“हेयरइंडिंग के लिए बाल विकास क्रीम बालों के झड़ने के गंभीर तनाव”

दिनचर्या / Lifestyle: बालो कि ठीक से देखभाल न करना, लम्बे समय तक धुप और धूल-मिटटी वाली जगह पर रहना, अत्याधिक तनाव, अधूरी नींद और दौड़भाग वाली जिंदगी जैसे कारणो से हेयर लोस  होता है। बार-बार कंगी करना, अलग-अलग रंग या केमिकल  लगाना, कई तरह के तैल और शैम्पू  का उपयोग करते रहना इत्यादि कारणो से भी हेयर लोस  अधिक होता है।

4. बियर के साथ प्याज का रस मिलाकर लगाना भी काफी फायदेमंद है. सबसे पहले बालों को किसी अच्छे बियर शैंपू से धो लें और उसके बाद बालों में प्याज के रस से मसाज करें. इस उपाय से बालों को बढ़ने में मदद मिलेगी. साथ ही बालों में चमक भी बनी रहेगी.

अंडा बाल गिरावट को नियंत्रित करने और उत्तेजक नई hair.This के विकास के लिए सबसे अच्छा अंडा उपचार वह भी बाल किस्में के पतले होने में नहीं कर पाएगा में से एक है में अद्भुत है। इतना ही नहीं नींबू का रस भी सुस्ती का इलाज और चमक बाल की कमी होगी।

कई लोगों का मानना है कि बाल dryers और चिमटे नुकसान बाल पैदा कर सकता है महिला. यह मामला नहीं है. अधिक के इलाज और बाल रंग एक प्रतिकूल प्रभाव हो सकता है और यहाँ तक कि बालों के कारण हो सकता है इस खोपड़ी पास से तोड़ – लेकिन यह लंबे समय तक बालों को नुकसान नहीं पहुँचा सकता.

आज के दौर में स्वस्थ बाल होना एक वरदान के समान ही है। हममें से कई लोग बाल झड़ने की छोटी या बड़ी समस्या का शिकार हुए हैं। एक हद तक बालों का झड़ना आपको परेशान नहीं करता, पर अगर यह समस्या आपको गंजेपन की तरफ ले जाती है तो आपको कुछ कदम उठाने की आवश्यकता है।

 चिकित्सकीय बीमारी के लक्षणः बालों का झड़ना चिकित्सा बीमारी का लक्षण हो सकता है जैसे कि अवटुग्रंथि(थाइरॉयड) विकृति, सेक्स हार्मोन में असंतुलन या गंभीर पोषाहार समस्या विशेषकर प्रोटीन, लौह, जस्ता या बायोटीन की कमी। यह कमी खान-पान में परहेज करने वालों और जिन महिलाओं को मासिक धर्म में बहुत ज्यादा रक्त स्राव होता है उनमें यह आम है।

के साथ कम है कि इसे रोकने के लिए किया जा सकता है बालों के झड़ने के विरासत में मिला। डीएनए अनुक्रमण अपने शरीर के बालों के झड़ने और हद तक आप इसे से पीड़ित हो सकता निर्धारित करेगा। अधिकांश परिवारों कि एक आनुवंशिक हालत पिता, पुत्र, पौत्र के रूप में देखते हैं और इतने पर करने के लिए आसान हो जाएगा के रूप में बालों के झड़ने है बाल हानि के संकेत दिखा देंगे। यह भी परिवार में महिलाओं को प्रभावित कर सकते हैं।

हर व्यक्ति घने काले बालो कि चाहत रखता है। कोई नहीं चाहता कि बालो का असमय झड़ना / Hair loss कि वजह से वह 25 साल कि उम्र में 40 साल का दिखाई दे। कम उम्र में सिर के बालो का गिरना या hair loss होना बहुत tension देने वाली problem है। 

एक और सिद्धांत है इंगित करता है कि DHT प्रभावों कूप के साथ ही कूप खुद को DHT करने के लिए काफी संवेदनशील हो जाते हैं. प्रमुख सवाल यह है कि, जब कूप संवेदनशील हो जाएगा? वास्तव में क्या चर इस का कारण बन रहे हैं? समय जिस पर बाल कूप DHT के प्रति संवेदनशील हो जाते हैं एक पहेली बनी हुई है. यह बालों के झड़ने का सामना कर अपने सिस्टम में DHT की कम दर के लिए सामान्य के साथ रोगियों को देखने के लिए आश्चर्यजनक है, DHT का ऊंचा डिग्री के साथ अन्य रोगियों जबकि एक सिर के बाल से भरा है. यह दृढ़ता से इंगित करता है DHT की मात्रा बालों के झड़ने के लिए एक योगदान कारक पुरुष पैटर्न बालों के झड़ने के लिए आधार नहीं है, लेकिन बाल की संवेदनशीलता DHT के लिए खुद को रोम है.

भारत में सबसे सस्ता बाल प्रत्यारोपण उपचार करवाने के लिए एनआरआई बाल परत्यरोपण केंदर पंजाब सबसे अच्छा केंदर हैं , जहा के मुख्या चित्सक डा. मोहन सिंह की बाल प्रत्यारोपण तकनीक में तीन दशकों का अनुभव है | उपचार के लिए उन्नत किसम की मशीन जिन्हे खास तौर पर संक्रमण रहित बनाया गया है , उपयोग की जाती हैं |

जोशुआ जीचनर (Joshua Zeichner), न्यूयॉर्क के माउंट सिनाई अस्पताल में त्वचाविज्ञान में कॉस्मेटिक और क्लीनिकल रिसर्च की निदेशक कहती हैं ” अगर आपके बाल लंबे हैं और आप उन्हें बांधते भी हैं तो इससे सर की त्वचा पर तनाव बढ़ता है जो बालों को पतला या कमज़ोर करने का काम करता है। इस स्थिति को ट्रैक्शन एलोपेशीया (Traction Alopecia) भी कहते हैं जो बालों के झड़ने का एक कारण है।”

—-बालों को मजबूत बनाने और टूटने से बचाने के लिए आपको सप्ताह में कम से कम दो बार बालों की जड़ों में आंवला, बादाम, ऑलिव ऑयल, नारियल का तेल, सरसो का तेल इत्यादि में से कोई एक लगाना चाहिए। इससे बालों का झड़ना, बाल पतले होना, डैंड्रफ, दोमुंहे बाल व उम्र से पहले बालों का सफेद होने जैसी प्रॉब्लम्स से निपटा जा सकता है।

आज के समय में बालों का झड़ना आम समस्या हो गई है। जिसके कारण आप काफी चिंतित भी रहते है। कि इस समस्या से निजात कैसे पाया जाए। आज के समय में ये समस्या केवल महिलाओं को ही नहीं पुरुषों में भी तेजी से देखी जा रही है। जिसके कारण पुरुष इसके पीछे का कारण और ऐसे उपाय ढूढते है जिससे कि इस समस्या से निजात पा सकते है। कई लोग तो हेयर ट्रांसप्लांट करवाते है। जिससे उनके बाल दुबारा आ जाते है। इसमें अधिक खर्च भी होता है। जो कि आम आदमी से बहुत दूर है। आखिर पुरुषों के बाल क्यों गिरते है। इससे कैसे करें बचाव जानिए।

बालों को झड़ने से रोकने के घरेलू नुस्‍खों में सबसे पहला नुस्‍खा ऑयल है। ऑयल बालों का आहार है इसलिए हमें हफ्ते में दो से तीन बार बालों में तेल जरूर लगाना चाहिए। सिर की मसाज ब्‍लड सर्कुलेशन बढ़ाता है और बालों की जड़ों को मजबूत बनाता है। तो बालों को झड़ने से बचाने के लिए सिर की मालिश जरूर करें। बाल तनाव के कारण भी झड़ते हैं, और हैड मसाज से आप तुरंत रिलैक्‍स होगें। नारियल, बादाम और आंवले का तेल यह सभी मजबूत बालों के लिए जाने जाते हैं। इसलिए सिर की मसाज के लिए इसमें से कोई भी एक तेल इस्‍तेमाल करें। दूसरा नुस्‍खा हेयर पैक है। शिकाकाई पाउडर और दही लेकर उसे अच्‍छे से मिक्‍स कर लें और बालों की जड़ों में लगाये। 15 मिनट के बाद बालों को धो लें। तीसरा नुस्‍खा आहार है। अपने आहार में ओट्स को शमिल करें। ओट्स में आयरन, फाइबर, मिनरल, जिंक, ओमेगा-3, फैटी एसिड मौजूद होते हैं जो बालों को बढ़ता और  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *