच पाउडर को गर्म पानी में डालकर पेस्ट बना लें और फिर बालों में लगाकर 20 मिनट तक रखें।

नई दिल्ली: जिन महिलाओं के बाल लगातार झड़ते हैं, उनमें गैर-कैंसर वाले ट्यूमर का खतरा बना रहता है. यह ट्यूमर गर्भाशय की दीवारों के भीतर होता है. सेंट्रल सेंट्रीफ्यूगल सिकेट्रिशियल एलोपेसिया (सीसीसीए) वाली महिलाओं में गर्भाशय के अंदर ट्यूमर का जोखिम पांच गुना अधिक होता है. एक नए शोध में यह पता चला है. फाइब्रॉएड गर्भाशय की दीवार पर पाए जाने वाले चिकनी पेशी के ट्यूमर हैं. वे गर्भाशय की दीवार के भीतर ही विकसित हो सकते हैं या इसके साथ जुड़े हो सकते हैं.

बाल झड़ना आम बात परन्तु असमय बाल झड़ने की समस्या से अनेक लोग परेशान रहते है। बालों की देखभाल सही तरह से न की जाये तो बाल झड़ने शुरू हो जाते हैं। वर्त्तमान समय मे यह समस्या युवाओं में बहुत तेजी से बढ़ रही है। चाहे पुरूष हों या स्‍त्री, दोनों ही इसके शिकार बन गए हैं। बालों में उचित पोषण न मिलने के कारण वे समय से पहले ही झड़ने लगते हैं। हलाकि प्रतिदिन हमारे कुछ बाल तो गिरते ही है परन्तु जब इनकी संख्या अधिक हो जाये तो यह एक बीमारी बन जाती है। बालों के झड़ने के कई कारण हो सकते है, जैसे अतुलित आहार की कमी, बाल अनुवांशिक कारण आदि। इन सभी समस्याओं से बचने के लिए हम कुछ आसान घरेलु नुस्खों की मदद ले सकते है जिससे हम अपने झड़ते हुए बालों का इलाज घर पर करके उन्हें झड़ने से रोक सकते है। ये सभी घरेलु उपचार सरल तथा आसान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *