“बालों को हटाने क्रीम नियमित रूप से समय |जालंधर में बालों के झड़ने की खुजली की खुराक”

बालों को झड़ने से रोकना कोई कठिन काम नहीं है बल्कि अगर उचित देखभाल, सावधानी और कुछ चीजो से परहेज किया जाये तो बालों का झड़ना बहुत ही कम हो जाता है. अगर आप उन लोगो में से है जिनके बाल झड़ना अभी शुरू हुआ है तो आप अभी से सावधानी बरतना आरम्भ करे और उचित उपाय अपनाये।

स्टेम सेल थेरेपी वास्तव में बहुत आसन प्रक्रिया है। यह काफी आसान है अगर आपके बाल कम झाड़ते है तो ये आसानी से दो सेशन में किया जा सकता है। पहली चिकित्सक द्वारा कुछ बालो के रोम बालो की जड़ से लिए जायेंगे और ये प्रक्रिया वह प्रयोगशाला में करेंगे। अगली प्रक्रिया में रोगी के रक्त को ध्यान से और पर्याप्त रूप से बाहर खीचा जायेगा। इस प्रक्रिया को भी centrifugation के रूप में जाना जाता है।

Hair growth के लिए High Protein Diet लेना बेहद जरुरी है। भारतीय आहार में protein कि मात्रा कम होती है। प्रचुर मात्रा में protein लेने के लिए सुबह नाश्ते में अंकुरित अन्न, मुंग, flax seeds, दूध, सोयाबीन लेना चाहिए। भारतीय खाने में दाल का समावेश हमेशा रहता है पर दाल को पतला बनाने कि जगह दाल गाढ़ी बनानी चाहिए। Snacks में fast food कि जगह पर भुने हुए मूंगफली या चना लेना चाहिए। रोटी बनाने के लिए गेहू के आटे में 1/4 हिस्सा सोयाबीन का आटा मिलाकर रोटी बनाना चाहिए।

महिला बाल झड़ने का भी संयुक्त राज्य अमेरिका के रूप में जाना स्त्री पैटर्न गंजापन, महिलाओं में से 4 के हर 1 या FPB प्रभाव. हाल के निष्कर्षों ने पाया है कि महिला बालों के झड़ने के लिए पुरुषों के लिए के रूप में महिलाओं के लिए के रूप में आम हो गया लगता है. ज्यादातर अक्सर, रजोनिवृत्ति स्पष्ट समय के लिए महिला बाल अक्सर होता है सबसे अधिक नुकसान हो गया है.

बालो का असमय झड़ना / Hair loss रोकने के लिए यह जरुरी है कि पहले आप पता करे कि ऊपर दिए गए कारणो में से किस कारण आपके बाल अधिक झड़ रहे है। जब तक मूल कारण का उपचार न किया जाए Hair loss रोकना कठिन कार्य है। Hair loss होने के मूल कारण का उपचार करने के साथ निचे दिए गए अन्य उपाय का उपयोग कर आप Hair loss का रोकथाम कर सकते है। 

शिकाकाई एक अच्छा कंडीशनर और क्लेअंजर (cleanser) है। यह कई रूसी नाशक शैंपू की तैयारी में प्रयोग किया जाता है।  रीठा भी शिकाकाई की तरह समान गुण होने से कंडीशनर और क्लेअंजर के रूप में प्रयोग किया जाता है।  रीठा के प्र्योग से भी बाल चमकदार और रेशमी बनते हैं।

हालांकि, यह सिद्ध नहीं हुआ है कि दीथ्रानोल क्रीम दीर्घ अवधि में काफी प्रभावी है। यह त्वचा की खुजली और स्केलिंग भी पैदा कर सकता है और खोपड़ी और बालों को दाग सकता है इन कारणों के लिए, डायथ्रानोल व्यापक रूप से उपयोग नहीं किया जाता है।

हल्‍दी एक बेहतरीन एंटीसेप्टिक होने के साथ ही अनचाहे बालों को भी दूर करती है। इसे लगाने से चेहरे पर बाल नही उगते और त्‍वचा की रंगत भी निखरती है। रोज पांच से दस मिनट हल्दी का लेप लगाएं। image courtesy : gettyimages.in

➤  अगर आपके बाल ज्यादा और हर जगह से झड़ चुके है तो प्याज के रस को निकालकर उसे अपने सिर में अच्छी तरह से लगाये, करीब 30 मिनट के बाद धो ले। इस प्रक्रिया को नियमित रूप से रोज महीना दो महीना तक करे, नये और काले बाल उगने लगेंगे।

प्याज़ के रस का प्रयोग: गंजेपन (alopecia areata) से प्रभावित व्यक्तियों में प्याज़ के रस के प्रयोग से बाल वापस आ सकते हैं, हालाँकि इसके लिए और वैज्ञानिक अनुसंधान की आवश्यकता है। 23 सहभागियों के एक छोटे से गुट पर, दिन में 2 बार, प्याज़ के रस को लगाने से 20 सहभागियों में छह सप्ताह में बाल वापस आ गए।[२८]

महिला हार्मोन चिकित्सा और बालों के झड़ने से रजोनिवृत्ति – बालों के झड़ने के कुछ कारणों में से एक महिला कूप एक नई विकास की रोकता सकता है आने से हार्मोनल उपचारों ऐसा है कि महिला हार्मोन के रूप में एक प्रोजेस्टेरोन. बालों के झड़ने और रजोनिवृत्ति और जुड़े हैं आमतौर पर महिलाओं में बाल thinning बड़े परिणाम में. रजोनिवृत्ति से पहले, महिलाओं के अनुभव बालों के बारे में 13 प्रतिशत thinning. रजोनिवृत्ति के बाद, समस्या की महिलाओं से बढ़ जाती है के बारे में 37 प्रतिशत करने के लिए रिपोर्टिंग.

बहरहाल, दुनिया में सबसे ज्यादा लोग गंजेपन से पीड़ित हैं। वो आंशिक हो या पूर्णत:, गंजेपन के शिकार लोग हर आयु वर्ग में हैं। ऐसे में ये दवा गंजेपन से छुटकारा दिलाने में क्रांति लाने की पूरी संभावना रखती है।

—-प्रदूषण से भी बालों की सेहत खराब होती है, जिसका नतीजा बालों के पतझड़ के रूप में सामने आता है। स्टाइल की मार, फैशन के चक्कर में लोग अपने बालों में कलरिंग, स्ट्रेटनिंग, रिबॉन्डिंग आयरनिंग आदि कराते रहते हैं। इनसे बाल खराब होते हैं और झड़ते भी हैं। इनसे बचना ही बेहतर है। आजकल कई कलर अमोनिया फ्री का दावा कर बेचे जा रहे हैं, लेकिन लगभग सभी तरह के हेयर कलर्स में लेड होता है, जिससे बाल खराब होते हैं और गिर जाते हैं। कैंसर, टीबी, टायफायड जैसी बीमारियों के दौरान भी बाल झड़ने लगते हैं, लेकिन बीमारी ठीक होने के बाद बालों की ग्रोथ सामान्य हो जाती है। कोलेस्टेरॉल घटाने वाली दवाएं, पाकिंüसन, ऑर्थराइटिस और अल्सर के इलाज में दी जाने वाली दवाएं विटामिन ए से बनी कुछ दवाएं, हाई ब्लडप्रेशर रोकने वाली बीटा ब्लॉकर दवाएं और एंटीथायरॉइड एजेंट्स की वजह से भी बाल झड़ने शुरू हो जाते हैं। हालांकि बीमारी ठीक होने पर ये बाल अक्सर दोबारा आ जाते हैं। आजकल लड़कियां खूब डाइटिंग करती हैं और इस दौरान उनके शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो जाती है। बिना डॉक्टरी सलाह के की जाने वाली डाइटिंग के फेर में सूखे बेजान बाल या बालों का झड़ना देखा जाता है। बालों को खींचकर बांधने से भी बाल कमजोर होकर टूटने या गिरने लगते हैं। इसके अलावा मौसमी बदलाव से भी बाल झड़ सकते हैं लेकिन ऎसा कुछ ही दिन के लिए होता है।

नीम- असमय बालों के पकने और बालों के झड़ने के क्रम को रोकने के लिए पातालकोट के आदिवासी नीम के बीजों से प्राप्त तेल को रात में सिर पर लगा लेते हैं और सुबह सिर को धो लिया करते हैं। माना जाता है कि नीम के बीजों का तेल बालों में एक माह तक लगातार इस्तेमाल करने से बालों का झड़ना रुक जाता है। डेंड्रफ होने पर 100 मिली नारियल तेल में नीम के बीजों का चूर्ण (20ग्राम) अच्छी तरह से मिलाकर सप्ताह में दो बार रात में मालिश की जाए तो आराम मिल जाता है।

प्‍याज आपके सफेद बालों को काला करने में मदद करता है। कुछ दिनों तक रोजाना नहाने से कुछ देर पहले अपने बालों में प्‍याज का पेस्‍ट लगायें। इससे आपके सफेद बाल तो काले होने शुरू हो ही जाएंगे, लेकिन साथ ही बालों का गिरना भी रुक जाएगा।

कुछ दवाओं के कारण भी बालों पर असर पड़ता है। इन दवाओं में ब्लड थिनर और ब्लड प्रेशर नियंत्रित करने वाली दवाएं प्रमुख हैं जिन्हें बीटा ब्लॉकर्स भी कहा जाता है। इनके अलावा कुछ अवसादरोधी दवाएं भी बाल झड़ने का बहुत बड़ा कारण हैं। (और पढ़ें – उच्च रक्तचाप के घरेलू उपचार)

बेसन को इस्‍तेमाल करने से त्‍वचा मुलायम होने के साथ ही बाल रहित भी होती है। इसके लिए थोड़े से बेसन में एक चुटकी हल्दी और पानी मिलाकर पैक बनाकर लगाएं और सूखने पर पानी से धो लें। इस पैक को आप रोज अपने चेहरे पर लगा सकते हैं। इसके अलावा थोड़ा सा बेसन, एक चुटकी हल्‍दी और थोड़ा सा सरसों का तेल डाल कर गाढा पेस्‍ट बनाकर चेहरे पर लगा कर रगडिये और इसे हफ्ते में दो दिन लगाइये। अनचाहे बालों से छुटकारा मिल जाएगा। image courtesy : gettyimages.in

पुरुषों के लिए बाल झड़ने के घरेलू उपाय की बात करें तो बेकिंग सोडा का इस्तेमाल बालों में करने से बालों की रुसी दूर हो जाती है। शेम्पू में बेकिंग सोडा मिलाकर नियमित रूप से इस्तेमाल करने से बालों की समस्या से निजात मिलती है।

Nota: Los trasplantes foliculares son ahora el estándar de oro en los tratamientos de la calvicie. Los trasplantes de cabello no son nuevos, sin embargo, los primeros que se realice allá por la década de 1950. En aquel entonces, no era folículos se trasplantan pero tiras enteras de cabello. Si usted está pensando en convertirse en un turista médico en el extranjero, es posible que desee estar bien informado antes de tomar cualquier decisión, y así asegurarte de terminar con ese procedimiento.

डब्ल्यूएचओ: दक्षिण फ्लोरिडा चिकित्सा विशेषज्ञ, मीडिया प्रवक्ता: बालों के झड़ने, डा. एलन Bauman (एमडी) पर प्रख्यात अधिकार, इस विषय पर साक्षात्कार के लिए उपलब्ध है. वह एक बोर्ड द्वारा प्रमाणित बाल बहाली सर्जन और उनके दक्षिण फ्लोरिडा क्लीनिक में नवीनतम अत्याधुनिक उपचार प्रदान करता है. वह पहले आज पर दिखाई दिया है, अर्ली दिखाओ, गुड मॉर्निंग अमेरिका, सीएनएन, पुरुषों की स्वास्थ्य, कॉस्मो, शोहरत, बीबीसी, आदि

CategoriesUncategorized

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *